BREAKING NEWS

कर्नाटक में गिरी कुमारस्वामी सरकार, विश्वास प्रस्ताव के पक्ष पड़े 99 वोट ◾खुशी से पद छोड़ने को तैयार हूं : कुमारस्वामी ◾बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए PM, यूरोपीय संघ से देश को बाहर निकालना होगी बड़ी चुनौती◾कश्मीर मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और इमरान खान को मिलकर करनी चाहिए पहल - फारुख अब्दुल्ला◾Top 20 News 23 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾भाजपा ने ट्रंप के दावे पर विपक्ष के रूख को गैर जिम्मेदाराना बताया ◾कर्नाटक संकट: भाजपा ने कुमारस्वामी पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का लगाया आरोप◾गृह मंत्रालय ने घटाई लालू यादव, चिराग पासवान समेत कई बड़े नेताओं की सुरक्षा◾SC ने NRC प्रकाशन की समय सीमा बढ़ाई, 20 फीसदी नमूनों के पुन: सत्यापन का अनुरोध ठुकराया◾PM मोदी देश को बताएं कि उनकी ट्रंप से क्या बात हुई थी : राहुल गांधी◾SC ने आम्रपाली समूह का रेरा पंजीकरण किया रद्द, NBCC को लंबित परियोजनाएं पूरी करने का निर्देश◾ट्रंप के दावे पर लोकसभा में विपक्षी सदस्यों का हंगामा, PM से जवाब देने की मांग की◾ट्रंप के बयान पर संसद में हंगामा, जयशंकर ने कहा- मोदी ने नहीं की मध्यस्थता की बात◾RTI कानून खत्म करना चाहती है सरकार, हर नागरिक होगा कमजोर : सोनिया गांधी ◾कश्मीर पर मध्यस्थता की ट्रंप की पेशकश का इमरान खान ने किया स्वागत, कहा- इसे दो पक्ष नहीं सुलझा सकते◾PM मोदी जवाब दें कि मध्यस्थता की पेशकश की या ट्रंप की बात झूठ है : कांग्रेस◾कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका का यू-टर्न, बोला- ये भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा◾अखिलेश यादव को बड़ा झटका, ‘ब्लैक कैट’ सुरक्षा कवच वापस लेगा केंद्र◾जानिए आखिर योगी आदित्यनाथ को यूपी में क्यों कहा जाता है 'एनकाउंटर मैन'?◾लोकसभा अध्यक्ष आज कर सकते हैं संसद सत्र के विस्तार की घोषणा : सूत्र◾

विदेश

PM इमरान खान बोले- उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान को निवेश की जरूरत

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को कहा कि देश की आय बढ़ाने तथा यहां रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए और ज्यादा उद्योगों को स्थापित करने की जरूरत है जिसके लिए पाकिस्तान को स्थानीय और विदेशी निवेश की आवश्यकता है। 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, कराची में देश में व्यापारियों और उद्योगपतियों के साथ बैठक करने के बाद मीडियाकर्मियों से अपनी बातचीत में प्रधानमंत्री ने अपने विचार रखे। प्रधानमंत्री ने कहा, हमने औद्योगीकरण को बढ़ावा देने के लिए ऋण लेने की अपेक्षा निवेश की मूल नीति को अपनाया है क्योंकि हमें लगता है कि आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहे देश की इसी तरह सहायता की जा सकती है। 

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार निवेशकों को हर संभव सुविधा देने की कोशिश कर रही है। खान ने कहा कि उनकी सरकार देश में निवेशकों को लाकर, तंत्र में सुधार लाकर उनके सामने आने वाली रुकावटों को हटाकर, उन्हें सस्ती बिजली और गैस उपलब्ध कराकर प्रोत्साहन देकर 'व्यापार करने में आसानी' की नीति को बढ़ावा दे रही है। 

खान ने माना कि औद्योगीकरण का विस्तार करने से निर्यात और व्यापारिक गतिविधियां बढ़ेंगी और इससे अंतर्राष्ट्रीय ऋणदाताओं से और ज्यादा ऋण मांग रहे पाकिस्तान को मदद मिलेगी। खान ने पाकिस्तान से निर्यात को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण मदद करने के लिए विशेष रूप से चीन की प्रशंसा करते हुए कहा कि चीन ने पिछले साल के दौरान बड़े आर्थिक संकट की संभावना को दरकिनार करने में पाकिस्तान की वास्तव में बहुत सहायता की।