BREAKING NEWS

विजय माल्या का प्रत्यर्पण जल्द होने की संभावना कम, ब्रिटेन सरकार ने कानूनी मुद्दे का दिया हवाला ◾मोदी-मॉरिसन ऑनलाइन शिखर बैठक के बाद भारत, ऑस्ट्रेलिया ने महत्वपूर्ण रक्षा समझौते किये ◾केंद्र ने 2200 से अधिक विदेशी जमातियों को किया ब्लैक लिस्ट, 10 साल तक भारत यात्रा पर रहेगा बैन◾दिल्ली बॉर्डर सील मामले में SC ने तीनों राज्यों को NCR में आवागमन के लिए कॉमन नीति बनाने के दिए निर्देश◾वर्चुअल समिट में PM मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने के लिए जाहिर की प्रतिबद्धता ◾राहुल के साथ बातचीत में राजीव बजाज ने कहा- लॉकडाउन से देश की अर्थव्यवस्था तबाह हो गई◾केरल में हथिनी की हत्या पर केंद्र गंभीर, जावड़ेकर बोले-दोषी को दी जाएगी कड़ी सजा◾कांग्रेस को मिल सकता है झटका,पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले AAP का दामन थाम सकते हैं सिद्धू ◾World Corona : दुनियाभर में करीब 4 लाख लोगों ने गंवाई जान, संक्रमितों का आंकड़ा 65 लाख के करीब ◾देश में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 2 लाख 17 हजार के करीब, अब तक 6000 से अधिक लोगों की मौत◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन आज वर्चुअल शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा◾US में वैश्विक महामारी का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 18 लाख के पार ◾लद्दाख सीमा पर कम हुआ तनाव, गलवान और चुसूल में दोनों देश की सेनाएं पीछे हटीं◾नोएडा में भूकंप के झटके हुए महसूस , रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.2 मापी गई◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, बीते 24 घंटों में 1513 नए मामले आये सामने ◾कोविड-19: अब तक 40 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई , 48.31 फीसदी मरीज स्वस्थ ◾महाराष्ट्र में 24 घंटे में कोरोना से 122 लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 74,860 हुई◾गृह मंत्रालय ने विदेशी कारोबारियों, स्वास्थ्यसेवा पेशेवरों और इंजीनियरों को भारत आने की अनुमति दी ◾केंद्रीय मंत्रिमंडल के फैसलों पर पीएम मोदी बोले - किसानों की आय में होगी वृद्धि, बंदिशें हुई खत्म◾गुजरात में फैक्टरी की भट्ठी में भीषण विस्फोट, पांच की मौत, 40 कर्मी झुलसे ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

उत्तर प्रदेश में डेंगू का कहर, अब तक 7598 लोग चपेट में

उत्तर प्रदेश में इन दिनों डेंगू का कहर जारी है। अब तक इसकी चपेट में 7598 लोग आ चुके हैं। लेकिन, अभी तक जिम्मेदार लोग इस पर ठोस कदम उठाने के बजाए टाल-मटोल में डटे हैं। राजधानी के ज्यादातर अस्पताल डेंगू के मरीजों से भरे हुए हैं।

सरकारी आकड़े में अभी तक प्रदेश में कुल 13 मौतें हुई हैं। स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़े के अनुसार, लखनऊ में छह, कानपुर में तीन, बराबंकी में दो, हरदोई एवं उन्नाव में एक-एक मरीज की मौत हो चुकी है। जबकि सच्चाई कुछ और ही है।

अभी आकड़ो में हेरा-फेरी हो रही है। डॉक्टरों का दावा है कि आमतौर पर डेंगू का प्रकोप अक्टूबर में कम होने लगता है। लेकिन इसके उलट नवम्बर में मरीजों की भरमार दिख रही है। पिछले साल जनवरी से 11 नवम्बर 2018 तक 3355 लोग डेंगू के चपेट में आ चुके हैं।

सरकारी और निजी अस्पतालों में कार्ड जांच से डेंगू मरीज की पहचान की जा रही है। लखनऊ में रोजाना 400 से अधिक मरीजों की जांच हो रही है। प्राइवेट अस्पतालों में भी डेंगू का इलाज चल रहा है। लेकिन सीएमओ वहां के मरीजों की संख्या नहीं बताते हैं। जनवरी से अब तक लखनऊ में डेंगू के करीब 1,541, कानपुर में 1,422, प्रयाग में 356, वाराणसी में 266 मरीज सामने आ चुके हैं।

राजधानी के बलरामपुर, सिविल, लोकबंधु, केजीएमयू जैसे अस्पताल के हर वार्ड में डेंगू मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा मात्रा में देखने को मिल रही है। मौत के मामले में लखनऊ पहले स्थान पर है।

अधिकारी एन्टी लार्वा छिड़कने का दावा भले ही कर रहे हों, लेकिन इस पर भी सवाल उठ रहे हैं। विभाग द्वारा डेंगू सम्बधित इलाके में एन्टी लार्वा छिड़काव के बावजूद भी वहां से डेंगू के मरीज निकल रहे हैं। इस कारण लोग सवाल खड़े कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक डॉ. पद्माकर सिंह का कहना है कि डेंगू पर काबू पाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। मरीजों के बेहतर इलाज के लिए हर अस्पताल में इंतजाम किए गए हैं।