BREAKING NEWS

पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल : पुलिस अधिकारी पदमुक्त, सरकार ने जारी किया 'कारण बताओ नोटिस'◾कोविड-19 को लेकर बोली दिल्ली सरकार - दिल्ली में शुरू हो चुका है कोरोना का डाउनट्रेंड◾शिरोमणि अकाली दल ने किया ऐलान - दिल्ली में बीजेपी गठबंधन के सभी पद छोड़ेगा अकाली दल◾अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न मुद्दों पर स्थिति की समीक्षा की◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 11,921 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 13.51 लाख के पार ◾IPL-13: डिविलियर्स-फिंच का तूफानी अर्धशतक, बेंगलोर ने मुंबई को दिया 202 रनों का लक्ष्य ◾रक्षा मंत्रालय बड़ा फैसला - 2,290 करोड़ रुपये के सैन्य उपकरणों की खरीद को मंजूरी दी ◾प. बंगाल के राज्यपाल की ममता सरकार को चेतावनी - संविधान की रक्षा नहीं हुई तो कार्रवाई होगी◾‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत प्रधानमंत्री मोदी उत्तराखंड में छह बड़ी परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾सचिन पायलट का केन्द्र सरकार पर वार - चुनौतीपूर्ण समय में किसानों के साथ किया विश्वासघात◾कोरोना महामारी ने किसी एक स्रोत पर वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की निर्भरता के जोखिम को उजागर किया : मोदी ◾RCB vs MI: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर चुनी गेंदबाजी, आरसीबी को दिया बल्लेबाजी का न्योता◾रियल एस्टेट सेक्टर पर कोरोना की भारी मार, जुलाई-सितंबर के दौरान घरों की बिक्री 61 प्रतिशत घटी ◾3 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी अटल सुरंग रोहतांग का करेंगे उद्घाटन, सामरिक रूप से है बेहद खास ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नयी रक्षा खरीद प्रक्रिया को किया जारी, स्वदेशी उत्पादन को मिलेगा बढ़ावा ◾सुशांत केस को लेकर सीबीआई का बयान- हर पहलू से की जा रही है जांच◾भारत में 50 लाख से अधिक कोरोना मरीज हुए संक्रमण मुक्त, रिकवरी रेट पहुंचा 82.58 प्रतिशत◾शिवसेना का राजग पर निशाना : इस गठबंधन में अब राम नहीं बचे हैं, जिसने अपने दो शेर खो दिये हैं ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : खुल सकते है पर्यटन स्थल और सिनेमा हॉल,मिल सकती है अधिक छूट ◾केंद्र का सुप्रीम कोर्ट में जवाब : टाली गई किस्तों पर बैंकों के ब्याज में छूट को लेकर निर्णय जल्द ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार

पाकिस्तान में सुप्रीम कोर्ट कार्यालय ने देशद्रोह मामले में पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को दी गई सजा के खिलाफ उनकी तरफ से दायर याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। एक विश्वस्त सूत्र ने शुक्रवार को बताया कि कोर्ट ऑफिस ने इस आधार पर अपील लौटा दी कि जबतक याचिकाकर्ता आत्मसमर्पण नहीं कर देता, उसकी याचिका पर विचार नहीं किया जाएगा। 

मुशर्रफ के वकील अब जल्द ही याचिका लौटाने के रजिस्ट्रार के फैसले के खिलाफ अपील कर सकते हैं। मुशर्रफ ने इस्लामाबाद की विशेष अदालत द्वारा 17 दिसंबर 2019 को दिए गए फैसले के खिलाफ गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। विशेष अदालत ने देशद्रोह मामले में मुशर्रफ को मौत की सजा सुनाई थी। 

बैरिस्टर सलमान सफदर द्वारा दायर याचिका में कहा गया था कि मामले की सुनवाई संविधान का उल्लंघन करते हुए हुई थी, इसलिए इस फैसले को रद्द कर दिया जाना चाहिए। अपील में सुनवाई के दौरान अनुपस्थित रहने की स्थिति में सुप्रीम कोर्ट से मामले की बहस को सुनने का अधिकार मांगा गया है, इसके अलावा न्याय और निष्पक्षता के हित में फैसले पर रोक लगाने की मांग की गई। 

ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत

सूत्रों के अनुसार, दिसंबर में विशेष अदालत का यह फैसला पाकिस्तान के इतिहास का पहला फैसला था, जिसमें किसी पूर्व सैन्य प्रमुख को देशद्रोह के मामले में दोषी करार देकर मौत की सजा सुनाई गई हो। मामले की सुनवाई शुरू होने के छह साल बाद मुशर्रफ को मौत की सजा सुनाई गई। 

तीन नवंबर, 2007 में संविधान रद्द कर पूर्व राष्ट्रपति ने देश में आपातकाल लागू कर दिया था, जिसपर पाकिस्तान मुस्लिम लीग - नवाज (पीएमएल-एन) सरकार ने मामला दर्ज किया था। पूर्व सैन्य प्रमुख फिलहाल दुबई में हैं। पिछले महीने तबियत बिगड़ने के बाद से वे अस्पताल में भर्ती हैं।