BREAKING NEWS

आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और सपा अपना गढ़ भी बचा नहीं पाएंगी : केशव प्रसाद मौर्य◾चीनी जहाज 'युआन वांग 5' के कप्तान का बड़ा दावा, कहा- शांति और मैत्री मिशन पर है यह जहाज ◾सीएम धामी ने लॉन्च की अग्निपथ योजना, 19 अगस्त को कोटद्वार में भर्ती रैली◾दिल्लीः कोरोना के मामलों में वृद्धि के बीच अस्पतालों में दो गुना बढ़ी मरीजों की संख्या, जानिए बैड्स का हाल ◾मुझे उन अधिकारियों की सूची दें जो भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की बात नहीं सुनते : योगी आदित्यनाथ ◾भारत के लिए प्रदूषण बना बड़ी चिंता! दिल्ली में हर साल हजारों की जाती है जान ◾जम्मू-कश्मीरः मुठभेड़ के बाद फरार आतंकवादियों की तलाश में जुटी पुलिस, हाई अलर्ट पर सुरक्षाबल ◾हिमाचल प्रदेश : कांग्रेस के दो विधायकों ने की भाजपा की सदस्यता ग्रहण, मुख्यमंत्री जयराम ने किया स्वागत◾थाईलैंड के विदेश मंत्री के साथ एस. जयशंकर ने की खास बातचीत, जानिए किन मुद्दों पर हुई चर्चा ◾दिल्ली में रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट देने का नहीं दिया कोई निर्देश : केंद्रीय गृह मंत्रालय ◾दिल्ली के बक्करवाला के अपार्टमेंट में भेजे जाएंगे रोहिंग्या शरणार्थी, पुलिस सुरक्षा भी कराई जाएगी मुहैया : हरदीप सिंह पुरी◾अब रोहिंग्या शरणार्थियों के पास होगा रहने का ठिकाना, केंद्र के फैसले पर AAP हमलावर, BJP नाखुश◾उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने किया ब्याज दरों में इजाफा, वरिष्ठ नागरिकों के लिए दर 0.50 प्रतिशत से बढ़कर 0.75◾MP मंत्री तुलसीराम की कार को ट्रक ने मारी टक्कर, बाल-बाल बचा परिवार ◾उत्तर प्रदेश की 10 हजार बेटियों को दी जाएगी 'Self Defense' की ट्रेनिंग : यूपी सरकार ◾राजस्थान : रामदेवरा मेले में आने लगे श्रद्धालु, 35 लाख से अधिक भक्तों के आने की उम्मीद◾बीजेपी ने पार्टी के संसदीय बोर्ड में किया बड़ा बदलाव, गडकरी और चौहान को हटाकर इन नोताओं को किया शामिल ◾गुजरातः चुनावों से पहले कांग्रेस के दो नेता भाजपा में शामिल, बीजेपी ने किया भगवा अंगवस्त्र और टोपियां देकर स्वागत ◾CM केजरीवाल ने की ‘मेक इंडिया नंबर 1’ अभियान की शुरुआत, कहा-इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं◾कचरा बनी बागमती, मानी जाती है नेपाल की सबसे पवित्र नदी ◾

कैराना में कायम रहा SP का जादू, BJP ने लगाई हार की हैट्रिक, जानें कैसा रहा 'MY फैक्टर' का असर

कैराना 2016 से राजनीतिक केंद्र बना हुआ है, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद हुकुम सिंह ने बस्ती से हिंदू प्रवास का आरोप लगाया था। इस बार कैराना ने रिकॉर्ड बनाया है। इस निर्वाचन क्षेत्र ने विजेता और हारने वाले दोनों के लिए हैट्रिक सुनिश्चित की है। समाजवादी पार्टी (सपा) के नाहिद हसन ने कैराना में सलाखों के पीछे से अपना तीसरा चुनाव जीता, जबकि भाजपा की मृगांका सिंह के लिए यह उनकी लगातार तीसरी हार थी। गुरुवार देर रात नाहिद हसन ने 26,333 मतों के अंतर से जीत हासिल की।

'पलायन' का मुद्दा इस बार भी रहा बेअसर 

नाहिद की बहन इकरा हसन ने कहा कि कैराना ने तथाकथित 'पलायन' वाली राजनीति को खारिज कर दिया है। भाजपा के लिए इस मुद्दे को हमेशा के लिए दफन करना बेहतर है। यह पिछली बार भी काम नहीं आया था, और न ही इस बार। वे इसे राजनीतिक रूप से भुनाने में विफल रहे। इकरा ने कहा कि भाजपा ने हमारे लिए चीजें जितना मुश्किल की, उतना ही कैराना के मतदाताओं ने उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया है। कैराना में दो परिवारों के हसन और सिंह के बीच वर्षों से राजनीतिक लड़ाई देखी जा रही है।

जानें कैसा रहा है 'हिंदू पलायन' का मुद्दा 

भाजपा नेता और कैराना से सांसद दिवंगत हुकुम सिंह ने 2016 में 'हिंदू पलायन' का मुद्दा उठाया था, जब उन्होंने '250 परिवारों' की एक सूची निकाली थी, जिनके बारे में उन्होंने दावा किया था कि वे खराब कानून व्यवस्था के कारण वहां से चले गए थे। इस मुद्दे ने राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया था और भाजपा ने 2017 में इसे चुनावी मुद्दा बनाया था जब हुकुम की बेटी मृगांका सिंह को इस सीट से मैदान में उतारा गया था। हालांकि उस समय बीजेपी ने राज्य में 325 सीटें जीती थीं, लेकिन मृगांका हसन से हार गईं।

हम 'आंदोलनकारी'... वो 'वोटकारी', BJP की प्रचंड जीत पर राकेश टिकैत ने केंद्र को दिलाई इस वादे की याद