BREAKING NEWS

ED दफ्तर पहुंचे राउत बोले-मैं बहुत निर्भय आदमी, जिंदगी में कभी नहीं किया गलत काम ◾Prophet Remarks Row: SC ने खारिज की नूपुर शर्मा की याचिका, कहा- TV पर मांगे देश से माफी! ◾मेरा मुख्यमंत्री बनना फडणवीस का ‘मास्टरस्ट्रोक’ : एकनाथ शिंदे◾Maharashtra: फ्लोर टेस्ट एक औपचारिकता... आसानी से होगी जीत, CM शिंदे ने 'मातोश्री' पर कही यह बात ◾पेट्रोल -डीजल और एटीएफ के निर्यात पर बढ़ा टैक्स ,घरेलू बाजारों पर कोई असर नहीं ◾PM मोदी ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं◾देशभर में आज से सिंगल-यूज प्लास्टिक पर बैन, रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाली ये 19 चीज़ें शामिल ◾बाला साहेब की विरासत का कौन होगा उत्तराधिकारी ? उद्धव ठाकरे या एकनाथ शिंदे किसका पलड़ा भारी ◾उदयपुर हत्याकांड को लेकर एक्शन में गहलोत सरकार, देर रात हटाए गए SP और IG◾CORONA UPDATE : देश में कोरोना के मामलो में हुई वृद्धि, 24 घंटे में सामने आए 17 हज़ार से अधिक केस ◾मनी लॉन्ड्रिंग : आज ED के सामने पेश होंगे संजय राउत, Tweet कर शिवसैनिकों से की ये अपील◾यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की यूरोपीय संघ की सदस्यता पर करेंगे घोषणा◾LPG Price Update : LPG कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में कटौती, 198 रुपए हुआ सस्ता◾आज का राशिफल ( 01 जुलाई 2022)◾प्रधानमंत्री मोदी 12 जुलाई को करेंगे देवघर हवाई अड्डे का उद्घाटन◾बीजेपी का खेला : शिवसेना को कमजोर करना चाहती है भाजपा, शिंदे को मुख्यमंत्री बना ‘क्षेत्रीय भावनाओं’ पर कब्जे की कोशिश◾जानिए ! देवेंद्र से पहले भी ये नेता CM रहने के बाद जूनियर पद कर चुके है स्वीकार , फडणवीस ऐसे करने वाले चौथे नेता◾उद्धव ठाकरे ने नये मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को दीं शुभकामनाएं ◾सतारा के रहने वाले महाराष्ट्र के चौथे सीएम हैं एकनाथ , शरद पवार ने शिंदे को दी बधाई ◾CM Swearing Ceremony : शीर्ष नेतृत्व के कहने पर देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी चीफ मिनिस्टर◾

विधानसभा में छलका शिवपाल का दर्द... अखिलेश पर जमकर साधा निशाना, CM योगी को लेकर कही यह बात

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh  Yadav) के चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly) में अपनी नाराजगी को खुले तौर पर साझा किया। शिवपाल ने कहा कि अखिलेश के नेतृत्व में सपा हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव जीत सकती थी अगर उन्होंने प्रसपा के 100 सदस्यों को टिकट दिया होता। इसके साथ ही शिवपाल ने  भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के नेता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफों के पुल बांधे।  

शिवपाल ने की सीएम योगी की सराहना साथ ही कसा तंज 

जब शिवपाल यादव ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को "ईमानदार और मेहनती" बताया, तब भाजपा विधायकों ने उनके बयान का स्वागत करते हुए अपनी मेजें थपथपाईं। बता दें कि शिवपाल का यह बयान इसलिए भी बहुत जरूरी हो जाता है क्योंकि हाल ही में उन्होंने विधानसभा में अपनी सीट बदलने का अनुरोध किया था, जिसका सीधा मतलब यही था कि वह अखिलेश के पीछे और सपा विधायकों के साथ नहीं बैठना चाहते।

बता दें कि शिवपाल सिंह यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ कि तारीफ के साथ-साथ उनपर तंज भी किया। शिवपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री विपक्ष के समर्थन से ही उत्तर प्रदेश को नई ऊंचाइयों पर लेजा सकते हैं।  उन्होंने कहा कि सीएम ने अगर कोरोना महामारी के वक्त सदन के सभी सदस्यों और अन्य लोगों का सहयोग लिया होता तो स्थिति को बेहतर तरीके से संभाला जा सकता था। शिवपाल यादव यही नहीं रुके उन्होंने भाजपा के नारे पर कटाक्ष करते हुए कहा पार्टी का नारा है सबका साथ, सबका विकास लेकिन यहां सबका साथ नहीं लिया जा रहा है। 

अखिलेश के लिए सामने आई शिवपाल की नाराजगी 

शिवपाल यादव ने विधानसभा में कहा कि, "अगर वे (अखिलेश) चुनाव में हमारा साथ ले लेते, तो आज सत्ता में होते विपक्ष में नहीं। मैं यह उदाहरण देना चाहता हूं। यह सच है कि मैंने एक पार्टी बनाई थी। मैंने दो साल पहले 100 उम्मीदवारों की घोषणा की थी। अगर उन्होंने हमारे 100 उम्मीदवारों को टिकट दिया होता, तो वे सत्ता में होते। लेकिन वे यहां बैठे हैं क्योंकि उन्होंने हमारी सलाह नहीं मानी।"

बताते चलें की एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में शिवपाल ने सपा की लाल टोपी पर भी तंज कसा है। उन्होंने कहा कि "लाल टोपी महज वेशभूषा का एक हिस्सा है, किसी को कुछ पसंद है किसी को कुछ। लेकिन समाजवाद विचारों से आता है, लाल टोपी लगाने से नहीं आता है। सबको काम करना चाहिए। लोहिया जी के सिद्धांतों-विचारों पर चलकर ही समाजवाद लाया जा सकता है।'' 

शिवपाल यादव का भतीजे अखिलेश से आमना-सामना

1996 से जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक शिवपाल यादव ने सपा छोड़ने के बाद 29 अगस्त 2018 को पीएसपी (एल) का गठन किया। अखिलेश यादव ने 16 दिसंबर 2021 को अपने चाचा से मिलने के बाद यूपी विधानसभा चुनाव के लिए सपा और पीएसपी (एल) के बीच गठबंधन की घोषणा की। शिवपाल यादव ने सपा के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए अपनी सीट बरकरार रखी, लेकिन पार्टी जीत सत्ता में वापसी करने में नाकाम रही। वहीं, भाजपा ने 403 सदस्यीय विधानसभा में 255 सीटें जीतकर लगातार दूसरी जीत हासिल की।