BREAKING NEWS

PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित◾PM मोदी ने दादा साहब फाल्के पुरस्कार मिलने पर आशा पारेख को दी बधाई ◾तरंगा-आबू रोड रेल लाइन की योजना 1930 में बनाई गई थी लेकिन दशकों तक ठंडे बस्ते में पड़ी रही : PM मोदी◾पुतिन ने यूक्रेन के इलाकों को रूस का हिस्सा किया घोषित , कीव और पश्चिमी देशों ने किया खारिज , EU ने कहा -कभी मान्यता नहीं देंगे ◾आखिर ! क्या होगा सोनिया का फैसला ?, अब सब की निगाहें राजस्थान पर◾PM मोदी ने अंबाजी मंदिर में प्रार्थना की, गब्बर तीर्थ में ‘महा आरती’ में हुए शामिल◾Maharashtra: महाराष्ट्र में कोविड-19 के 459 नए मामले, 5 मरीजों की मौत◾शाह के दौरे से पहले कश्मीर को दहलाना चाहते थे आतंकी, सुरक्षाबलों ने बरामद किया जखीरा ◾भाजपा ने थरूर को घोषणापत्र में भारत का विकृत नक्शा दिखाने पर लिया आड़े हाथ, जानें क्या कहा ... ◾कार्यकर्ताओं से थरूर का वादा - बंद करूंगा एक लाइन की पंरपरा, क्षत्रपों को दूंगा बढ़ावा ◾कांग्रेस का अध्यक्ष मैं हूं? थरूर बोले- पार्टी को लेकर मेरा अपना दृष्टिकोण.... मैं हूं शशि पीछे नहीं हटूंगा ◾KCR द्वारा राष्ट्रीय पार्टी की औपचारिक घोषणा के बाद विमान खरीदेगा टीआरएस ◾अफगानिस्तान : धमाके में बिखर गए मासूमों के शरीर, काबुल के स्कूल में फिदायीन हमला ◾ अफगानिस्तान : धमाके में बिखर गए मासूमों के शरीर, काबूल के स्कूल में फिदायीन हमला ◾पंजाब : कांग्रेस ने भगवंत मान पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप, पूछा- क्या हुआ उन उपदेशों का ?◾CDS जनरल चौहान ने कार्यभार संभालने के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से की मुलाकात ◾कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में नामांकन कर सबको चौंकाने वाले केएन त्रिपाठी कौन ? चुनाव को लेकर कितने गंभीर ◾इलाहाबाद HC ने मुख्यमंत्री योगी द्वारा दिए गए राजस्थान में आपत्तिजनक भाषण पर दायर याचिका को खारिज किया ◾खड़गे vs थरूर! कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर बोले मल्लिकार्जुन- मुझे पूरा विश्वास... मैं ही जीतूंगा◾कांग्रेस मुख्यालय में पहुंचे गहलोत, सचिन पायलट के समर्थकों ने की नारेबाजी◾

Afghanistan: संयुक्त राष्ट्र ने की अफगानिस्तान में घातक हमले की निंदा, दिया बड़ा बयान

अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन (यूएनएएमए) ने राजधानी काबुल में एक मस्जिद पर हुए घातक हमले की निंदा की है। यूएनएएमए ने गुरुवार को ट्विटर पर दिए एक बयान में कहा, 'हम कल काबुल मस्जिद में हुए हमले की निन्दा करते हैं, ये हमला भी बम विस्फोटों की श्रृंखला में ताजा घटना है, जिससे देश में हाल के सप्ताहों के दौरान 250 से अधिक लोग हताहत हुए हैं। पिछले एक साल के दौरान आम लोगों के हताहत होने की ये सबसे बड़ी मासिक संख्या है।'

दरअसल, बुधवार को शाम की नमाज के दौरान भीड़भाड़ वाली मस्जिद में एक बड़ा विस्फोट हुआ, जिसमें 33 लोग घायल हो गए, वहीं मस्जिद के इमाम अमीर मुहम्मद काबुली समेत 21 अन्य की मौत हो गई। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, काबुल में हुए हमले के पीछे कौन था, इस बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। विस्फोट स्थल को सील कर दिया गया है।

कमजोर समुदायों को सहायता करनी चाहिए प्रदान 

संयुक्त राष्ट्र ने देश में बिगड़ती सुरक्षा स्थिति के बीच तालिबान के अधिकारियों से अफगानिस्तान में सभी प्रकार के आतंकवाद को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने का आह्वान करता है। यूएनएएमए ने कहा, 'कमजोर समुदायों को अतिरिक्त सहायता प्रदान की जानी चाहिए और अपराधियों को न्याय के दायरे में लाया जाना चाहिए।' 'हम मृतकों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।'