BREAKING NEWS

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में भीड़ ने मंदिर पर किया हमला, सख्त हुई मोदी सरकार, राजनयिक को किया तलब◾संघर्षविराम के बावजूद 140 आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में घुसने का कर रहे इंतजार, अधिकारी ने बताया ◾रवि दहिया को हरियाणा सरकार देगी 4 करोड़ रुपये, गांव में स्टेडियम भी बनेगा◾तोक्यो ओलंपिक : अंतिम 10 सेकंड में ब्रॉन्ज से चूके दीपक पुनिया◾ममता ने PM को लिखा पत्र, कहा- वैक्सीन की आपूर्ति नहीं बढ़ाई गई तो कोरोना की स्थिति हो सकती है गंभीर ◾ओलंपिक (कुश्ती) : फाइनल में गोल्ड से चूके रवि दहिया, रजत पदक से करना पड़ेगा संतोष◾मिजोरम और असम ने सीमा विवाद पर की वार्ता, सौहार्द्रपूर्ण तरीके से मुद्दे का समाधान करने को हुए सहमत ◾5 अगस्त को हमेशा याद रखेगा देश, 'सेल्फ गोल' करने में जुटा है विपक्ष : PM मोदी◾ ऐतिहासिक जीत के बाद PM ने टीम के कप्तान से फोन पर की बात, कहा- गजब का काम किया , पूरा देश नाच रहा है◾देश के सामने बेरोजगारी सबसे बड़ा मुद्दा, रोजगार के बारे में एक शब्द नहीं बोलते प्रधानमंत्री : राहुल गांधी◾पेगासस केस पर SC ने कहा- जासूसी के आरोप यदि सही हैं तो क्यों नहीं करवाई FIR, मामला गंभीर◾संसद में पेगासस विवाद समेत कई मुद्दों का लेकर विपक्ष केंद्र पर हमलवार, राज्यसभा की बैठक स्थगित◾भारतीय हॉकी टीम के कोच बोले - ये अहसास अद्भुत, प्लेयर्स ने ऐसे बलिदान दिए है जो किसी को नहीं पता◾कांग्रेस का केंद्र पर आरोप - विपक्ष को बाहर निकाल कर सदन चलाना चाहती है सरकार, हम नहीं झुकेंगे ◾UP चुनाव को धार देने के लिए सपा ने निकाली साइकिल यात्रा, अखिलेश का दावा- हम जीतेंगे 400 सीटें◾संसद में कांग्रेस का एक सीधा मंत्र है 'परिवार का हित', हमें भी उनसे पूछने हैं तीखे सवाल : BJP◾पंजाब चुनाव से पहले प्रशांत किशोर ने 'प्रधान सलाहकार' पद से दिया इस्तीफा◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 42982 नए केस की पुष्टि, 533 मरीजों की मौत◾हॉकी में भारत की जीत पर टीम को बधाई देने वालों का लगा तांता, PM समेत कई दिग्गज नेताओं ने दी शुभकामनाएं◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों की संख्या 20 करोड़ के पार, 42.5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कैपिटल बिल्डिंग में हिंसा की ट्रंप ने की निंदा, बोले-ये लोग हमारे देश का प्रतिनिधित्व नहीं करते

अमेरिका में ट्रंप समर्थकों द्वारा कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में जबरन घुसपैठ और हिंसा में 4 लोगों की मौत हुई है। इस घटना पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बयान सामने आया है। उन्होंने इस हमले की निंदा करते हुए नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को सत्ता का व्यवस्थित और सुगम हस्तांतरण करने का ऐलान किया है। इसके साथ ही ट्रंप ने इस हिंसा में शामिल लोगों के लिए कहा कि हिंसा और विनाशकारी गतिविधियों में लिप्त लोग हमारे देश का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। 

व्हाइट हाउस ने गुरुवार को ट्रंप का यह वीडियो जारी किया। इसे यूट्यूब पर पोस्ट किया गया है। इसमें ट्रंप कहते नजर आ रहे हैं, ‘‘सभी अमेरिकी लोगों की तरह, मैं भी हिंसा, अराजकता और उत्पात से हैरान और दुखी हूं। भवन की सुरक्षा तथा घुसपैठियों को बाहर निकालने के लिए मैंने तुरंत ही राष्ट्रीय गार्ड और संघीय कानून प्रवर्तन एजेंसी की तैनाती की।’’ 

