BREAKING NEWS

चिराग को LJP अध्यक्ष पद से हटाने के प्रयास तेज, पशुपति कुमार पारस अपने सांसद समर्थको के साथ जाएंगे पटना ◾राम जन्मभूमि घोटाले पर बोले चंपत राय- सारे आरोप भ्रामक, पारदर्शिता के साथ खरीदी गई जमीन ◾देश में पिछले 24 घंटे में 60471 नए कोरोना केस की पुष्टि, 2726 मरीजों ने तोड़ा दम ◾दुनियाभर में कोरोना मामलों का आंकड़ा 17.6 करोड़ से अधिक, अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना ◾TOP - 5 NEWS 15TH JUNE : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾UP में 2022 में होनें वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एक्शन में BJP सरकार, सभी मंत्री उतरेंगे मैदान में◾कोरोना वायरस के नए प्रकार ‘डेल्टा प्लस’ का पता चला, वैज्ञानिकों ने कहा-चिंता की कोई बात नहीं◾गलवान झड़प के 1 साल बाद LAC के पास डटे हुए है चीनी सैनिक, भारत ने मुकाबला करने के लिए की खास तैयारी ◾पशुपति कुमार पारस को लोकसभा में LJP के नेता के रूप में मान्यता दी गई◾राजस्थान : BSP से कांग्रेस में आए विधायकों ने बढ़ाई गहलोत की टेंशन, कहा- मंत्रिमंडल का विस्तार हो तो अच्छा है◾भूमि क्षरण ने दुनिया के दो-तिहाई हिस्से को प्रभावित किया : PM मोदी◾बढ़ती महंगाई पर चिदंबरम का केंद्र पर तंज, कहा- हर रोज ईंधन की कीमतें बढ़ाने वाले PM मोदी का शुक्रिया◾ममता बनर्जी का केंद्र पर कटाक्ष, कहा- सरकार की बेरुखी के चलते देश के किसान कष्ट में हैं ◾खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से आउट ऑफ कंट्रोल हुई खुदरा महंगाई दर, मई में बढ़कर 6.3 फीसदी पर पहुंची◾आगरा : 130 फीट गहरे बोरवेल से सुरक्षित निकाला गया 3 साल का शिवा, 8 घंटे तक चला सेना और NDRF का रेस्क्यू ऑपरेशन◾राजस्थान: गोवंश की तस्करी के शक में भीड़ ने शख्स की पीट-पीटकर की हत्या, दूसरे की हालत भी नाजुक◾राम मंदिर भूमि घोटाले की राहुल गांधी ने की कड़ी निंदा, कहा - श्रीराम के नाम पर धोखा अधर्म है ◾अनलॉक की राह पर बंगाल, जानिए किन चीजों में छूट के साथ ममता सरकार ने 1 जुलाई तक बढ़ाई पाबंदियां◾राम जन्मभूमि घोटाले के आरोपों पर बोले दिनेश शर्मा- बदनाम करने के लिए कोई मौका नही छोड़ता विपक्ष◾अडाणी ग्रुप ने अपने तीन विदेशी फंडों के खातों को जब्त किए जाने की खबर को बताया भ्रामक और गलत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अमरीकी सांसदों ने भारत में आंदोलनरत किसानों का किया समर्थन

अमेरिका के कई सांसदों ने भारत में नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों का समर्थन किया है और उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है। किसानों के प्रदर्शन पर विदेशी नेताओं के बयानों को भारत ने ‘‘भ्रामक’’ और ‘‘अनुचित’’ बताया है और कहा है कि यह एक लोकतांत्रिक देश का आंतरिक मामला है। 

अमेरिकी कांग्रेस के सांसद डग लामाल्फा ने सोमवार को कहा, ‘‘भारत में अपनी आजीविका बचाने की खातिर और सरकार के भ्रामक, अस्पष्ट नियम-कायदों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पंजाबी किसानों का मैं समर्थन करता हूं।’’ कैलिफोर्निया से रिपब्लिकन सांसद ने कहा, ‘‘पंजाबी किसानों को अपनी सरकार के खिलाफ हिंसा के भय के बगैर शांतिपूर्ण प्रदर्शन की इजाजत होनी चाहिए।’’

गौरतलब है कि पंजाब, हरियाणा और कुछ अन्य राज्यों के हजारों किसान केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में 26 नवंबर से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। डेमोक्रेट सांसद जोश हार्डर ने कहा, ‘‘भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। उसे अपने नागरिकों को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अनुमति देनी चाहिए। मैं इन किसानों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सार्थक बातचीत की अपील करता हूं।’’ 

सांसद टी जे कॉक्स ने कहा कि भारत को शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकार को बरकरार रखना चाहिए और अपने नागरिकों की रक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए। सांसद एंडी लेवी ने कहा कि उन्हें भारत में किसानों के आंदोलन से प्रेरणा मिली है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इसे 2021 में जनता की ताकत को उभरने के तौर पर देखता हूं।’’ 

भारत में किसानों के आंदोलन को अमेरिका की मुख्यधारा की मीडिया ने भी जगह दी है। ‘न्यूयार्क टाइम्स’ ने लिखा है, ‘‘प्रदर्शन दिल्ली के बाहर तक फैल गया है। किसानों ने दक्षिणी राज्यों केरल और कर्नाटक तथा पूर्वोत्तर के राज्य असम में भी मार्च निकाला और बैनरों के साथ प्रदर्शन किया। 

उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों ने भी एकजुटता दिखाते हुए दिल्ली से लगी राज्य की सीमा पर प्रदर्शन किया।’’ ‘सीएनएन’ की एक खबर के मुताबिक हजारों किसान नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर डटे हैं। इन किसानों को आशंका है कि नए कानूनों से उनकी रोजीरोटी पर असर पड़ेगा।