BREAKING NEWS

असम के लोगों से PM मोदी की अपील, बोले- कोई नहीं छीन सकता आपके अधिकार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: तीसरे चरण में 17 सीटों पर 9 बजे तक 13 फीसदी मतदान◾झारखंड विधानसभा चुनाव : PM मोदी ने मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान का किया आग्रह◾गोवा : CM प्रमोद सावंत ने संसद में CAB पारित होने पर प्रधानमंत्री को दी बधाई◾नागरिकता बिल पर असम में व्यापक विरोध प्रदर्शन, कई जिलों में इंटरनेट बंद◾राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को निकट भविष्य में अदालत में चुनौती दी जाएगी : सिंघवी ◾नागरिकता विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर भाजपा ने खुशी जताई ◾सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो जाएगा CAB : चिदंबरम ◾नागरिकता विधेयक पारित होना संवैधानिक इतिहास का काला दिन : सोनिया गांधी◾मोदी सरकार की बड़ी जीत, नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में हुआ पास◾ राज्यसभा में अमित शाह बोले- CAB मुसलमानों को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं◾कांग्रेस का दावा- ‘भारत बचाओ रैली’ मोदी सरकार के अस्त की शुरुआत ◾राज्यसभा में शिवसेना का भाजपा पर कटाक्ष, कहा- आप जिस स्कूल में पढ़ रहे हो, हम वहां के हेडमास्टर हैं◾CM उद्धव ठाकरे बोले- महाराष्ट्र को GST मुआवजा सहित कुल 15,558 करोड़ रुपये का बकाया जल्द जारी करे केन्द्र◾TOP 20 NEWS 11 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾कपिल सिब्बल ने राज्यसभा में कहा- विभाजन के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार बताने पर माफी मांगें अमित शाह◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ असम में भड़की हिंसा, पुलिस ने चलाई रबड़ की गोलियां◾

विदेश

मदरसों पर अंकुश लगाने की तैयारी में पाकिस्तान

 safqut mohbad

पाकिस्तान के शिक्षा मंत्री शफकत महमूद ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान मदरसों व धार्मिक स्कूलों को बंद करने और चरमपंथी शिक्षण पर अंकुश लगाने की योजना पर सहमत हो गया है। इस फैसले से लंबे समय से चली आ रही चिंताएं दूर हो सकती हैं क्योंकि पाकिस्तान में लगभग 30 हजार मदरसे धार्मिक अध्ययन के तौर पर एक कठोर पाठ्यक्रम के साथ चरमपंथी शिक्षण को बढ़ावा देते हैं, जोकि स्नातक होने के बाद छात्रों को रोजगार के लिए तैयार करने में विफल रहते हैं।

मदरसा का प्रमुख संगठन वफाक-उल-मदारिस ने इस योजना पर सहमति जताई है। योजना के तहत मदरसा एवं अन्य धार्मिक स्कूल अंग्रेजी, विज्ञान और गणित जैसे विषयों में पारंपरिक शिक्षण को मजबूत करने में मदद करेंगे। महमूद ने कहा, 'किसी भी धर्म या संप्रदाय के खिलाफ किसी भी तरह के घृणास्पद शब्दों का प्रचार नहीं किया जाएगा।" प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारी अंतर्राष्ट्रीय दबाव का सामना करते हुए पाकिस्तान क्षेत्र से सक्रिय आतंकवादी समूहों पर शिकंजा कसने के लिए इस साल की शुरुआत में मदरसों को मुख्यधारा में शामिल करने संबंधी योजना की घोषणा की थी। 

करीब दो दशक पहले पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के कार्यकाल के समय भी इसी तरह के कई प्रयास किए गए थे। पाकिस्तान जैसे रूढ़िवादी देश में मदरसों पर अंकुश लगाने के संभावित जोखिमों पर महमूद ने कहा कि सरकार मदरसों के साथ टकराव नहीं चाह रही है, जोकि अक्सर गरीब परिवारों के लिए शिक्षा उपलब्ध कराने का एकमात्र विकल्प है। उन्होंने कहा, "हम मदरसा पर कब्जा नहीं करना चाहते। बदलाव धीरे-धीरे होगा। मदरसा के पहले ग्रुप की परीक्षा अगले साल होगी।" 

मोदी शासन में अगले पांच साल में होंगे कई बदलाव : जी किशन रेड्डी