BREAKING NEWS

अमेरिका की अपने नागरिकों को सलाह, कहा -पाकिस्तान जाने से करे परहेज, हो सकता हैं आतंकी हमला ◾कांग्रेस ने केंद्र पर कसा तंज, कहा- गरीबी भयावह रूप ले रही है और सरकार बेख़बर है◾नशे में धुत कांग्रेस के दो विधायकों ने चलती ट्रेन में महिला से की बदसलूकी, रिपोर्ट दर्ज ◾अधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की को शांति का नोबेल पुरस्कार, रूसी समूह व यूक्रेन संगठन का भी नाम◾ अफ्रीका से पहले 'कफ सीरफ' जम्मू कश्मीर में लील चुका हैं 12 मासूम की जान, NHRC ने ठोका था 36 लाख का जुर्माना ◾ज्ञानवापी : शिवलिंग की कार्बन डेटिंग पर टला फैसला, 11 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई◾चरमपंथ से शिक्षा का मंदिर स्कूल भी अछूता नहीं, मरम्मत के पैसे से कट्टरपंथी प्राचार्य ने बनवा दी मजार◾आदेश गुप्ता ने केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- AAP का इतिहास हमेशा से ही हिंदू धर्म के अपमान करने का रहा ◾पाकिस्तान में बाढ़ से हाहाकार! नहीं थम रहा प्रकोप, मरने वालों की संख्या इतने हजारों तक पहुंची ◾ हरियाणा उपचुनाव : आदमपुर जीतने के लिए 'आप' ने झोंकी ताकत, प्रचार के लिए भारी संख्या में उतारेंगी विधायक ◾लद्दाख : भूस्खलन की चपेट में आए सेना के तीन वाहन, 6 जवानों की मौत◾एंटीलिया मामले में सचिन वाजे पर UAPA के तहत चलेगा केस, दिल्ली HC ने खारिज की याचिका ◾हिंदुओं पर हमलों करने वालों के खिलाफ संयुक्त होकर लड़ना होगा - सांसद स्टारर ◾क्या है कर्नाटक में कांग्रेस का 'प्लान 60'? 'भारत जोड़ो यात्रा' में सोनिया के शामिल होने का खुला राज◾BJP सांसद की याचिका पर JMM नेता शिबू सोरेन को दिल्ली हाई कोर्ट का नोटिस◾केजरीवाल के मंत्री पर बीजेपी ने लगाया बड़ा आरोप, कहा - राम और कृष्ण की पूजा ना करने की दिलाई शपथ◾दिल्ली : केंद्रीय विद्यालय में 11 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप, आरोपियों के खिलाफ POCSO एक्ट के तहत केस दर्ज◾गहलोत गुट के मंत्रियों पर सोनिया गांधी ने दिखाई नरमी, फिर टूटेगा पायलट का सपना?◾दिल्ली में Anti Dust अभियान शुरू, 14 नियमों का पालन जरूरी, उल्लंघन करने पर पांच लाख का जुर्माना◾Karnataka : दशहरे पर भीड़ ने मदरसे में घुसकर की जबरन पूजा, मुस्लिम संगठनों ने दी चेतावनी ◾

अमेरिका में ISI सेल का भंडाफोड़, US सुरक्षा एजेंसी में घुसपैठ की कोशिश में दो गिरफ्तार

अमेरिका ने देश के राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार ‘सीक्रेट सर्विस’ समेत उसके खुफिया एवं सुरक्षा तंत्र में घुसपैठ की कोशिश करने वाले कथित आईएसआई सेल का भंडाफोड़ किया है। इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी है। एरियन ताहेरजादेह (40) और हैदर अली (35) को दक्षिण पूर्व वाशिंगटन में संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) ने बुधवार को गिरफ्तार किया था। उनके खिलाफ आरोप है कि, उन्होंने स्वयं को एक अमेरिकी अधिकारी बताकर अपनी गलत पहचान बताई।
पाकिस्तान और ईरान के मिले हैं कई वीजा
अदालत में गुरुवार को ताहेरजादेह और अली की पेशी के दौरान असिस्टेंट अमेरिकी अटॉर्नी जोशुआ रोथस्टीन ने ‘डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया’ की ‘अमेरिकी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट’ में मजिस्ट्रेट जज जी माइकल हार्वे से कहा कि, अली ने गवाहों से कहा कि वह आईएसआई से संबद्ध है। संघीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने बताया कि अली के पास पाकिस्तान और ईरान के कई वीजा हैं। रोथस्टीन ने कहा, हमने उसके दावों की सत्यता की पुष्टि नहीं की है, लेकिन उसने गवाहों के समक्ष दावा किया कि उसके पाकिस्तान की खुफिया सेवा आईएसआई के साथ संबंध हैं।
सीक्रेट सर्विस के चार सदस्यों अवकाश पर भेजा गया है
ताहेरजादेह और अली पर आरोप हैं कि उन्होंने संघीय कानून प्रवर्तन और रक्षा समुदाय के सदस्यों के साथ संबंध बनाने के लिए अमेरिकी गृह मंत्रालय के साथ अपनी झूठी और कपटपूर्ण संबद्धता का उपयोग करने का प्रयास किया। उनके झांसे में आकर उनसे लाभ लेने वाले सीक्रेट सर्विस के चार सदस्यों को जांच लंबित रहने तक प्रशासनिक अवकाश पर भेजा गया है। ताहेरजादेह और अली को अगली सुनवाई तक हिरासत में भेजे जाने का आदेश दिया गया है।