BREAKING NEWS

शाहीन बाग में नहीं निकला कोई हल, महिलाएं वार्ताकारों की बात से नाखुश◾राम मंदिर निर्माण : अमित शाह ने पूरा किया महंत नृत्यगोपाल से किया वादा◾उद्धव ठाकरे शुक्रवार को नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री से मिलेंगे ◾UP के 4 स्टेशनों के नाम बदले, इलाहाबाद जंक्शन हुआ प्रयागराज जंक्शन◾J&K प्रशासन ने महबूबा मुफ्ती के करीबी सहयोगी पर लगाया PSA◾ओवैसी के मंच पर प्रदर्शनकारी युवती ने लगाए 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पुलिस ने किया राजद्रोह का केस दर्ज◾भारत में लोगों को Trump की कुछ नीतियां नहीं आई पसंद, लेकिन लोकप्रियता बढ़ी - सर्वेक्षण◾दिल्ली सहित उत्तर के कई इलाकों में बारिश , फिर लौटी ठंड , J&K में बर्फबारी◾Trump की भारत यात्रा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने रूट पर CCTV कैमरे लगाने शुरू किए◾गांधी के असहयोग आंदोलन जैसा है सीएए, एनआरसी और एनपीआर का विरोध : येचुरी ◾AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में मंच पर पहुंचकर लड़की ने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे◾महिलाओं को सेना में स्थायी कमीशन मिलने से लैंगिक समानता लाने की दिशा में मिलेगी सफलता : सेना प्रमुख◾मुझे ISI, 26/11 आंतकी हमलों से जोड़ने वाले BJP प्रवक्ताओं के खिलाफ करुंगा मानहानि का दावा : दिग्विजय◾अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान का संदर्भ व्यापार संतुलन से था, चिंताओं पर ध्यान देंगे : विदेश मंत्रालय◾राम मंदिर ट्रस्ट ने PM मोदी से की मुलाकात, अयोध्या आने का दिया न्योता◾अयोध्या में बजरंगबली की शानदार और भव्य मूर्ति बनाने के लिए ट्रस्ट से करेंगे अनुरोध - AAP◾अमित शाह सीएए के समर्थन में 15 मार्च को हैदराबाद में करेंगे रैली ◾AMU के छात्रों ने मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ निकाला विरोध मार्च ◾भाकपा ने किया ट्रंप की यात्रा के विरोध में ‘प्रगतिशील ताकतों’, नागरिक संस्थाओं से प्रदर्शन का आह्वान◾TOP 20 NEWS 20 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

US ने 'ज़्यादा खतरे' वाले 11 देशों से हटाया प्रतिबंध

संयुक्त राज्य अमेरिका ने आज घोषणा की कि वह 11 \"उच्च जोखिम वाले\" देशों के शरणार्थियों पर लगाए प्रतिबंध को हटा रहा है। हालांकि साथ्‍ा ही यह भी कहा गया कि अमेरिका में प्रवेश करने वालों की पहले की तुलना में बहुत कड़ाई से जांच होगी। यानी नए नियमों के तहत 11 देशों के नागरिकों की पहले से और अधिक कठोरता से जांच होगी। आपको बता दे की इनमें सीरिया, सूडान, दक्षिण सूडान, माली, उत्तर कोरिया, सोमालिया, लीबिया, ईरान, इराक, यमन और मिस्र शामिल थे।

एक अधिकारी ने बताया कि अब इन देशों के शरणार्थियों को अमेरिका में प्रवेश करने को मंजूरी दी जा सकेगी। हालांकि, इन देशों के शरणार्थियों को अमेरिका में दाखिल होने से पहले विस्तृत जांच का सामना करना पड़ेगा।

अमेरिका के होमलैंड सुरक्षा सचिव क्रिस्टिन नेल्सन ने कहा कि हम लोग उच्च जोखिम वाले इन देशों के आवेदकों के लिए नए सुरक्षा उपाय लाएंगे, जिसके जरिए आतंकियों, अपराधियों और जालसाजों को इसका फायदा उठाने से रोका जाएगा। ’ हालांकि, उन्होंने इसके बारे में विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक कार्यकारी आदेश के जरिए 11 देशों के शरणार्थियों के अमेरिका आने पर रोक लगा दी थी। यह पाबंदी बीते साल अक्टूबर से 90 दिनों के लिए लागू हुई थी। इसके बाद अमेरिका आने वाले शरणार्थियों की संख्या में काफी गिरावट आ गई थी।

हालांकि, दिसंबर 2017 में एक फेडरल जज ने इस पाबंदी को आंशिक तौर पर हटा लिया था। सिएटल के जिला जज जेम्स रोबर्ट ने कहा था कि प्रशासन सुरक्षा जांच को पुख्ता बना सकता है, लेकिन शरणार्थियों के प्रवेश पर पाबंदी नहीं लगा सकता।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।