BREAKING NEWS

'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾क्या कमर तोड़ महंगाई से अब मिलेगाी निजात? दूसरी तिमाही में 8.4% रही GDP ग्रोथ ◾उमर अब्दुल्ला का BJP पर आरोप, बोले- सरकार ने NC की कमजोरी का फायदा उठाकर J&K से धारा 370 हटाई◾LAC पर तैनात किए गए 4 इजरायली हेरॉन ड्रोन, अब चीन की हर हरकत पर होगी भारतीय सेना की नजर ◾Omicron वेरिएंट को लेकर दिल्ली सरकार हुई सतर्क, सीएम केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी◾NIA की हिरासत मेरे जीवन का सबसे ‘दर्दनाक समय’, मैं अब भी सदमे में हूं : सचिन वाजे ◾भाजपा की चिंता बढ़ा सकता है ममता का मुंबई दौरा, शरद पवार संग बैठक के अलावा ये है दीदी का प्लान ◾ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे पर गृह मंत्रालय का एक्शन - कोविड प्रोटोकॉल गाइडलाइन्स 31 दिसंबर तक बढा़ई ◾निलंबन वापसी पर केंद्र करेगी विपक्ष से बात, विधायी कामकाज कल तक टालने का रखा गया प्रस्ताव, जानें वजह ◾राहुल के ट्वीट पर पीयूष गोयल ने निशाना साधते हुए पूछा तीखा सवाल, खड़गे द्वारा लगाए गए आरोपों की कड़ी निंदा की ◾कश्मीर में सामान्य स्थिति लाने के लिए बहाल करनी होगी धारा 370 : फारूक अब्दुल्ला◾स्वास्थ्य मंत्री मंडाविया ने बताया - भारत में अब तक ओमिक्रॉन वेरिएंट का कोई मामला नहीं मिला◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के लिए नेताओं के विवादित बयान ◾UP: विधानसभा Election को सियासी धार देने के लिए BJP करेगी छह चुनावी यात्राएं, ये वरिष्ठ नेता होंगे सम्मिलित ◾UP चुनाव को लेकर मायावती खेल रही जातिवाद का दांव, BJP पर लगाए मुसलमानों के उत्पीड़न जैसे कई आरोप ◾12 सांसदों के निलंबन पर राहुल का ट्वीट, 'किस बात की माफी, संसद में जनता की बात उठाने की' ◾ओमीक्रॉन को लेकर केंद्र ने अपनाया सख्त रवैया, सभी राज्यों को दिए जांच बढ़ाने समेत कई निर्देश, जानें क्या कहा ◾राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू ने ठुकराया 12 सांसदों का निलंबन रद्द करने का अनुरोध ◾

मायावती का विपक्ष पर तीखा हमला- BJP, कांग्रेस और AAP वोट के लिए जनता से कर रही हैं हवा हवाई वादे

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि पर बसपा ने आज चुनावी शंखनाद कर दिया है। पार्टी ने राजधानी लखनऊ में होने वाली श्रद्धांजलि सभा में राज्य भर से कार्यकर्ता बुलाए। इस दौरान बसपा प्रमुख ने कहा कि बीजेपी, सपा, कांग्रेस, आप वोट के लिए जनता से वादे कर रही हैं जो हवा हवाई है। उनमें रत्तीभर भी दम नहीं है। विरोधी पार्टियां चुनावी घोषणापत्रों में प्रलोभन भरे चुनावी वादे करने वाली हैं।

केंद्र और राज्य की जो भी योजनाएं चल रही हैं उन्हें बदले की भावना से रोका नहीं जाएगा

मायावती ने कहा कि हमारी सरकार बनने पर इस बार सबसे ज़्यादा जोर यहां के गरीब और बेरोज़गार नौजवानों को रोटी रोजी के साधन उपलब्ध कराने पर होगा। इसबार यही हमारी पार्टी का मुख्य चुनावी मुद्दा भी होगा। केंद्र और राज्य की जो भी योजनाएं चल रही हैं उन्हें बदले की भावना से रोका नहीं जाएगा।

चुनाव से 6 महीने पहले सभी सर्वे पर रोक लगे

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं चुनाव आयोग को पत्र लिखूंगी कि चुनाव से 6 महीने पहले सभी सर्वे पर रोक लगे ताकि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के जैसा न हो। मायावती ने कहा कि बीजेपी की मशीनरी अपने पक्ष में हवा बनाने की कोशिश कर रही है और इसके लिए वो हिन्दू-मुस्लिम को भड़काने की कोशिश करेगी।

बसपा यह दिखाना चाहती है कि उसका जनाधार अभी बरकरार है 

अभी हाल में पार्टी कार्यालय में हुए ब्राह्मण सम्मेलन में मायावती ने कार्यकर्ताओं से चुनावी तैयारियों में जुटने को कहा था, लेकिन यह सिर्फ एक वर्ग का सम्मेलन था। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बसपा की ओर से आज कांशीराम स्मारक स्थल पर होने वाली यह पहली बड़ी रैली हुई जिसमें समाज के हर वर्ग से जुड़े कार्यकर्ता शामिल हुए। विधानसभा चुनाव से पहले बसपा यह दिखाना चाहती है कि उसका जनाधार अभी बरकरार है और अब भी सबसे ज्यादा भीड़ इकट्ठा करने की क्षमता उसके ही पास है।

बसपा सभी वर्गों को साथ लेकर जरूर चल रही है

इसके जरिए पार्टी विपक्षी दलों के साथ ही दलितों को भी यह संदेश देगी कि बसपा सभी वर्गों को साथ लेकर जरूर चल रही है, लेकिन उसे अपने कोर दलित वोटर पर सबसे ज्यादा भरोसा है। बसपा के पदाधिकारी के अनुसार सभी जिलों से दो-दो बसों में कार्यकर्ताओं को लाने को कहा गया। लखनऊ के आसपास के जिलों में बसों की संख्या को बढ़ाने के लिए कहा गया । पार्टी महासचिव सतीश मिश्रा शुक्रवार देर रात तक तैयारियों पर नजर रखे हुए थे। उन्होंने बताया कि कांशीराम पुण्यतिथि पर इस बार मंडल स्तर पर कोई कार्यक्रम नहीं होगा। सिर्फ लखनऊ में सभा रखी गई है।

रैली की तैयारी के लिए कार्यकर्ताओं के लक्ष्य पहले ही तय कर दिए थे

ज्ञात हो कि बसपा प्रमुख मायावती ने नौ अक्टूबर को कांशीराम पुण्यतिथि के अवसर पर होने वाली रैली की तैयारी के लिए कार्यकर्ताओं के लक्ष्य पहले ही तय कर दिए थे। गौरतलब है कि ब्राह्मण सम्मेलन के दौरान बसपा प्रमुख मायावती ने एलान किया था कि इस बार 9 अक्टूबर को बसपा संस्थापक कांशीराम पुण्यतिथि का कार्यक्रम जिला और मंडल स्तर पर कोई पार्टी स्तरीय आयोजन नहीं होगा। इस बार प्रदेश भर का कार्यक्रम लखनऊ में आयोजित होगा।

लखीमपुर खीरी मामले में कानून अपना काम करेगा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा: नड्डा