BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी में देशभक्ति का जोश◾बिहार में कैबिनेट विस्तार आज, करीब 30 मंत्री होंगे शामिल ◾Bilkis Bano case : उम्रकैद की सजा पाए सभी 11 दोषी गुजरात सरकार की क्षमा नीति के तहत रिहा◾Independence Day 2022 : पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देने वाले वैश्विक नेताओं का किया आभार व्यक्त ◾Independence Day 2022 : सीमा पर तैनात भारत और पाकिस्तान के सैनिकों ने मिठाइयों का किया आदान प्रदान ◾Independence Day 2022 : विश्व नेताओं ने स्वतंत्रता के 75 वर्षों में भारत की उपलब्धियों की सराहना की◾Independence Day 2022 : लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने दिया 'जय अनुसंधान' का नारा,नवोन्मेष को मिलेगा बढ़ावा◾स्वतंत्रता दिवस पर गहलोत ने फहराया झंडा! CM ने कहा- देश के स्वर्णिम इतिहास से प्रेरणा ले युवा ◾क्रूर तालिबान का सत्ता में एक साल पूरा : कितना बदला अफगानिस्तान, गरीबी का बढ़ा दायरा ◾नगालैंड : स्वतंत्रता दिवस पर उग्रवादियों के मंसूबे नाकाम, मुठभेड़ में असम राइफल्स के दो जवान घायल◾शशि थरूर के टी जलील की विवादित टिप्पणी पर भड़के, कहा- देश से ‘तत्काल' माफी मांगनी चाहिए◾विपक्ष का मोदी पर तीखा वार, कहा- महिलाओं के प्रति अपनी पार्टी का रवैया देखें प्रधानमंत्री◾स्वतंत्रता दिवस की 76 वी वर्षगांठ पर सीएम ने किया 75 ‘आम आदमी क्लीनिक’ का उद्घाटन ◾Bihar: 76वें स्वतंत्रता दिवस पर बोले नीतीश- कई चुनौतियों के बावजूद बिहार प्रगति के पथ पर अग्रसर ◾मध्यप्रदेश : आपसी झगड़े के बीच बम का धमाका, एक की मौत , 15 घायल◾बेटा ही बना पिता व बहनों की जान का दुश्मन, संपत्ति विवाद के चलते की धारदार हथियार से हत्या ◾स्वतंत्रता दिवस पर मोदी की गूंज! पीएम ने कहा- हर घर तिरंगा’ अभियान को मिली प्रतिक्रिया...... पुनर्जागरण का संकेत◾उधोगपति मुकेश अंबानी के परिवार को जान से मारने की धमकी, जांच शुरू◾स्वतंत्रता दिवस पर बोले केजरीवाल- 130 करोड़ लोगों को मिलकर नए भारत की नीव रखनी है, मुफ्तखोरी को लेकर कही यह बात ◾Independence Day 2022 : देश में सहकारी प्रतिस्पर्धी संघवाद की जरूरत : पीएम मोदी ◾

जर्मनी और बेल्जियम में प्रलयकारी बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 110 के पार, राहत कार्य जारी

पश्चिमी जर्मनी और बेल्जियम के कई इलाकों में आई विनाशकारी बाढ़ में कम से कम 110 लोगों की जान जाने की खबर है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि सैकड़ों लापता लोगों की तलाश के लिये तलाशी व राहत अभियान जारी है। 

जर्मनी के राष्ट्रपति फ्रैंक-वाल्टर स्टीनमेयर ने कहा कि वह बाढ़ के कारण हुए विनाश से “स्तब्ध” हैं और लोगों से मारे गए लोगों को परिजनों तथा इस आपदा में व्यापक नुकसान झेलने वाले शहरों और कस्बों की मदद करने का अनुरोध किया। स्टीनमेयर ने शुक्रवार अपराह्न जारी एक बयान में कहा, “मुश्किल की इस घड़ी में, हमारा देश एक साथ खड़ा है। यह महत्वपूर्ण है कि हम उन लोगों के प्रति एकजुटता दिखाएं जिनसे बाढ़ ने उनका सबकुछ छीन लिया है।” 

जर्मनी के रिनेलैंड-पलाटिनेट राज्य में अधिकारियों ने कहा कि वहां 60 लोगों की मृत्यु हो गयी जिनमें कम से कम नौ लोग दिव्यांग आश्रय केंद्र में रहने वाले थे। पड़ोस के उत्तर रिने-वेस्टफालिया राज्य के अधिकारियों ने मृतक संख्या 43 बताई है और चेतावनी जारी की है कि मृतक संख्या बढ़ सकती है। 

शुक्रवार को बचावकर्ता एफ्ट्सडट शहर में अपने घरों के भीतर फंसे लोगों को निकालने की कोशिश में जुटे रहे। क्षेत्रीय अधिकारियों ने कहा कि कई लोग जमीन खिसकने के चलते घर ढहने के कारण मारे गए। काउंटी प्रशासन के प्रमुख फ्रैंक रॉक ने कहा, “हम पिछली रात 50 लोगों को उनके घरों से निकाल पाए। हम ऐसे 15 लोगों को जानते हैं जिन्हें अब भी बचाए जाने की जरूरत है।” 

जर्मन प्रसारक एन-टीवी से बात करते हुए रॉक ने कहा कि अधिकारियों के पास अभी इस बात का सटीक आंकड़ा नहीं है कि कितने लोगों की जान गई है। उन्होंने कहा, “यह मानना होगा कि इन परिस्थितियों में कुछ लोग बचने में कामयाब नहीं हो पाए।” 

अधिकारियों ने बृहस्पतिवार देर शाम कहा था कि जर्मनी में करीब 1,300 लोग अब भी लापता हैं, हालांकि चेताया कि ज्यादा संख्या आंकड़ों के दोहराव व सड़कों के टूटने व फोन कनेक्शनों के ठप होने की वजह से लोगों से संपर्क करने में हो रही दिक्कत के कारण हो सकती है। अधिकारियों का कहना है कि इन लोगों से संपर्क साधने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

शुरुआती आंकड़ों में बेल्जियम में कम से कम 12 लोगों की मौत की खबर है जबकि पांच लोग अब भी लापता है। स्थानीय अधिकारियों और मीडिया में आई खबरों में शुक्रवार की सुबह यह जानकारी दी गई। कई दिन की भारी बारिश के बाद इस हफ्ते बाढ़ आ गई जिसमें कारें बह गईं और घर ढह गए।