BREAKING NEWS

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, सेना कैंप में घुस रहे 2 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद◾आज का राशिफल (11 अगस्त 2022)◾हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾

OIC मंत्रियों ने सऊदी अरब में हुए तेल संयंत्रों पर हमले की निंदा की, अमेरिका ने ईरान को ठहराया जिम्मेदार

रियाद : सऊदी अरब में रविवार को हुए तेल संयंत्रों पर ड्रोन हमले की इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) के विदेश मंत्रियों ने निंदा की। इस हमले के लिए अमेरिका ने सीधे तौर पर ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। पड़ोसी यमन में ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने तेल कंपनी अरामको के दो संयंत्रों पर शनिवार को हुए हमलों की जिम्मेदारी ली। यमन में सऊदी अरब नीत सैन्य गठबंधन पांच साल से चल रहे संघर्ष में फंसा हुआ है। 

ओआईसी ईरान की एक सदस्य की तौर पर गिनती करता है लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो सका कि वह बैठक में शामिल हुआ या नहीं। यह बैठक असल में इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू की वेस्ट बैंक के हिस्से को शामिल करने की प्रतिबद्धता का जवाब देने के लिए बुलाई गई थी। लेकिन इस मुद्दे की बजाए बैठक में समूह के महासचिव यूसुफ अल ओथाइमीन ने तेल संयंत्रों पर हुए हमले को केंद्र में रखा गया। इन हमलों के कारण सऊदी अरब के कच्चा तेल उत्पादन की क्षमता अस्थायी तौर पर आधी हो गई थी। 

अल ओथाइमीन सऊदी अरब के सामाजिक मामलों के पूर्व मंत्री रहे हैं। सऊदी अरब की सरकारी मीडिया द्वारा जारी बयान में उन्होंने कहा, “मंत्रियों ने इस आतंकवादी हमले की निंदा की और क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय संगठनों के बयानों का स्वागत किया जिसमें सऊदी अरब को अस्थिर करने के लिए जताई जा रही आक्रामकता को खारिज किया गया।”