BREAKING NEWS

ट्रंप की भारत यात्रा को लेकर PM मोदी बोले - अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत को लेकर हिंदुस्तान उत्सुक◾ट्रम्प की थाली में परोसे जाएंगे गुजराती व्यंजन, सूची में खमण भी शामिल ◾नमस्ते ट्रंप : एयर इंडिया ने जारी की एडवाइजरी - यात्रियों को अहमदाबाद हवाईअड्डा जल्द पहुंचने की जरूरत◾भारत 24वां देश जिसके दौरे पर आ रहे हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप◾डिजिटल कंपनियों पर वैश्विक कर व्यवस्था समावेशी हो: सीतारमण ◾प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों के खाते में भेजे गए 50850 करोड़ रुपये◾ट्रम्प की यात्रा से दोनों देशों को मिलेगा एक-दुसरे को पहचानने का मौका : SBI प्रबंध निदेशक◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कश्मीर को लेकर पाक राष्ट्रपति की चिंताओं का समर्थन करने की बात से किया इनकार◾US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.40 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद◾Trump - Modi गुजरात में कल करेंगे रोड शो, एक लाख से अधिक लोगों की मौजूदगी में होगा ‘नमस्ते ट्रंप’, शाह ने की समीक्षा◾भारत के सामने गिड़गिड़ाया चीन, कहा- हमें उम्मीद है कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की वस्तुपरक समीक्षा करेगा◾इंडोनेशिया के विश्वविद्यालय में पढ़ाया जाएगा भाजपा का इतिहास ◾राष्ट्रपति ट्रम्प को आगरा के मेयर भेंट करेंगे 1 फुट लंबी चांदी की चाबी ◾ट्रंप को भेंट की जाएगी 90 वर्षीय दर्जी की सिली हुई खादी की कमीज◾‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले साबरमती आश्रम जाएंगे राष्ट्रपति ट्रम्प ◾तंबाकू सेवन की उम्र बढ़ाने पर विचार कर रही है केंद्र सरकार ◾TOP 20 NEWS 23 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में झड़प, जमकर हुई पत्थरबाजी, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले◾दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾

अमेरिका ने हमास प्रमुख को डाला आतंकवादी सूची में

अमेरिकी विदेश विभाग ने बुधवार को हमास नेता इस्माइल हनियेह का नाम आतंकवादी सूची में शामिल कर दिया है। हमास के राजनीतिक ब्यूरो के प्रमुख हनियेह को तीन अन्य समूहों के साथ विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी (एसडीजीटी) के रूप में घोषित किया है।

उनकी अमेरिकी अधिकार क्षेत्र में आने वाली संपत्तियों सहित सभी परिसंपत्तियों को जब्त कर दिया जाएगा और वह अमेरिका के किसी भी शख्स के साथ किसी भी तरह का लेनदेन नहीं कर पाएंगे।

वह अमेरिका की वित्तीय प्रणाली तक भी पहुंच नहीं बना पाएंगे। इस्लामिक हमास आंदोलन ने बुधवार को अमेरिका के इस फैसले की निंदा की। इस आंदोलन के नेता ने कहा कि वे अमेरिका के इस फैसले को बेतुका समझते हैं। हमास प्रवक्ता ने कहा कि यह फिलिस्तीन सशस्त्र प्रतिरोध पर दबाव बनाने का असफल प्रयास है।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।