BREAKING NEWS

गाइड के कहने पर ताजमहल में पत्नी मेलानिया का हाथ थामकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की चहलकदमी◾कोर्ट ने उपमुख्यमंत्री सिसोदिया को क्लीनचिट देने वाली एटीआर की खारिज, नयी रिपोर्ट दाखिल करने के दिए निर्देश ◾राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सम्मान में आयोजित भोज में शामिल नहीं होंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने बांग्लादेश को 18 रन से हराया, लगातार दूसरी जीत दर्ज की ◾TOP 20 NEWS 24 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ताजमहल का दीदार करके दिल्ली पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾महाराष्ट्र : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे बोले- गठबंधन के भागीदारों के बीच कोई मतभेद नहीं◾जाफराबाद में CAA को लेकर पथराव, गाड़ियों में लगाई गई आग, एक पुलिसकर्मी की मौत◾मोटेरा स्टेडियम में दिखी ट्रंप और मोदी की दोस्ती, दोनों दिग्गज ने एक-दूसरे की तारीफ में पढ़ें कसीदे ◾दिल्ली के मौजपुर में लगातार दूसरे दिन CAA समर्थक एवं विरोधी समूहों के बीच झड़प ◾CM केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली◾ट्रम्प के स्वागत में अहमदाबाद तैयार, छाए भारत-अमेरिकी संबंधों वाले इश्तेहार◾दिल्ली और झारखंड में BJP विधानमंडल दल के नेता का आज होगा ऐलान ◾जाफराबाद में CAA को लेकर हुई पत्थरबाजी के बाद इलाके में तनाव, मेट्रो स्टेशन बंद◾Modi सरकार ने पद्म सम्मान के लिये ‘गुमनाम’ चेहरे खोजे : केंद्रीय मंत्री◾अब कुछ ही घंटो में भारत यात्रा के लिए अहमदाबाद पहुंचेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति Trump , मोदी को बताया दोस्त◾मेलानिया का स्वागत करके खुशी होती, हमने अमेरिकी दूतावास की चिंताओं का किया सम्मान : मनीष सिसोदिया◾Trump की भारत यात्रा से किसी महत्वपूर्ण परिणाम के सकारात्मक संकेत नहीं हैं : कांग्रेस◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.55 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद, जानिए ! पूरा कार्यक्रम◾अमेरिकी दूतावास की सफाई - स्कूल में मेलानिया के साथ CM केजरीवाल की मौजूदगी से कोई आपत्ति नहीं◾

पराली जलाने पर मुकदमे दर्ज किए जाने से किसान संगठनों में नाराजगी, करेंगे आंदोलन

पराली जलाने के मामले में नोटिस जारी कर जवाब तलब किया था। इस बीच, राष्‍ट्रीय किसान मंच के अध्‍यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि सरकार प्रदूषण के असल जिम्‍मेदार लोगों को नहीं पकड़ रही है। प्रदूषण केवल शहरों में ही होता है। दिल्ली जैसे महानगरों में वाहनों के जरिए रोजाना एक करोड़ लीटर पेट्रोल और डीजल के जलने, एअर कंडीशनर और जेनरेटर सेट चलने, बिजली संयंत्रों में उत्‍पादन और रबर, प्लास्टिक इत्‍यादि जलाने की गतिविधियां करीब 94 प्रतिशत प्रदूषण के लिए जिम्‍मेदार हैं। 

उन पर सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है जबकि किसानों को प्रताड़ित किया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि पराली जलाने पर उत्‍तर प्रदेश में करीब एक हजार किसानों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। ग्रामीण क्षेत्रों में जिन किसानों को गिरफ्तार किया गया है उनमें से ज्‍यादातर को तो पता ही नहीं है कि उन्‍होंने कुछ गलत भी किया है। 

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद सरकार ने किसान के रूप में सबसे कमजोर व्‍यक्ति को पकड़ लिया है। मगर जब ये घटनाएं बढ़ेंगी तो उसकी प्रतिक्रिया भी होगी, जो सरकार के लिए नुकसानदेह साबित होगी। राष्‍ट्रीय किसान मंच लामबंद होकर आंदोलन करेगा। 

दीक्षित ने कहा कि सरकार किसानों का उत्‍पीड़न करने के बजाय पराली को खेतों से पूरी तरह हटाने के लिए मशीन मुफ्त उपलब्‍ध कराए। सरकार जितनी तत्‍परता से किसानों के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर रही है, अगर वह उनकी समस्‍याओं पर भी उतनी ही मुस्‍तैदी से काम करे तो किसानों के दिन बहुर जाएं।