BREAKING NEWS

आतंकी मॉड्यूल : ISI प्रशिक्षित आतंकवादी भारत में पुलों, रेलवे पटरियों को उड़ाने वाले थे - आधिकारिक सूत्र◾केशव प्रसाद मौर्य ने सपा पर साधा निशाना , कहा - रोजा-इफ्तार पार्टी करने वाले अब मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं◾RSS पर विवादित बयान देने पर राहुल पर प्राथमिकी दर्ज करने पर विचार कर रहे हैं नरोत्तम मिश्रा◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे के दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट की सराहना की◾SC, ST, OBC , अल्पसंख्यक, महिलाओं के लिए योजनाओं को लेकर केंद्र ने GoM का किया गठन◾केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल शुक्रवार को दिल्ली में करेगा प्रदर्शन ◾कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गोवावासियों को संबोधित करेंगे PM मोदी◾भारत ने अमेरिका में खालिस्तानी अलगाववादी समूहों की गतिविधियों पर चिंता व्यक्त की◾कोविड-19 की बूस्टर खुराक फिलहाल केंद्रीय विषय नहीं : केंद्र◾गुजरात : CM भूपेंद्र पटेल ने अपने पास रखे कई मंत्रालय, कनुभाई देसाई को वित्त विभाग की जिम्मेदारी सौंपी◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कोरोना महामारी के समय जनधन-आधार-मोबाइल की तिगड़ी पासा पलटने वाली साबित हुई◾विराट कोहली ने किया बड़ा ऐलान, विश्व कप के बाद छोड़ेंगे टी-20 प्रारूप की कप्तानी◾एक समय था जब गुजरात को कहा जाता था कर्फ्यू राजधानी, BJP सरकार ने मजबूत की कानून-व्यवस्था : शाह◾कांग्रेस ने ICMR पर कोरोना से जुड़े तथ्य छिपाने का लगाया आरोप, आपराधिक जांच की मांग की ◾BJP ने राहुल को बताया 'इच्छाधारी हिंदू', कहा- जब व्यक्ति का ‘मूल पिंड’ विदेशी हो, तो रहती है ये विसंगती ◾PM मोदी के जन्मदिन पर दिव्यांगों को मिलेगी सौगात, गुजरात में शुरू होगी ‘मोबाइल वैन’ सेवा◾अमेरिकी दूत का दावा- असरफ गनी के अचानक बाहर निकलने से तालिबान का सत्ता बंटवारा समझौता ठप◾गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾हैदराबाद रेप-मर्डर : रेलवे ट्रैक पर मिली आरोपी की लाश, 6 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

व्हाइट हाउस से विदा हुए ट्रंप, बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं गए

डोनाल्ड ट्रंप बुधवार को जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हुए और अंतिम बार राष्ट्रपति के तौर पर व्हाइट हाउस से विदा लेते हुए फ्लोरिडा स्थित अपने स्थायी आवास ‘मार-आ-लागो एस्टेट’ के लिए विमान से रवाना हो गए। ट्रंप (74) ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह बाइडन के राष्ट्रपति और कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति पद के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे।

ट्रंप से पूर्व एंड्रयू जॉनसन ने 1869 में नये राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लिया था। व्हाइट हाउस से विदा होने से पहले उन्होंने कहा, ‘‘यह जीवन भर के लिए सम्मान की बात है।’’ ट्रंप राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर ‘मरीन वन’ से व्हाइट हाउस से विदा हुए।

रिपब्लिकन ट्रंप को दूसरी बार राष्ट्रपति चुनाव में जीत नहीं मिली। इससे पहले 1992 में जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश भी दूसरी बार व्हाइट हाउस नहीं पहुंच पाए थे। ट्रंप, मेरीलैंड में ज्वाइंट बेस एंड्रयूज में विदाई समारोह की मेजबानी करेंगे। इसके बाद एयर फोर्स वन विमान से पाम बीच पर स्थित अपने आवास के लिए रवाना होंगे।

