BREAKING NEWS

ओमीक्रोन का असर कम रहने का अंदाजा, वैज्ञानिक मार्गदर्शन पर होगा बूस्टर देने का फैसला◾सुरक्षा के प्रति किसी भी खतरे से निपटने में पूरी तरह सक्षम है भारतीय नौसेना : एडमिरल कुमार◾एक बच्चे सहित तीन यात्री कोरोना संक्रमित , जांच के बाद ही ओमीक्रन स्वरूप की होगी पुष्टि : तमिलनाडु सरकार◾जनवरी से ATM से पैसे निकालना हो जाएगा महंगा, जानिए क्या है सरकार की नई नीति◾जयपुर में मचा हड़कंप, एक ही परिवार के नौ लोग कोरोना पॉजिटिव, 4 हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे◾लुंगी छाप और जालीदार टोपी पहनने वाले गुंडों से भाजपा ने दिलाई निजात: डिप्टी सीएम केशव ◾ बच्चों को वैक्सीन और बूस्टर डोज पर जल्दबाजी नहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने संसद में दिया जवाब◾केंद्र के पास किसानों की मौत का आंकड़ा नहीं, तो गलती कैसे मानी : राहुल गांधी◾किसानों ने कंगना रनौत की कार पर किया हमला, एक्ट्रेस की गाड़ी रोक माफी मांगने को कहा ◾ओमीक्रॉन वेरिएंट: केंद्र ने तीसरी लहर की संभावना पर दिया स्पष्टीकरण, कहा- पहले वाली सावधानियां जरूरी ◾जुबानी जंग के बीच TMC ने किया दावा- 'डीप फ्रीजर' में कांग्रेस, विपक्षी ताकतें चाहती हैं CM ममता करें नेतृत्व ◾राजधानी में हुई ओमीक्रॉन वेरिएंट की एंट्री? दिल्ली के LNJP अस्पताल में भर्ती हुए 12 संदिग्ध मरीज ◾दिल्ली प्रदूष्ण : केंद्र सरकार द्वारा गठित इंफोर्समेंट टास्क फोर्स के गठन को सुप्रीम कोर्ट ने दी मंजूरी ◾प्रदूषण : UP सरकार की दलील पर CJI ने ली चुटकी, बोले-तो आप पाकिस्तान में उद्योग बंद कराना चाहते हैं ◾UP Election: अखिलेश का बड़ा बयान- BJP को हटाएगी जनता, प्रियंका के चुनाव में आने से नहीं कोई नुकसान ◾कांग्रेस को किनारे करने में लगी TMC, नकवी बोले-कारण केवल एक, विपक्ष का चौधरी कौन?◾अखिलेश बोले-बंगाल से ममता की तरह सपा UP से करेगी BJP का सफाया◾Winter Session: पांचवें दिन बदली प्रदर्शन की तस्वीर, BJP ने निकाला पैदल मार्च, विपक्ष अलोकतांत्रिक... ◾'Infinity Forum' के उद्घाटन में बोले PM मोदी-डिजिटल बैंक आज एक वास्तविकता◾TOP 5 NEWS 03 दिसंबर : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾

चीनी मुखपत्र का दावा- अफगानिस्तान में उथल-पुथल के बावजूद निवेश की अपार संभावना, खनिज संसाधनों पर ड्रैगन की नजर!

अफगानिस्तान में तालिबान का राज शुरू हो चुका है, लेकिन वहां पर कोई निवेश की बात करें तो ऐसे हालात में थोड़ा अलग लगता है। तो वहीं, चीन अपनी पैनी नजर अफगानिस्तान के अपार खनिज संसाधनों पर बनाए हुए है। चीन के मुखपत्र का कहना है कि बीजिंग के लिए अफगानिस्तान में अभी भी विकास की मजबूत संभावनाएं हैं और दशकों की राजनीतिक उथल-पुथल के बावजूद यह निवेश के योग्य है। देश तांबा, सोना, लिथियम और दुर्लभ पृथ्वी जैसे खनिज संसाधनों में समृद्ध है, और इसके पास तेल, प्राकृतिक गैस, कोयला और लौह अयस्क जैसे अन्य प्राकृतिक भंडार हैं।

वित्तीय चुनौतियों से उबरने के लिए खनिज खनन पर भरोसा किया जा सकता है

ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि अगर अफगानिस्तान अपनी वित्तीय चुनौतियों से उबरने और देश के शांतिपूर्ण पुनर्निर्माण को पटरी पर लाने के लिए खनिज खनन पर भरोसा कर सकता है, तो यह क्षेत्रीय स्थिरता के लिए अनुकूल होगा और चीन और उसके सभी पड़ोसी देशों के हितों की सेवा करेगा।

पाकिस्तान की उम्मीदें एक बार फिर होंगी तार-तार! FATF की ग्रे सूची में बने रहने की संभावना

चीनी उद्यम अफगानिस्तान में निवेश करते हैं या नहीं, यह काफी हद तक इस बात पर निर्भर करेगा कि तालिबान घरेलू उत्पादन और निर्माण की सुरक्षा को प्रभावी ढंग से सुनिश्चित कर सकता है, सामाजिक व्यवस्था बनाए रख सकता है, सुरक्षा प्रदान कर सकता है और निवेशकों का विश्वास जीतने के लिए आतंकवाद से लड़ सकता है।

यह है चीन की अफगान नीति, अमेरिका की परवाह नहीं

चीन की अफगान नीति को उसकी समग्र विदेश नीतियों और राष्ट्रीय हितों के अनुसार ही चलाया जाएगा, जिसमें अमेरिका की बदनामी और आलोचना की कोई परवाह नहीं है। मुखपत्र के अनुसार, अफगानिस्तान का पुनर्निर्माण एक लंबी प्रक्रिया होगी, जिसमें इसकी आर्थिक और वित्तीय प्रणाली, बुनियादी ढांचे और सामाजिक व्यवस्था के पुनर्निर्माण पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। तालिबान ने बुनियादी ढांचे में सुधार और स्थानीय लोगों के लिए तत्काल आवश्यक रोजगार प्रदान करने में मदद करने के लिए चीनी निवेश के लिए उच्च उम्मीदें व्यक्त की हैं।