BREAKING NEWS

केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾केरल विमान हादसा : कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे पर विमान फिसलने से अब तक 18 लोगों की मौत◾कोझीकोड में हुए विमान हादसे पर PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख, कहा- हादसे से व्यथ‍ित हूं◾केरल के कोझीकोड एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला विमान, दो हिस्सों में टूटा, पायलट और को-पायलट समेत 17 लोगों की मौत◾महाराष्ट्र में कोरोना से 300 लोगों की मौत, 10483 नए मामले की पुष्टि◾सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती की याचिका में पक्षकार बनने के लिये केन्द्र ने न्यायालय में दी अर्जी◾असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही को लेकर SC में याचिका दायर ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,192 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.42 लाख के पार ◾केरल में भूस्खलन की घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जताया दुख, कांग्रेस कार्यकर्ताओं से राहत बचाव कार्य में मदद करने की अपील की◾सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ मेदांता अस्पताल में भर्ती◾देश में 24 घंटे के भीतर कोरोना से 49 हजार 769 मरीज हुए ठीक, मृत्यु दर घटकर 2.05 % हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय◾यूपी में 24 घंटे में कोरोना से 63 लोगो की मौत, 4404 नए मामले◾मुझे नहीं, सुशांत मामले की जांच को किया गया था क्वारंटाइन : IPS विनय तिवारी◾शपथ ग्रहण के बाद बोले उपराज्यपाल सिन्हा-अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद मुख्यधारा में आया J&K◾CM केजरीवाल ने दिल्ली में इलेक्ट्रिक व्हीकल पॉलिसी का किया ऐलान◾केरल में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात, इडुक्की में भूस्खलन से 5 लोगों की मौत ◾सुशांत सुसाइड केस : रिया चक्रवर्ती ED के सामने हुई पेश, एजेंसी ने मोहलत देने से किया इंकार◾नई शिक्षा नीति : PM मोदी- 'हाऊ टू थिंक' पर दिया जा रहा है बल, नए भारत की फाउंडेशन की एक कोशिश◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हांगकांग से जान बचाकर भागी वैज्ञानिक ने खोली चीन की पोल, कहा - कोरोना की जानकारी छुपाई गयी

विश्व भर में त्राहि-त्राहि मचाने वाली महामारी कोविड-19 को लेकर हांगकांग विषाणु वैज्ञानिक लि.मेंग येन ने देश छोड़ने से पहले आरोप लगाया कि चीन को कोरोना वायरस के बारे में पहले से जानकारी थी और उसने इस जानकारी को छिपाया। 

हांगकांग के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वायरस विज्ञान और इम्यूनॉलजी की विशेषज्ञ डॉ। येन ने हांगकांग छोड़ने से पहले फाक्स न्यूज को दिये साक्षात्कार में यह भी आरोप लगाया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसकी जानकारी होने के बावजूद इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा, ‘‘दिसंबर में ही पता चल गया था यह वायरस मनुष्य में फैल सकता है।’’ डॉ येन ने संगठन के सलाहकार प्रोफेसर मलिक पेरिस पर भी आरोप लगाया कि जानकारी होने के बावजूद प्रोफेसर ने इस बारे में कोई कदम नहीं उठाया। पेरिस संगठन से मान्यता-प्राप्त एक प्रयोगशाला के सह-निदेशक भी हैं। उन्होंने कहा, ' मैं मानती हूं कि चीन की सरकार ने जब कोरोना वायरस के बारे में दावा किया, उसे वायरस के संबंध में इससे पहले से इस बारे में पूरी जानकारी थी।' उन्होंने कहा, 'दिसंबर में एसएआरएस वायरस पर अध्ययन किया गया था।' उन्होंने आरोप लगाया है कि चीन उनकी छवि खराब करने का प्रयास कर रहा है। फिलहाल वह अपनी जान बचाकर हांगकांग से भागी हुई हैं। वह विश्व के उन गिने चुने विशेषज्ञों में से एक हैं जिन्होंने सबसे पहले कोरोना वायरस पर अध्ययन किया था। 

कोरोना वायरस का आज पूरे विश्व में भयानक प्रकोप है। विश्व महाशक्ति अमेरिका इससे सबसे अधिक त्रस्त है। विश्व में कोरोना वायरस के एक करोड़ से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और पांच लाख से ज्यादा की यह संक्रमण जान ले चुका है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प तो इसे खुल्लमखुल्ला चीनी वायरस कह चुके हैं। चीन हालांकि लगातार इंकार करता रहा है कि वायरस का जनक वह है।