BREAKING NEWS

Haryana: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर बोले- विदेशी निवेशकों की पहली पसंद बन रहा है हरियाणा◾Mother Dairy hikes Today: मदर डेयर दूध के भी बढ़े दाम, दो रूपये लीटर की हुई बढ़ोतरी, कल से होगा लागू◾खनन से प्रभावित लोगों की भलाई के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है मोदी सरकार, जानिए पूरी जानकारी ◾ट्रंप की संपत्ति से जुड़ी जानकारी छिपा रहा न्याय विभाग, जांच में नुकसान होने का दिया हवाला ◾Rajasthan: गहलोत का सचिन पायलट पर कटाक्ष, कहा- जुमला बन गया है कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान◾जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों की मौत पर राष्ट्रपति मुर्मू ने जताया दुख, घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना की ◾Ratan Tata Invests : वरिष्ठ नागरिकों के सहयोग के लिए स्टार्टअप गुडफेलोज में किया निवेश◾कश्मीरी पंडित की हत्या पर उमर अब्दुल्ला सहित कई राजनेताओं ने जताया दुख, जानिए क्या कहा? ◾Amul Milk Price Hiked: देश में महंगाई का कहर! अमूल मिल्क के बढ़े दाम, इतने लीटर महंगा हुआ दूध◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने की मुलाकात ◾नीतीश को घेरने के लिए बीजेपी आलाकमान ने बुलाई बैठक, बिहार इकाई के प्रमुख नेता होंगे शामिल ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾WPI मुद्रास्फीति घटकर 13.93 फीसदी, खाद्य वस्तुओं सहित विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बड़ी गिरावट ◾मुम्बई में बारिश को लेकर मौसम विभाग का बड़ा अलर्ट, 24 घंटे के अंदर होगी झमाझम बारिश ◾Bihar Politics : नीतीश मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार , तेज प्रताप समेत RJD से 16 मंत्री बने ◾गहलोत के अर्धसैनिक बलों के ट्रकों में 'अवैध धन' ले जानें वाले बयान पर बीजेपी का पलटवार, जानिए मामला◾NSE Phone Tapping Case : मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त की जमानत अर्जी पर ED को नोटिस जारी◾J-K News: जम्मू कश्मीर के पहलगाम में दर्दनाक हादसा, 39 जवानों की बस खाई में गिरी, 6 की मौत, जानें स्थिति ◾जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत, एक घायल◾बिहार : नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल के 31 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली, कांग्रेस नेता भी शामिल ◾

वापस जानें का सवाल नहीं... जल्द छोडूंगा BJP, जानें पार्टी में भूचाल लाने के बाद क्या होगा स्वामी का अगला कदम

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पूर्व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा देकर पार्टी में इस्तीफों की लाइन लगवा दी है। इस सियासी हड़कंप के बीच स्वामी प्रसाद मौर्य ने आज कहा कि वह शुक्रवार को अपने अगले कदम का खुलासा करेंगे और उन्होंने अभी तक "भाजपा नहीं छोड़ी है या समाजवादी पार्टी में शामिल नहीं हुए हैं।" इसके बावजूद बीजेपी पर निशाना साधा और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी में शामिल होने को लेकर भी कई तरह के विरोधाभासी बयान दिए।

मंत्री के रूप में दिया इस्तीफा, जल्द छोड़ दूंगा BJP :स्वामी मौर्य 

उन्होंने  दावा किया, "मेरे इस कदम से भाजपा में भूचाल आ गया है।" मौर्य के साथ चार विधायक पहले ही बाहर निकलने की घोषणा कर चुके हैं - रोशन लाल वर्मा, बृजेश प्रजापति, भगवती सागर और विनय शाक्य। मौर्य ने अपने अगले कदमों के बारे में सतर्क रहने की कोशिश की। मौर्य ने शुक्रवार को एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा, "मैंने केवल एक मंत्री के रूप में इस्तीफा दिया है। मैं जल्द ही भाजपा छोड़ दूंगा। अभी के लिए, मैं समाजवादी पार्टी में शामिल नहीं हो रहा हूं।"

14 जनवरी को समाजवादी पार्टी में होंगे शामिल 

उन्होंने कहा, "मैंने बीजेपी को खारिज कर दिया है..पीछे जाने का कोई सवाल ही नहीं है।" वहीं, मौर्य ने बताया, "मैं 14 जनवरी को समाजवादी पार्टी में शामिल होऊंगा। मुझे किसी छोटे या बड़े राजनेता का फोन नहीं आया है।" उन्होंने कहा, ''अखिलेश यादव ने मुझे बधाई दी।'' मैं आज और कल अपने लोगों से बात करूंगा। मैं अपने अगले राजनीतिक कदम का खुलासा 14 (शुक्रवार) को करूंगा। मैं आपको अपना फैसला भी बताऊंगा और मेरे साथ कौन आएगा।"

स्वामी मौर्य BJP के लिए ओबीसी मतदाताओं को लुभाने की थे कुंजी 

रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) नेताओं के पलायन से स्तब्ध भाजपा नेतृत्व ने योगी आदित्यनाथ के डिप्टी केशव प्रसाद मौर्य को बागियों को अपना विचार बदलने के लिए राजी करने का काम सौंपा है। 68 वर्षीय मौर्य, भाजपा के सबसे प्रमुख पिछड़े नेताओं में से एक थे और अखिलेश यादव के प्रतिवाद के रूप में, यूपी चुनाव में गैर-यादव ओबीसी मतदाताओं को लुभाने की पार्टी की रणनीति की कुंजी थे।

अमित शाह से मुलाकात कर CM योगी की कार्यशैली के बारे में की थी शिकायत 

स्वामी ने डिप्टी सीएम को लेकर कहा, "केशव मौर्य मेरे भाई हैं। लेकिन पिछले पांच वर्षों से वह भी असहाय हैं," मौर्य ने उपहास किया, जिसका अर्थ है कि वे दोनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ एक चट्टानी संबंध साझा करते हैं। मौर्य ने दो महीने पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी और कथित तौर पर योगी आदित्यनाथ की कार्यशैली के बारे में शिकायत की थी। लेकिन पार्टी ने कोई कार्रवाई नहीं की और दिल्ली से यूपी भेजी गई तीन सदस्यीय टीम रैंकों में नाराजगी को दूर करने में विफल रही।

UP में बदल रहा चुनावी माहौल, BJP में दूसरे दिन जारी गहन चिंतन का दौर, उम्मीदवारों के चयन पर हो रही चर्चा