BREAKING NEWS

पंजाब में नफरत का माहौल पैदा कर रही है कांग्रेस, गजेंद्र सिंह शेखावत ने EC से किया कार्रवाई का आग्रह◾बाबू सिंह कुशवाहा की पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे ओवैसी, UP की सत्ता में आने के बाद बनाएंगे 2 CM◾ पिता मुलायम सिंह यादव की कर्मभूमि से लड़ेंगे अखिलेश चुनाव, सपा का आधिकारिक ऐलान◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू, सेना ने रास्ते को किया सील ◾यदि BJP पणजी से किसी अच्छे उम्मीदवार को खड़ा करती है, तो चुनाव नहीं लड़ूंगा: उत्पल पर्रिकर ◾गोवा में BJP के लिए सिरदर्द बनेगा नेताओं का दर्द-ए-टिकट! अब पूर्व CM पार्सेकर छोड़ेंगे पार्टी◾ BSP ने जारी की दूसरे चरण के मतदान क्षेत्रों वाले 51 प्रत्याशियों की सूची, इन नामों पर लगी मोहर◾DM के साथ बैठक में बोले PM मोदी-आजादी के 75 साल बाद भी पीछे रह गए कई जिले◾पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा हुए कोरोना से संक्रमित, ट्वीट कर दी जानकारी ◾यूपी : गृहमंत्री शाह कैराना में करेंगे चुनाव प्रचार, काफी सुर्खियों में था यहां पलायन का मुद्दा ◾उत्तराखंड : टिकट नहीं मिलने से नाराज BJP नेताओं में असंतोष, पार्टी की एकजुटता तोड़ने की दी धमकी ◾मुंबई की 20 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग, 7 की मौत, 15 लोग घायल ◾UP में CM कैंडिडेट वाले बयान पर बोलीं प्रियंका-मैं चिढ़ गई थी, क्योंकि.....◾Today's Corona Update : 24 घंटे में 3.37 लाख से ज्यादा नए केस, 488 मरीजों की मौत ◾ UP विधानसभा चुनाव : बिजनौर और अमरोहा का दौरा कर पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र देंगे नड्डा◾Weather Update : दिल्ली में हल्की बारिश से बढ़ी ठिठुरन, ठंडी हवाओं के साथ लुढ़का पारा◾World Corona Update : 34.58 करोड़ के पार पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा, 55.8 लाख से ज्यादा लोगों की मौत◾ममता बनर्जी ने गोवा में गठबंधन के लिये सोनिया से किया था संपर्क - TMC◾कोरोना वायरस टीके की बूस्टर खुराक अब लोगों को दी जानी चाहिए - WHO◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी ; को-विन पोर्टल से कोई डेटा लीक नहीं हुआ है◾

बागपत में भावुक जयंत चौधरी ने किसानों से कहा- आपकी पगड़ी कभी झुकने नहीं दूंगा

बागपत के छपरौली में रविवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह की रस्म पगड़ी और श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। हवन से कार्यक्रम की शुरूआत की। रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी ने हवन में आहुतियां दी, उसके बाद मंच पर पहुंचकर सभा में उमड़ी भीड़ का अभिवादन स्वीकार किया। इसके बाद जयंत चौधरी को पगड़ी बांधी गई। 

इस बीच मंच से एलान किया गया कि आज से हमारे सेनापति जयंत चौधरी होंगे। इस अवसर पर भावुक हुए जयंत चौधरी ने कहा कि आपकी पगड़ी झूकने नहीं दूंगा। उम्‍मीद है कि जिस प्रकार जनता का आशीर्वाद पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह व पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह को मिलता रहा, वैसे ही आशीर्वाद मुझे भी मिलेगा।

पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार छपरौली के श्री विद्या मंदिर इंटर कालेज के मैदान में चौधरी अजित सिंह की श्रद्धांजलि सभा एवं रस्म पगड़ी कार्यक्रम के कार्यक्रम शुरू हो गया है। 11,15 बजे जयंत चौधरी हवन स्थल पर पहुंच गए थे। यहां उन्होंने हवन में आहुति दी। उन्होंने कार्यक्रम में पहुंचे लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। विभिन्न समाज और खाप के चौधरियों ने पहुंचकर अपने-अपने समाज की पगड़ी उनके सिर पर बांधी। मंच से एलान किया गया कि अब जयंत चौधरी हमारे सेनापति होंगे।

पगड़ी बंधते ही उमड़ी भीड़ ने चौधरी चरण व चौधरी अजित सिंह अमर रहें के नारे से पूरा छपरौली कस्बा गूंज गया। इस मौके पर जयंत चौधरी ने कहा कि आपकी पगड़ी झूकने नहीं दूंगा। जनता का सारा आशीर्वाद पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह व पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह को मिलता रहा, वैसे ही आशीर्वाद मुझे मिलेगा। हमेशा आपके बीच रहूंगा। जब भी मान सम्मान की बात आएगी, कभी झुकूंगा नहीं। किसानों की लड़ाई लड़ी जाएगी। 

भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने भी पहुंचकर चौधरी अजित सिंह को श्रद्धासुमन अर्पित किया। कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री सोमपाल शास्त्री, गठवाला खाप के चौधरी राजेंद्र सिंह, गुलाम मोहम्मद जोला, राजपूत समाज से पूरन सिंह, यूजीसी के पूर्व चेयरमैन वेद प्रकाश कार्यक्रम में हो गए शामिल।

रस्‍म पगड़ी और श्रद्धांजलि सभा के दौरान बनाए गए मंच पर चढ़ने के लिए कार्यकर्ता बेताब रहे। इधर-उधर से चढ़ने का प्रयास करते रहे। कार्यकर्ताओं को व्यवस्था बनाने में मशक्कत करनी पड़ी। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे है। वाहनों का काफिला और पैदल आने वाले लोगों का सिलसिला जारी रहा। भारी संख्या में पहुंची भीड़ के कारण छपरौली कस्बा थम सा गया। सभी मार्गों पर जाम लगा रहा।

रस्म पगड़ी कार्यक्रम में उमड़ी भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस और प्रशासन अलर्ट रहा। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया हुआ है। ट्रैफिक को नियंत्रित करने के लिए रूठ भी डायवर्ट किया गया था, ताकि अन्य लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़ा।