BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

लॉकडाउन को लेकर बोले CM केजरीवाल- नियमों का पालन है जरूरी तभी कोरोना को हराया जा सकता है

चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर भारत में भी फैल चुका है। इस वायरस के फैलाव को रोकने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर 23 मार्च को सुबह छह बजे से राजधानी में लॉकडाउन की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद सोमवार यानि आज सुबह से दिल्ली में लॉकडाउन की स्थिति कायम है लेकिन कुछ लोगों की लापरवाही को देखते हुए मुख्यमंत्री ने कहा हमने आज से लॉकडाउन का चरम कदम उठाया है। क्यों? क्योंकि मुझे यकीन है कि अगर हम एकजुट लड़ाई लड़ते हैं तो हम कोरोना को हरा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि "हमने आज से लॉकडाउन का चरम कदम उठाया है। क्यों? मुझे आपके सहयोग की आवश्यकता है। आपके कुछ सामान्य प्रश्नों के उत्तर। मुझे यकीन है कि अगर हम एकजुट लड़ाई लड़ते हैं तो हम कोरोना को हरा सकते हैं।" इस सन्देश में उन्होंने कहा कि कोरोना पूरी दुनिया में फैल चुका है और तबाही मचा रहा है।उन्होंने कहा कि यह एक नया वायरस से जिसे खत्म करने के लिए हमें एकजुट होकर लड़ना होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि "मैं लोगों से दिल्ली में लॉकडाउन के मानदंडों का पालन करने की अपील करता हूं जिसे कोरोना से लड़ने के लिए जारी किया गया है। हम कल से जनता के आंदोलन पर लगाम कसेंगे। मैं लोगों से घर रहने का अनुरोध करता हूं।" केजरीवाल ने कहा कि "मुझे सूचित किया गया है कि डीटीसी बसों की संख्या कम होने के कारण अस्पतालों, दिल्ली जल बोर्ड, बिजली बोर्ड और अन्य आवश्यक सेवा विभाग के कई कर्मचारियों को कार्यालयों तक पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि कल से, डीटीसी के बेड़े का 50 फीसदी परिचालन रहेगा"

कोरोना वायरस : गुजरात में 29 संक्रमित मामले आए सामने, CM रूपानी ने लोगों को घरों में रहने का दिया निर्देश

बता दें कि रविवार को मुख्यमंत्री ने राज्यपाल अनिल बैजल के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता में बताया कि 23 मार्च को सुबह 6 बजे से शुरू हुए लॉकडाउन 31 मार्च को अर्द्धरात्रि 12 बजे तक चलेगा। लॉकडाउन में सार्वजनिक परिवहन का कोई साधन नहीं चलेगा और दिल्ली की सीमाओं को सील कर दिया जाएगा लेकिन स्वास्थ्य, खानपान, जल और विद्युत आपूर्ति आदि से संबंधित आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुग्ध उत्पाद की दुकानें, किराना दुकानें, दवा की दुकानें और पेट्रोल पंप खुले रहेंगे, वहीं जरूरी सेवाओं से जुड़े सभी लोगों को इस दौरान आवागमन की अनुमति दी जाएगी।