BREAKING NEWS

'चौकीदार ही जासूस है' Pegasus पर खुलासे को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस◾यूपी : CM योगी ने 'हज हाउस' को लेकर SP पर साधा निशाना, 'कैलाश मानसरोवर भवन' के बारे में कही यह बात ◾NYT की रिपोर्ट में दावा, भारत ने इजरायल से डिफेंस डील में खरीदा था Pegasus◾बजट सत्र : संसद के दोनों सदनों में 31 जनवरी और 1 फरवरी को नहीं होगा शून्य काल◾अखिलेश को न कोरोना का टीका पसंद, न माथे का टीका : केशव प्रसाद मौर्य◾यूपी चुनाव : गृहमंत्री शाह और BJP अध्यक्ष समेत यह बड़े नेता करेंगे प्रचार, जानिए कौन किस जगह मांगेगा वोट ◾UP विधानसभा चुनाव : शाह-नड्डा के बाद अब PM भरेंगे हुंकार, 31 जनवरी को पहली वर्चुअल रैली◾देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमित 871 लोगों ने तोड़ा दम, नए मामलों में गिरावट◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामलों में जारी है वृद्धि, 36.94 करोड़ हुआ संक्रमितों का आंकड़ा ◾अखिलेश ने बीजेपी पर साधा निशाना - BJP से सावधान रहें, वोट की खातिर उसने कृषि कानून वापस लिए◾कांग्रेस का दावा - हम फिर से बनाएंगे सरकार◾बंगाल चुनाव बाद हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता की मौत मामले में CBI ने सात लोगों को किया गिरफ्तार ◾दिल्ली कोविड : बीते 24 घंटों में आए 4,044 नए मामले, कल के मुकाबले कम हुई मौतें ◾वी.अनंत नागेश्वरन ने संभाला देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद, आम बजट से पहले केंद्र सरकार ने किया ऐलान◾मिसाइल आपूर्ति करने वाले देशों के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हुआ भारत, इस देश को देगा शक्तिशाली ब्रह्मोस ◾मुजफ्फरनगर: साझा प्रेस वार्ता में अखिलेश और जयंत चौधरी ने दिखाई अपनी ताकत, जानिए क्या बोले दोनों नेता◾केस दर्ज होने के बाद श्वेता तिवारी ने मांगी माफी, तोड़-मरोड़कर दिखाया जा रहा बयान, जानें पूरा मामला◾यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾

राम मंदिर निर्माण का फैसला आने के बाद नव्य अयोध्या देखने को बेताब हैं लोग

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का फैसला आने के बाद से देश-दुनिया की निगाहें इसी पर टिकी हुई हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने इसे विकसित करने के लिए कई योजनाओं की घोषणाएं कर रखी हैं। भव्य मंदिर के निर्माण से पर्यटन को भी नई गति मिलने की पूरी उम्मीद है। वहीं दूसरी ओर, लोग नव्य अयोध्या देखने को भी बेताब हैं। 

यहां शनिवार को हनुमानगढ़ी क्षेत्र में श्रद्धालुओं का रेला 'जय श्रीराम' का उद्घोष करते हुए बढ़ा चला जा रहा था। दर्शन कर लौट रहे मुरादाबाद के श्रद्धालु रमेश दूबे ने कहा, 'वर्षो की साधना अब पूरी होने वाली है, यह सोचकर ही मन में प्रसन्न हो उठता है। अब रामलला टेंट से आजाद होंगे। ट्रस्ट को शीघ्र ही राम मंदिर निर्माण की तिथि घोषित करनी चाहिए।' 

दंतधावन कुंड तिराहे के दुकानदार शेरू ने कहा, 'लंबा संघर्ष हुआ है, अब बस मंदिर बन जाए, इसी बात की इच्छा है। मंदिर निर्माण में हम भरपूर सहयोग करेंगे। हमारा अयोध्या आना-जाना अक्सर लगा रहता है। मंदिर निर्माण के फैसले के बाद से भक्तों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। नया स्वरूप बनेगा तो और लोग भी आएंगे। इसीलिए उसका इंतजार कर रहे हैं।'

 

म्यांमार से आए श्रद्धालु धनाबालन ने कहा, 'अभी मीडिया में राम मंदिर की खबरें सुनते रहे हैं। जब निर्णय आ गया है तो इसे शीघ्र बनाया जाना चाहिए। मंदिर बनने के बाद आसपास के क्षेत्रों को विकसित किया जाएगा तो यह बेहतर होगा। यहां हम दोबारा दर्शन के लिए आएंगे।' 

महापौर ऋषिकेष उपाध्याय ने बताया, 'एक कन्सलटेंसी आई है, जो पूरे आयोध्या का सर्वे कर रही है। इसके बाद महा योजना बनेगी। फिर अयोध्या तीर्थ विकास परिषद का गठन होने वाला है। इसके अलावा कई करोड़ की योजनाओं पर काम चल रहा है। 

रामकी पौड़ी के कायाकल्प, एयरपोर्ट विस्तार व भगवान राम की 251 मीटर ऊंची प्रतिमा नव्य अयोध्या की चमक में चार-चांद लगाएगी। पौराणिक महत्व के कुंडों एवं हेरिटेज पार्क भी विकसित करने की तैयारी चल रही है। पर्यटन कई गुना बढ़ा है। पर्यटन की दृष्टि से यह काफी महत्वपूर्ण है।' 

राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय से जुड़े पर्यटन विशेषज्ञ आचार्य मनोज दिक्षित ने आईएएनएस को बताया, 'आने वाले लोगों की पर्यटकों व श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि होगी, क्योंकि अब मंदिर को लेकर तनाव खत्म हो गया है। अभी यहां पर विशेष काम होना बाकी है। यहां पर्यटन को बढ़ाने के लिए कई जमीनी स्तर के काम किए जाने की जरूरत है। अभी यहां पर मुख्य लिंक ज्यादा मजबूत नहीं है। अयोध्या को पूर्वाचल पथ से जोड़ा जाए।'

 

उन्होंने, 'अयोध्या-काशी फोर लेन यहां के पर्यटन के लिए काफी कारगर होगी। पर्यटकों के लिए कुछ नई ट्रेन चलाई जा सकती है। यहां पर कर्तनिया घाट से क्रूज चलाए जाने की बहुत ज्यादा संभावना है। आध्यात्मिक सांस्कृतिक के अलावा आर्थिक रूप से यहां का पर्यटन मजबूत हो सकता है।'