पश्चिमी नेपाल में एक कट्टरपंथी माओवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उनकी पार्टी पर प्रतिबंध लगाये जाने संबंधी सरकार के कदम के खिलाफ बारातियों को लेकर जा रही एक यात्री बस में आग लगा दी। पुलिस ने बताया कि पिछली माओवादी पार्टी के एक गुट सीपीएन-माओवादी के कार्यकर्ताओं ने कैलाली जिले के बदईपुर में यात्रियों को वाहन से बाहर निकालने के बाद उसमें आग लगा दी। उन्होंने बताया कि इस घटना में बस पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई।

वाहनों को रोकने का प्रयास कर रहे तीन लोगों को पुलिस हिरासत में ले लिया गया। सरकार द्वारा सीपीएन-माओवादी पर प्रतिबंध लगाये जाने का निर्णय लिये जाने के बाद पार्टी ने राष्ट्रव्यापी हड़ताल की थी जिससे नेपाल के प्रमुख शहर आंशिक रूप से प्रभावित हुए। माओवादी पार्टी के समूहों में बंटने के बाद नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी का गठन हुआ था। राजधानी काठमांडू में सिलसिलेवार बम हमलों के बाद मंगलवार को कैबिनेट की एक बैठक के बाद सरकार ने कट्टरपंथी माओवादी पार्टी पर प्रतिबंध लगा दिया था।

 सरकार का कहना है कि नेत्र बिक्रम चंद के नेतृत्व वाला समूह बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में बमों को लगाकर आपराधिक गतिविधियों में लिप्त है और यह समूह शांति तथा सुरक्षा के माहौल में व्यवधान पैदा कर रहा है। पार्टी के साथ वार्ता किये जाने के सरकारी प्रयासों के विफल होने के बाद यह घोषणा की गई थी। पूर्व माओवादी छापामार के नेतृत्व वाले कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल ने पिछले महीने एक दूरसंचार कंपनी के कार्यालय के बाहर बम लगाया था जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और दो अन्य घायल हो गये थे।