निवर्तमान उपराष्ट्रपति माइक पेंस, ट्रंप के विदाई समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे। इसके बजाए पेंस, बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे। राष्ट्रपति के तौर पर अपने कार्यकाल के अंतिम घंटों में ट्रंप ने अपने पूर्व सलाहकार स्टीव बैनन समेत 140 से अधिक लोगों को क्षमादान दिया।

इस महीने ट्रंप के समर्थकों द्वारा कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) में उत्पात के कारण राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह के मद्देनजर वाशिंगटन डीसी में पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। ट्रंप ने मंगलवार को विदाई भाषण का वीडियो जारी किया था। आम तौर पर विदा हो रहे राष्ट्रपति के संबोधन का सीधा प्रसारण होता है।

अमेरिका को सुरक्षित और गौरवशाली बनाए रखने के लिए नए प्रशासन को कामयाबी की ‘शुभकामनाएं’ देते हुए ट्रंप ने अपने विदाई संबोधन में कहा कि अमेरिका को अपने साझा मूल्यों के लिए एकजुट रहना होगा और एक लक्ष्य के लिए मिलकर काम करना होगा। ट्रंप ने कहा कि वह ‘‘एक बार फिर अमेरिका को महान’’ बनाने के अपने अभियान की शुरुआत कर रहे हैं।

अपने संदेश में ट्रंप ने कहा कि राष्ट्रपति पद पर सेवाएं देना एक ऐसा सम्मान है जिसकी व्याख्या नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका को सुरक्षित रखने और समृद्ध बनाने के लिए उनकी (बाइडन की) सफलता की कामना करता हूं। हम उन्हें शुभकामनाएं देते हैं और चाहते हैं कि वे सौभाग्यशाली रहें।’’

ट्रंप ने 20 मिनट से कुछ कम वक्त के वीडियो में कैपिटल बिल्डिंग पर अपने समर्थकों के छह जनवरी के हमले पर भी बात की। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे कैपिटल (बिल्डिंग) पर हमले से सभी अमेरिकी आतंकित हो गए थे। यह उन सभी चीजों पर हमला है जिन पर एक अमेरिकी होने के नाते हम गौरव महसूस करते हैं।

इसे कभी भी बर्दाशत नहीं किया जा सकता अब पहले से कहीं ज्यादा हमें अपने साझा मूल्यों के इर्द-गिर्द एकजुट होना चाहिए और पक्षपातपूर्ण नफरत की भावना से ऊपर उठना चाहिए।’’ इस दौरान उन्होंने 20 जनवरी, 2017 से 20 जनवरी 2021 तक की अमेरिकी सरकार की अहम उपलब्धियों का जिक्र किया और कहा कि उनके प्रशासन ने किसी की सोच से भी कहीं ज्यादा हासिल किया।

ट्रंप अपने डेमोक्रेट प्रतिद्वंद्वी और अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडन (78) से हार गए लेकिन उन्होंने अपनी पराजय कभी स्वीकार नहीं की। इसके बजाए, वह चुनाव में धांधली के अपुष्ट आरोप लगाते रहे जिसे प्रशासन और उनकी रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सदस्यों ने ही खारिज कर दिया।

ट्रंप ऐसे राष्ट्रपति रहे जो इससे पहले किसी सार्वजनिक पद पर नहीं रहे और ना ही वह सेना में रहे। उन्होंने अपने समर्थकों से संवाद के लिए ट्विटर का भरपूर इस्तेमाल किया। हालांकि, कैपिटल बिल्डिंग पर हमले के बाद व्हाइट हाउस से रवाना होने तक उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर रोक लगा दी गयी थी।

राष्ट्रपति पद पर अपने कार्यकाल के दौरान उन्हें दो बार महाभियोग की कार्यवाही का भी सामना करना पड़ा। वह व्हाइट हाउस में ऐसी विरासत छोड़ गए हैं जो अमेरिकी राजनीतिक इतिहास में पहले कभी नहीं दिखी।