BREAKING NEWS

आज का राशिफल (15 अगस्त 2022)◾Independence Day : प्रधानमंत्री मोदी आज लाल किले की प्राचीर से फहराएंगे तिरंगा, सुरक्षा ऐसी व्यवस्था की परिंदा भी पर न मार सके◾J&K : कश्मीर में आतंकवादियों के घरों पर तिरंगा फहराया◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ने राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में भारत की सफलता की कहानी पर प्रकाश डाला◾उपराष्ट्रपति ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को दी बधाई ◾PM मोदी 15 अगस्त को प्रमुख स्वास्थ्य परियोजनाओं की कर सकते हैं घोषणा◾ममता ने Modi सरकार पर साधा निशाना , कहा -गैर-राजग शासित राज्यों में सरकार गिराने की कोशिश कर रही है BJP◾हमने तरक्की की, पर कई देश भारत से आगे निकल गए भारत पीछे क्यों रह गया : AK◾जम्मू-कश्मीर : 'छड़ी-मुबारक' 'पूजन' और 'विसर्जन' के साथ वार्षिक अमरनाथ यात्रा का समापन◾राष्ट्रपति मुर्मू ने वीरता पुरस्कारों को मंजूरी दी; सेना के स्वान एक्सेल की सेवा को भी सराहा गया◾राजस्थान में दलित बच्चे की पिटाई करने के मामले में आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए : राहुल◾स्वतंत्रता दिवस से पहले पंजाब पुलिस ने दिल्ली पुलिस की मदद से बड़े आतंकी खतरे को किया नाकाम ◾स्वतंत्रता दिवस : दिल्ली से लेकर कश्मीर तक सुरक्षा के चाक चौबंद इंतज़ाम◾J&K : श्रीनगर के नौहट्टा इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी घायल◾एकनाथ का ऐलान - ‘वास्तविक’ शिवसेना और भाजपा मिलकर महाराष्ट्र में निकाय चुनाव लड़ेंगे◾J&K : श्रीनगर में 1850 मीटर लंबा तिरंगा प्रदर्शित किया गया, अधिकारियों ने बताया इसे देश में सबसे लंबा झंडा ◾भाकपा ने कहा- सम्मानजनक प्रतिनिधित्व मिलने पर नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में शामिल होंगे◾भारत ने दुनिया को लोकतंत्र की वास्तविक क्षमता का पता लगाने में मदद की: राष्ट्रपति मुर्मू◾Delhi: केजरीवाल ने कहा- ऊंचाई वाले 500 स्तंभों पर झंडा लहराने के साथ दिल्ली ‘तिरंगे का शहर’ बन गया◾मध्यप्रदेश : शहर की 80 फीसदी सरकार पर भी भाजपा का कब्जा ◾

UN में पुतिन के खिलाफ दिखी एकजुटता, रूस के विदेश मंत्री के भाषण के दौरान कई देशों ने किया वॉकआउट

यूक्रेन के साथ रूस को युद्ध करना काफी भारी पड़ा रहा है। इसके साथ ही रूस को दुनिया में अलग-थलग करने की कोशिश की जा रही है। ताजा जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को इसका नजारा संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की मीटिंग में भी देखने को मिला। इस मीटिंग को जैसे ही रूसी विदेश मंत्री सेरेजे लावरोव ने संबोधित करना शुरू किया कई देशों के नेता उठकर चले गए।  

यह रूस पर दबाव बनाने की एक कोशिश थी 

दरअसल लावरोव का पहले से रिकॉर्ड वीडियो संदेश प्ले किया जाना था, जिसकी शुरुआत होते ही कई देशों के नेता छोड़कर निकल गए। यह रूस पर दबाव बनाने की एक कोशिश थी। वॉकआउट का नेतृत्व करने वाले यूक्रेन के राजदूत येवहेनिया फिलिपेंको ने कहा, 'यूक्रेनियों के लिए आपके समर्थन के लिए हम बहुत धन्यवाद करते हैं। आपने उनकी आजादी के लिए यह समर्थन किया है।' 

इससे बड़े पैमाने पर लोगों की मौत हो रही है और मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है 

फ्रांस के राजदूत जेरोमे बेनाफॉन्ट ने कहा कि किसी भी तरह का हमला होना मानवाधिकार का उल्लंघन है। इससे बड़े पैमाने पर लोगों की मौत हो रही है और मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस वॉकआउट से साफ है कि मानवाधिकार परिषद यूक्रेन और उसके लोगों के साथ है। इससे कुछ वक्त पहले ही निरस्त्रीकरण को लेकर भी एक कॉन्फ्रेंस में लावरोव का भाषण प्रसारित होना था, उसका भी बायकॉट यूरोपीय देशों की ओर से किया गया था। चेंबर के बाहर कई देशों के राजनयिक जुटे थे और वहां यूक्रेन का झंडा लहरा रहा था। यहां उन्होंने जमकर यूक्रेन की सराहना की और रूस की निंदा करते दिखाई दिए।  

सामने आया Indian Embassy द्वारा नागरिकों की नजरअंदाजी का मामला, मृत छात्र के पिता ने लगाया आरोप

इन देशों के राजनयिकों ने किया वॉकआउट 

हालांकि इस बायकॉट के दौरान भी यमन, सीरिया, वेनेजुएला और ट्यूनीशिया के राजनयिक बैठे रहे और रूसी विदेश मंत्री का बयान सुनते रहे। रूस के विदेश मंत्री को मंगलवार को जिनेवा में मीटिंग में शामिल होने के लिए पहुंचना था। लेकिन यूरोपीय देशों की ओर से बैन लगाए जाने का हवाला देते हुए उन्होंने अपनी यात्रा कैंसिल कर दी। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने रूस पर युद्ध अपराध करने का आरोप लगाया है। मंगलवार को उन्होंने एक वीडियो संदेश जारी कर कहा कि रूस ने आम नागरिकों की हत्या की है। उन्होंने कहा कि रूस की इस क्रूरता को न कोई भूलेगा और न ही माफ करेगा। 

यूक्रेन के 70 से ज्यादा सैनिक मारे गए  

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग में लगातार दोनों देशों के सैनिकों और आम लोगों की मौत हो रही है। जंग के छठे दिन हुए ताज़ा रूसी हमले में यूक्रेन के 70 से ज्यादा सैनिकों के मारे जाने की खबर है। रूसी तोप से यूक्रेन के मिलिट्री बेस पर हमला किया गया, जिसमें बड़ी तादाद में सैनिकों की मौत हो गई। हमला ओखतिरका में हुआ। ये शहर खारकीव और कीव के बीच बसा हुआ है। इस हमले की जानकारी ओखतिरका के गवर्नर मित्रो ज़िवित्सकी ने फेसबुक पर दी है।