BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 30 अक्टूबर 2020 )◾आतंकवाद के खिलाफ जंग में भारत फ्रांस के साथ : PM मोदी◾PM मोदी आज से दो दिन के गुजरात दौरे पर, देश की पहली सी-प्लेन सेवा का करेंगे उद्घाटन◾CSK vs KKR ( IPL 2020 ) : रुतुराज और जडेजा ने चेन्नई सुपरकिंग्स को दिलाई जीत, मुंबई प्ले आफ में◾जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकी हमला, भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या◾कांग्रेस 31 अक्टूबर को मनाएगी ‘किसान अधिकार दिवस’, जिला मुख्यालयों पर देगी धरना◾नीतीश की दोहरी चुनौती : NDA के भीतर पार्टी को शीर्ष स्थान पर रखना, सत्ता बरकरार रखना◾एस जयशंकर ने यूनान के विदेश मंत्री डेंडियास से वार्ता की◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾बिहार में NDA गठबंधन की मजबूत सरकार बनेगी : रविशंकर प्रसाद ◾पाकिस्तान का कबूलनामा, मंत्री फवाद चौधरी ने कहा- पुलवामा हमला इमरान सरकार की बड़ी उपलब्धि◾राहुल को घेरे जाने पर कांग्रेस का पलटवार - बिहार चुनाव में हार तय देखकर BJP को याद आया पाकिस्तान◾सपा का बसपा पर जोरदार हमला , कहा - मायावती ने खुद ही खोली अपनी पोल◾केशुभाई पटेल के निधन पर राष्ट्रपति कोविंद ने जताया शोक, कहा - देश ने एक महान नेता खोया◾बंबई उच्च न्यायालय ने केंद्र से पूछा - क्या 'अत्यधिक' मीडिया रिपोर्टिंग से न्याय बाधित होता है ? ◾दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण रोकने के लिए नया कानून लागू - 1 करोड़ का जुर्माना, 5 साल की जेल◾फ्रांस: नीस के गिरिजाघर में आतंकी ने किया चाकू से हमला, कम से कम दो लोगों की ली जान◾मोदी कैबिनेट ने लिए 3 बड़े अहम फैसले, खाद्यान्नों की पैकिंग जूट की बोरी में करना हुआ अनिवार्य◾मुंगेर हिंसा: EC ने लिया एक्शन, हटाए गए जिले के डीएम और एसपी, 7 दिन के अंदर मांगी रिपोर्ट ◾भाजपा सांसद मनोज तिवारी के हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी की वजह से हुई इमरजेंसी लैंडिंग◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

राम मंदिर विवाद पर पूर्व CJI रंजन गोगोई ने कहा-किसी भी फैसले पर पहुंचना था बहुत मुश्किल

अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर फैसला सुनाने वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की पीठ की अध्यक्षता करने वाले भारत के तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा है कि इस मामलें पर फैसला सुनाना उनके लिए बेहद ही चुनौती पूर्ण रहा। 

उन्होंने कहा कि भूमि विवाद पर दोनों वकीलों के बीच तीखी बयानबाजी हुई और दोनों पक्षों ने जी-जान लगाकर अपने-अपने तर्क रखे। जस्टिस गोगोई ने यह बात पत्रकार माला दीक्षित की पुस्तक 'अयोध्या से अदालत तक भगवान श्रीराम' (सुप्रीम कोर्ट में 40 दिन सुनवाई के अनछुए पहलुओं की आंखों देखी दास्तान) पर वर्चुअल परिचर्चा में भेजे अपने संदेश में कही। 

जानकारी के लिए बता दें, 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने सर्वसम्मति से फैसले में अयोध्या की 2.77 एकड़ विवादित भूमि का अधिकार राम लला को सौंपा, राम लला विराजमान इस मामले में खुद एक पक्षकार थे। अदालत ने केंद्र को निर्देश दिया कि मस्जिद बनाने के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन दी जाए। जस्टिस गोगोई ने कहा कि अयोध्या मामला, भारत के कानूनी इतिहास में पूरी ताकत से लड़े गए मुकदमों में से एक था। इस केस का हमेशा ही एक विशेष स्थान रहेगा।

इस मामलें पर जस्टिस एस.आर. सिंह ने क्या कहा ?

जस्टिस एस.आर. सिंह ने कहा कि भगवान को भी न्याय पाने के लिए 70 साल का समय लग गया तो आम आदमी का क्या कहना। उन्होंने कहा, जब मैं वकील था तब मैंने जो केस दायर किए थे, वे अब भी चल रहे थे। इस पुस्तक को पढ़ने से आपको पता चलेगा कि अदालतों में देर क्यों होती है।