BREAKING NEWS

कोरोना संकट : सरकार ने 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में पांच-पांच सौ रूपये की सहायता राशि डाली ◾देश में कोरोना का कहर जारी, वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या पांच हजार के पार,140 से ज्यादा लोगों की मौत◾जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों के खिलाफ होगा मामला दर्ज, दिया हुआ समय-सीमा समाप्त : अनिल विज ◾Covid 19 : लखनऊ समेत 15 जिलों में चुनिंदा इलाकों को किया जायेगा सील◾कोरोना संकट : दिल्ली के ये 20 कोरोना हॉटस्पॉट सील, बिना मास्क घर से निकलने पर होगी सख्त कार्रवाई ◾प्रधानमंत्री के साथ बैठक में 80 फीसदी विपक्षी नेताओं ने लॉकडाउन आगे बढ़ाने का दिया सुझाव : कांग्रेस ◾तबलीगी जमात के 800 से ज्यादा लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया : CM येदियुरप्पा◾PM के सम्मान में 5 मिनट खड़े होने वाली मुहीम को प्रधानमंत्री मोदी ने बताया 'खुराफात'◾coronavirus : पिछले 24 घंटे में COVID-19 के 773 नए मामलों की पुष्टि, अबतक 149 लोगों की मौत◾सर्वदलीय बैठक में PM मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाए जाने पर की चर्चा, बोले-कोरोना के खिलाफ लंबी है लड़ाई ◾Coronavirus : मुख्यमंत्री योगी ने 56 फायर टेंडर्स को दिखाई हरी झंडी, यूपी को सैनिटाइज करने का चलेगा अभियान◾लॉकडाउन आगे बढ़ेगा या नहीं, PM मोदी शनिवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद ले सकते है फैसला ◾ कोरोना संकट : लखनऊ, नोएडा और आगरा सहित 15 जिले पूरी तरह सील, जरूरी सामानों की होगी होम डिलीवरी◾ फसलों की कटाई के लिए लॉकडाउन के दौरान सुरक्षित तरीके से ढील दी जाए : राहुल गांधी◾उत्तर प्रदेश में COVID-19 से चौथी मौत, आगरा में 76 साल की महिला ने तोड़ा दम◾गृह मंत्रालय ने भी राज्यों को लिखा पत्र, कहा- जमाखोरों, कालाबाजारी करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई◾कोविड-19 की जांच को लेकर SC ने कहा-प्राइवेट लैब में मुफ्त हो कोरोना टेस्ट ◾देश में लॉकडाउन से उत्पन्न हालात पर विचार विमर्श के लिए PM मोदी ने की राजनीतिक दलों के नेताओं से चर्चा ◾ब्राजील के राष्ट्रपति ने कोरोना को लेकर PM मोदी को लिखी चिट्ठी, भारत की मदद को बताया संजीवनी◾हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन के निर्यात को मंजूरी मिलने के बाद बदले ट्रंप के सुर, PM मोदी को बताया महान◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

योगी आदित्यनाथ बोले- मोदी ने देश की सुरक्षा, समृद्धि के लिये जो कदम उठाये लोगों ने उसका स्वागत किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की सुरक्षा,समृद्धि और आतंकवाद के खात्मे के लिये जो कदम उठाया, देशवासियों ने उसका स्वागत किया है। श्री योगी शनिवार को प्रतापगढ़ की एक जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कश्मीर में धारा 370 को समाप्त करके दुनिया को यह संदेश दिया है कि वे आतंक वाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने देश धारा 370 हटाकर सरदार पटेल,बाबा साहेब डा। भीमराव आम्बेडकर,डा। श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपनो को साकार करने का काम किया है। 

उन्होंने कहा कि हम जनसहयोग से आतंकवाद,भ्रष्टाचार,गरीबी के खिलाफ लड़ई जीतने में सफल होंगे और अब गरीबों के हक पर कोई भी डकैती नही डाल सकेगा। इसके लिये समाज के जागरूक नव युवकों को आगे आने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारे केवल अपने परिवार को समृद्ध बनाती रही है और गरीबो के हक पर डकैती डालती रही है जबकि हम ने जाति के आधार पर नहीं बल्कि गरीबी के आधार पर जनता को लाभान्वित किया है और जनता का पाई पाई का हिसाब दिया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों ने जातिवाद चलाकर शासन किया और गरीब जनता को कुछ नहीं दे सके। अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुये उन्होंने कहा कि हमने नारी सशक्तिकरण योजना के तहत हर गरीब के घर में शौचालय बनवाने का काम किया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 के पहले उत्तर प्रदेश में कुल 12 मेडिकल कालेज थे जबकि दो साल के भीतर हमने 15 नये मेडिकल कॉलेज प्रदेश को देने का काम किया है। 

उन्होंने बताया कि एक जिला एक उत्पाद योजना के तहत आंवला फल विकास के लिये प्रतापगढ़ जिले को चयनित किया है,इससे किसानों की आमदनी बढ़गी और यहां के लोगो को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्ष में प्रतापगढ़ जिले के सात हजार लोगों को आवास उपलब्ध कराया जा चुका है। 

मुख्यमंत्री ने जनसभा के पहले यहां एक अरब 35 करोड़ 82 लाख रुपये की 48 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया और विभिन्न परियोजनाओं में चयनित लाभार्थियों को प्रमाणपत्र वितरित किया। इस अवसर पर प्रदेश सरकार के मंत्रियों में राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, डा. महेंद्र सिंह, डा. नीलकंठ तिवारी, सांसद संगम लाल गुप्ता,विनोद सोनकर के अलावा नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष प्रेम लता सिंह और विधायकों के अलावा पार्टी के पदाधिकारी मौजूद थे।