BREAKING NEWS

कोरोना संकट के बीच LPG सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी, आज से लागू होगी नई कीमतें ◾अमेरिका : जॉर्ज फ्लॉयड की मौत पर व्हाइट हाउस के बाहर हिंसक प्रदर्शन, बंकर में ले जाए गए थे राष्ट्रपति ट्रंप◾विश्व में महामारी का कहर जारी, अब तक कोरोना मरीजों का आंकड़ा 61 लाख के पार हुआ ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 90 हजार के पार, अब तक करीब 5400 लोगों की मौत ◾चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर गृह मंत्री शाह बोले- समस्या के हल के लिए राजनयिक व सैन्य वार्ता जारी◾Lockdown 5.0 का आज पहला दिन, एक क्लिक में पढ़िए किस राज्य में क्या मिलेगी छूट, क्या रहेगा बंद◾लॉकडाउन के बीच, आज से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन एसी ट्रेनें, पहले दिन 1.45 लाख से ज्यादा यात्री करेंगे सफर ◾तनाव के बीच लद्दाख सीमा पर चीन ने भारी सैन्य उपकरण - तोप किये तैनात, भारत ने भी बढ़ाई सेना ◾जासूसी के आरोप में पाक उच्चायोग के दो अफसर गिरफ्तार, 24 घंटे के अंदर देश छोड़ने का आदेश ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,487 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 67 हजार के पार ◾दिल्ली से नोएडा-गाजियाबाद जाने पर जारी रहेगी पाबंदी, बॉर्डर सील करने के आदेश लागू रहेंगे◾महाराष्ट्र सरकार का ‘मिशन बिगिन अगेन’, जानिये नए लॉकडाउन में कहां मिली राहत और क्या रहेगा बंद ◾Covid-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 1295 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 20 हजार के करीब ◾वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिये मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी उद्योग जगत को देंगे वृद्धि की राह का मंत्र◾UP अनलॉक-1 : योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइन, खुलेंगें सैलून और पार्लर, साप्ताहिक बाजारों को भी अनुमति◾श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 80 मजदूरों की मौत पर बोलीं प्रियंका-शुरू से की गई उपेक्षा◾कपिल सिब्बल का प्रधानमंत्री पर वार, कहा-PM Cares Fund से प्रवासी मजदूरों को कितने रुपए दिए बताएं◾कोरोना संकट : दिल्ली सरकार ने राजस्व की कमी के कारण केंद्र से मांगी 5000 करोड़ रुपए की मदद ◾मन की बात में PM मोदी ने योग के महत्व का किया जिक्र, बोले- भारत की इस धरोहर को आशा से देख रहा है विश्व◾'मन की बात' में PM मोदी ने देशवासियों की सेवाशक्ति को कोरोना जंग में बताया सबसे बड़ी ताकत◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भड़काऊ बयानबाजी को लेकर दायर याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट का केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस

दिल्ली उच्च न्यायालय ने कथित रूप से नफरत फैलाने वाला भाषण देने के मामले में कांग्रेस नेताओं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा समेत विभिन्न नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध करने वाली याचिका पर शुक्रवार को केंद्र और दिल्ली सरकार से जवाब मांगा। 

मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की पीठ ने याचिका पर केंद्रीय गृह मंत्रालय, दिल्ली सरकार और पुलिस को नोटिस जारी किया। याचिका में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, आप के विधायक अमानतुल्ला खान, एआईएमआईएम नेता अकबरुद्दीन ओवैसी और एआईएमआईएम के पूर्व विधायक वारिस पठान के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज किए जाने की मांग की गई है। 

यह याचिका ‘लॉयर्स वॉइस’ ने दायर की है। याचिका में कथित रूप से नफरत फैलाने वाले भाषणों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल गठित किए जाने की भी मांग की गई है। 

भाजपा के तीन नेताओं के कथित रूप से नफरत फैलाने वाले भाषण देने संबंधी एक अन्य याचिका में दो अर्जियां दाखिल की गई हैं। इन अर्जियों में कथित रूप से नफरत फैलाने वाले भाषणों को लेकर पठान, असदुद्दीन ओवैसी और अकबरुद्दीन ओवैसी, आप नेता अमानतुल्ला खान, अभिनेत्री स्वरा भास्कर और रेडियो जॉकी सायमा के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की गई है। 

हिंदू सेना के विष्णु गुप्ता ने एक अर्जी में एआईएमआईएम नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध करते हुए आरोप लगाया है कि नफरत फैलाने वाले उनके भाषणों के कारण दिल्ली में साम्प्रदायिक तनाव बढ़ा। 

संजीव गुप्ता ने एक अन्य अर्जी में उत्तरपूर्वी दिल्ली में साम्प्रदायिक हिंसा और नफरत फैलाने वाले भाषणों को लेकर खान, भास्कर, सायमा और हर्ष मंदर के खिलाफ राष्ट्रीय जांच एजेंसी से जांच कराए जाने की मांग की है। मंदर ने भाजपा नेताओं अनुराग ठाकुर, परवेश वर्मा और कपिल मिश्रा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने की मांग करते हुए याचिका दायर की है। 

दोनों अर्जियां मंदर की याचिका में दायर की गई हैं। गुप्ता और कुमार ने मामले में पक्षकार बनाए जाने की भी मांग की है। मंदर की याचिका में भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई के अलावा सीएए को लेकर उत्तरपूर्वी दिल्ली में साम्प्रदायिक हिंसा के संबंध में प्राथमिकियां दर्ज किए जाने और गिरफ्तारियां किए जाने की मांग की गई है। 

अदालत ने इन ताजा अर्जियों पर केंद्रीय गृह मंत्रालय, दिल्ली सरकार और पुलिस को नोटिस जारी किए हैं और उनसे इन पर जवाब देने को कहा है। अर्जियों को सुनवाई के लिए 30 अप्रैल को सूचीबद्ध किया गया है। 

दिल्ली हिंसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 41, पीड़ितों से मिलने पहुंचे LG अनिल बैजल