इसमें उन्होंने कहा कि कैपिटल में घुसने वाले प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका के लोकतंत्र के मंदिर को अपवित्र किया है। उन्होंने कहा, ‘‘हिंसा और विनाशकारी गतिविधियों में लिप्त लोग हमारे देश का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। जिन्होंने कानून तोड़ा, उन्हें इसका खामियाजा भुगतना होगा। हम अभी हाल में एक चुनाव से गुजरे हैं और लोगों की भावनाएं उफान पर हैं लेकिन अब अपने गुस्से को ठंडा करना होगा तथा अमन बहाल करना होगा।’’ 

आखिरकार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्वीकारी हार, कहा- 20 जनवरी को सुचारु तरीके से सोपेंगे सत्ता

अमेरिका में लोकतंत्र पर एक अप्रत्याशित हमले में, बुधवार को निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हजारों समर्थकों ने वाशिंगटन डीसी स्थित कैपिटल (अमेरिकी संसद भवन) पर हमला किया और पुलिस के साथ भी उनकी झड़प हुई थी। इसमें चार लोगों की जान चली गई थी। इस दौरान ट्रंप समर्थकों ने संसद के संयुक्त सत्र को बाधित करने का प्रयास किया जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की जीत की पुष्टि होनी थी। 

ट्रंप ने चुनाव परिणाम को स्वीकार करते हुए बाइडन को सत्ता के सुगम हस्तांतरण का संकल्प भी लिया। निवर्तमान राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हमें अमेरिका के लिए काम करते रहना चाहिए। मेरे अभियान दल ने चुनाव परिणामों के खिलाफ हर कानूनी कदम उठाया। मेरा एकमात्र लक्ष्य था चुनाव की सत्यनिष्ठा और निष्पक्षता को बरकरार रखना और ऐसा करते हुए मैं अमेरिका के लोकतंत्र को बचाने के लिए लड़ रहा था।’’ 

ट्रंप ने कहा कि उनका यह मानना है कि अमेरिका को चुनाव संबंधी कानूनों में सुधार करना चाहिए ताकि सभी मतदाताओं की पहचान और योग्यता का सत्यापन हो सके और भावी चुनावों में भरोसा और निष्ठा बनी रह सके। ट्रंप ने कहा कि 2020 अमेरिकियों के लिए चुनौतीपूर्ण रहा है और अब वक्त उबरने का और मेल-मिलाप का है। उन्होंने कहा, ‘‘महामारी ने हमारे लोगों की जिंदगियों को बरबाद कर दिया, लाखों लोगों को इसकी वजह से अपने घरों में बंद होना पड़ा, हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा तथा अनगिनत लोगों की जान चली गई।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘इस महामारी को हराने और दुनिया की सबसे महान अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा। देशभक्ति, विश्वास, परोपकार, समुदाय और परिवार जैसे मूल्यों पर नए सिरे से जोर देने की जरूरत है।’’ इससे पहले व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायली मैकनेनी ने संवाददाताओं से कहा था कि कैपिटल हिल में हुई हिंसा भयावह और निंदनीय तथा अमेरिकी मूल्यों की विरोधाभासी थी। उन्होंने कहा, ‘‘हम, राष्ट्रपति तथा उनका प्रशासन इसकी कड़ी निंदा करता है। यह अस्वीकार्य है तथा कानून तोड़ने वालों पर कानून के तहत मामला चलाया जाना चाहिए।’’

 मैकनेनी ने कहा, ‘‘कैपिटल को हिंसक तरीके से घेरने वाले लोग हर उस चीज के विरोधी हैं जिसका यह प्रशासन समर्थन करता है। हमारा प्रशासन मानता है कि सभी नागरिकों को सुरक्षित, शांति और आजादी से जीने का अधिकार है।’’ ट्रंप ने कहा, ‘‘आपके राष्ट्रपति के तौर पर सेवाएं देना मेरे जीवन का सबसे बड़ा सम्मान है।’’