BREAKING NEWS

CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾संसद का शीतकालीन सत्र LIVE : अब्दुल्ला की हिरासत के मुद्दे पर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, कांग्रेस ने किया वाकआउट ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾

विदेश

चीन की 2025 तक सौ उपग्रह भेजने की योजना

चीन साल 2025 तक में करीब सौ उपग्रह प्रक्षेपित करने की योजना बना रहा है। ये उपग्रह अंतरिक्ष की कक्षा में पहले से मौजूद सौ से अधिक उपग्रहों के अतिरिक्त होंगे। चीन राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है। 

विश्व आर्थिक मंच के आंकड़े के अनुसार, 2022 तक अपना अंतरिक्ष स्टेशन बनाने की योजना के साथ अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी में बड़े पैमाने पर निवेश कर रहे चीन के अंतरिक्ष में फिलहाल करीब 280 उपग्रह मौजूद हैं जबकि इसकी तुलना में भारत के पिछले साल नवंबर तक केवल 54 उपग्रह अंतरिक्ष में थे। अंतरिक्ष में 830 उपग्रहों के साथ, अमेरिका इस दौड़ में सबसे आगे है। 

सरकारी ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने चीन के राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन के एक अधिकारी यू क्यी के हवाले से कहा कि चीन ने अंतरिक्ष प्रौद्योगिकियों में सफलता के साथ अंतरिक्ष अर्थव्यवस्था तेज करने के लिए मौलिक एवं योग्य माहौल तैयार किया है। उन्होंने कहा कि चीन ने 2018 में 39 प्रक्षेपण मिशनों के साथ नया रिकॉर्ड बनाया और विश्व में सर्वाधिक प्रक्षेपण वाली सूची में पहले स्थान पर है। 

रेलवे में मैला ढोने वालों की भर्ती देश के लिए शर्मनाक : कनिमोझी