BREAKING NEWS

पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण का 97 साल की आयु में निधन, प्रधानमंत्री ने जताया शोक◾मोरबी पुल का संचालन करने वाली कंपनी के प्रबंध निदेशक ने अदालत के समक्ष किया आत्मसमर्पण , गिरफ्तार◾Rajasthan: विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी बोले- सदन में दिए जाने वाले उत्तर की अच्छे से पड़ताल करें मंत्री ◾आप सांसद संजय सिंह ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, कहा- 'अदाणी समूह के खिलाफ निष्पक्ष जांच का आदेश दिया जाए'◾आम बजट पर 12 फरवरी तक बीजेपी चलाएगी देशव्यापी अभियान, जानें इसके पीछे की वजह ◾ब्रिटेन में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ‘लाइफ टाइम अचीवमेंट ऑनर’ से सम्मानित किया गया◾अहमदाबाद में सीरियल ब्लास्ट की धमकी देने वाला व्यक्ति गिरफ्तार◾चिराग पासवान बोले- ‘इस्तेमाल करो और छोड़ो’ की प्रवृत्ति नीतीश कुमार की कार्य संस्कृति में शामिल◾कर्नाटक के चुनावी रण में AAP की एंट्री, सभी 224 सीटों पर उतारेगी उम्मीदवार ◾गुटखा पर प्रतिबंध हटाने के मद्रास हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ SC का रूख करेगी तमिलनाडु सरकार ◾गांधीनगर कोर्ट ने आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई, 2013 में दो बहनों ने दर्ज कराया था रेप केस ◾सिसोदिया ने LG सक्सेना को पत्र लिख शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए फिनलैंड भेजने के प्रस्ताव पर मंजूरी मांगी◾Budget session 2023 : राष्ट्रपति के अभिभाषण की 10 अहम बातें◾मोरबी पुल मामला: ओरेवा समूह के MD जयसुख पटेल ने कोर्ट में किया सरेंडर, जारी हुआ था अरेस्ट वारंट ◾Rajasthan: उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव, सदन में मचा कोहराम ◾राष्ट्रपति के भाषण पर मायावती की टिप्पणी, कहा- सांत्वना देने के लिहाज से बहुत कमतर रहा अभिभाषण◾ यूएई के अल मिन्हाद जिले का नाम बदलकर किया गया 'हिन्द सिटी', प्रवासी भारतीयों में ख़ुशी की लहर ◾आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी का बड़ा ऐलान, विशाखापट्टनम होगी राज्य की नई राजधानी◾SC ने धन शोधन मामले में राणा अय्यूब की याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा, PMLA कोर्ट से जारी समन को दी है चुनौती◾नब किशोर दास हत्याकांड : ASI गोपाल दास का मंत्री की हत्या का ‘‘साफ इरादा’’ था, FIR में खुलासा ◾

क्या मैनपुरी में शिवपाल उतारेंगे अपना उम्मीदवार? चाचा से मिलेगी भतीजे को चुनौती

सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद लोगों को लग रहा था कि उनके बेटे अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल यादव के बीच नजदीकियां आ गई थी। लेकिन अब जो बयान शिवपाल ने बीते दिन दिया है, उससे कुछ और ही बात सामने आ रही है। दरअसल, मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद उपचुनाव होने वाले है, जिस वजह से कहा जा रहा था कि चाचा भतीजे की जोड़ी मिलकर मुलायम के विरासत को बचाएगी। 

जानिए शिवपाल का बयान 

वही, अब बीते दिन गोरखपुर पहुंचे शिवपाल से मैनपुरी उपचुनाव को लेकर जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि 'प्रसपा नगर निकाय चुनाव के साथ ही नेता जी के निधन के बाद रिक्त हुई मैनपुरी सीट जीतने की हर सम्भव कोशिश करेगी। प्रसपा प्रदेश भर में नगर पंचायत और नगर निगम का चुनाव लड़ेगी।' शिवपाल के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं। लोगों के मन में ये सवाल भी उठ रहा कि क्या शिवपाल अलग से इस सीट पर उम्मीदवार उतारकर अखिलेश को चुनौती देंगे ?

बीजेपी देगी सपा को टक्कर 

बता दें, मैनपुरी में होने वाले उपचुनाव को लेकर सपा से लेकर बीजेपी तक में खलबली मची है। जबकि अखिलेश यादव इस सीट को हर हाल में बचाना चाहते है। बीते दिन अखिलेश सैफई गए थे, जहां उन्होंने परिवार के लोगों से प्रत्याशी के नाम पर काफी देर तक चर्चा की थी । सपा के राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव भी सैफई पहुंच गए थे। अखिलेश यादव ने रामगोपाल के घर जाकर लगभग डेढ़ घंटे मैनपुरी उपचुनाव और पार्टी के प्रत्याशी को लेकर मंथन किया। 

आज शाम तक होगा उम्मीदवारों के नाम का ऐलान 

बता दें, मुलायम सिंह यादव इस सीट से पांच बार सांसद रहे हैं। सपा का गढ़ ये सीट  माना जाता है। खबर है कि अखिलेश इस सीट से किसी परिवार के सदस्य को ही खड़ा करेंगे और उस नाम की घोषणा आज शाम तक की जाएगी। दावेदारों में सभी नामों में तेज प्रताप यादव का नाम फिलहाल सबसे आगे चल रहा है। इसके साथ ही अखिलेश की पत्नी डिंपल और चाचा शिवपाल सिंह यादव भी इस सीट से खड़ा हो सकते है। ऐसी खबरे लगातार आ रही है।