BREAKING NEWS

लखीमपुर हिंसाः सुमित जायसवाल समेत 4 लोग गिरफ्तार, मौके पर जीप से निकलकर भागते हुए वायरल हुआ था वीडियो◾उत्तराखंड: शाह ने CM धामी से की बात, भारी बारिश से उपजे हालात का जाएजा लेकर हर संभव मदद का दिया भरोसा◾बाबुल सुप्रियो कल लोकसभा अध्यक्ष से मिलकर सांसद पद से देंगे इस्तीफा, BJP छोड़ TMC में हो चुके हैं शामिल◾रेल रोको आंदोलन रहा शांतिपूर्ण, कई किसान नेताओं को किया गिरफ्तार : एसकेएम◾झारखंड:गुमला में 2 नाबालिग बहनों के साथ हुआ गैंगरेप, BJP ने सरकार पर साधा निशाना ◾कश्मीर के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा रोकी गई, एहतियात के तौर पर उठाया गया कदम◾PM मोदी बुधवार को कुशीनगर हवाई अड्डे का करेंगे उद्घाटन, अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल से जुड़ेगी दुनिया◾J&K में गैर-कश्मीरियों पर लगातार हो रहे हमलों के बीच आर्मी चीफ नरवणे पहुंचे जम्मू, सुरक्षा स्थिति का लेंगे जाएजा◾कृषि कानूनों पर सत्यपाल मलिक बोले- किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी ◾कोर्ट ने राम रहीम सहित 5 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा, 31 लाख रुपये का भी लगाया जुर्माना◾दुर्गापूजा हिंसा को लेकर प्रदर्शन के बीच बांग्लादेश में हिंदुओं के 29 घर फूंक दिए गए, हालात तनावपूर्ण ◾लक्षित हत्याओं के बाद कांग्रेस ने की मीटिंग, कहा- मोदी कुशासन ने कश्मीर को बनाया आतंक का अड्डा◾मैं राज्यपाल था तो श्रीनगर के 50-100 किलोमीटर के दायरे में घुस नहीं सकते थे आतंकी:सत्यपाल मलिक◾UP : सपा के बागी विधायक नितिन अग्रवाल बने डिप्टी स्पीकर, नरेंद्र वर्मा को 244 वोटों से दी मात ◾केरल बारिश : मरने वालों की संख्या बढ़कर 35 हुई, गृह मंत्रालय ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन◾राष्ट्रीय सुरक्षा पर अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग, कहा-आतंकी घटनाओं का माकूल जवाब दिया जायेगा◾ पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर राहुल का PM पर कटाक्ष, कहा- ये बेहद गंभीर मुद्दा है....◾रेल रोको आंदोलन : मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों का प्रदर्शन समाप्त, तीन मांगों के साथ सौपा ज्ञापन ◾रेल रोको आंदोलन से 130 जगहों पर सेवाएं प्रभावित, देखें लिस्ट, किसानों ने दी ये बड़ी चेतावनी ◾उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद एक बार फिर चारधाम यात्रा ठप्प, बिगड़े मौसम से जहां-तहां फंसे लोग ◾

भारतीय राजनयिक जाधव के लिए वकील नियुक्ति पर भारत का रुख बताना चाहते हैं : भारतीय उच्चायोग

पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के वकील ने इस्लामाबाद उच्च न्यायालय को सूचित किया है कि उप उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया, मौत की सजा पाए कैदी कुलभूषण जाधव के लिए वकील नियुक्त करने के मामले में भारत का पक्ष रखना चाहते हैं। यह जानकारी बुधवार को मीडिया में प्रकाशित खबरों में दी गई।

डॉन अखबार के मुताबिक इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश अतहर मिनल्लाह, न्यायमूर्ति आमेर फारूक और न्यायमूर्ति मियांगुल हसन औरंगजेब की वृहद पीठ के समक्ष मंगलवार को भारतीय उच्चायोग के वकील बैरिस्टर शाहनवाज नून ने कहा कि जाधव के लिए वकील नियुक्त करने के मामले पर विस्तार से चर्चा होनी चाहिए और अदालत के समक्ष अहलूवालिया भारत सरकार का पक्ष रखेंगे।

न्यायमूर्ति मिनल्लाह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के आदेश को लागू करने के लिए इस्लामाबाद उच्च न्यायालय भारत सरकार के जवाब का इंतजार कर रहा है क्योंकि ‘ निष्पक्ष सुनवाई सुनिश्चित करना हमारा कर्तव्य है।’’ उन्होंने कहा कि अगर राजनयिक अदालत के समक्ष पेश होना चाहते हैं तो इसका हमेशा स्वागत है।

अटॉर्नी जनरल खालिद जवाद खान ने अदालत को सलाह दी कि भारत के उप उच्चायुक्त आ सकते हैं लेकिन भारत को पहले मामले के लिए वकील की नियुक्ति करनी चाहिए। खबर के मुताबिक नून ने अदालत को सूचित किया कि भारत को इस बात की भी चिंता है कि एक और भारतीय नागरिक इस्माइल जिसे जासूसी के आरोप में दोषी ठहराया गया था और उसकी सजा पूरी हो चुकी है इसके बावजूद हिरासत में लिया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि 53 वर्षीय इस्माइल सम्मा भारत-पाकिस्तान सीमा से 50 किलोमीटर दूर गुजरात के कच्छ जिले के नाना दिनारा गांव का रहने वाला है और अगस्त 2008 में लापता हो गया था। वह मवेशियों को चराते हुए गलती से पाकिस्तान की सीमा में दाखिल हो गया था।

इस्लाइल को पाकिस्तानी अधिकारियों ने गिरफ्तार किया था और अक्टूबर 2011 में उसे जासूसी का दोषी ठहराते हुए पांच साल कैद की सजा सुनाई गई थी। खबर के मुताबिक नून ने उच्च न्यायालय को सूचित किया कि भारत के उप उच्चायुक्त ने जाधव के लिए वकील नियुक्त करने के मामले में भारत का रुख बताने की इच्छा जताई है।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान की संसदीय समिति ने अंतरराष्ट्रीय अदालत के निर्देशों के तहत जाधव की समीक्षा करने की अनुमति देने वाले सरकर के विधेयक को मंजूरी दी थी। भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी जाधव (51) को अप्रैल 2017 में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी का दोषी ठहराते हुए मौत की सजा सनाई थी।

वर्ष 2017 में पाकिस्तान द्वारा जाधव तक राजनयिक पहुंच नहीं देने और उसे मौत की सजा के खिलाफ भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत का रुख किया। हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत ने जुलाई 2019 में दिए फैसले में कहा कि पाकिस्तान जाधव को सुनाई गई सजा की प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार करे, साथ ही बिना देरी भारत को जाधव तक राजनयिक पहुंच मुहैया कराए।

इस्माइल के मामले में अटॉर्नी जनरल खान ने अदालत को बताया कि मामला पहले ही गृह मंत्रालय के समक्ष विचाराधीन है। उन्हें जवाब के लिए कुछ समय चाहिए। उच्च न्यायालय की पीठ ने अटॉर्नी जनरल से जवाब तलब करते हुए मामले की सुनवाई 14 जनवरी तक के लिए टाल दी।