BREAKING NEWS

भारत और अमेरिका के बीच ‘टू प्लस टू’ वार्ता 18 दिसम्बर को वाशिंगटन में होगी : विदेश मंत्रालय◾TOP 20 NEWS 12 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की सभी पुनर्विचार याचिकाएं◾महाराष्ट्र में BJP की कोर समिति की सदस्य नहीं, बावजूद पार्टी नहीं छोड़ूंगी : पंकजा मुंडे◾झारखंड में महागठबंधन की सरकार बनते ही किसानों का ऋण किया जाएगा माफ : राहुल गांधी ◾CAB :बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने भारत दौरा किया रद्द ◾झारखंड विधानसभा चुनाव: तीसरे चरण में 17 सीटों पर वोटिंग जारी, दोपहर 1 बजे तक 45.14 प्रतिशत मतदान◾झारखंड : धनबाद में रैली को संबोधित करते हुए बोले PM मोदी-कांग्रेस में सोच और संकल्प की कमी◾असम के लोगों से PM की अपील, कांग्रेस बोली- मोदी जी, वहां इंटरनेट सेवा बंद है◾केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संविधान की आत्मा छलनी करने वाला बिल लाई : प्रियंका ◾पाकिस्तान की ओर से हो रहे घुसपैठ की कोशिशों को नजरअंदाज कर रही है सरकार: शिवसेना ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले में SC ने 3 सदस्यीय जांच आयोग का किया गठन◾आईयूएमएल ने नागरिकता संशोधन विधेयक को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती ◾असम के लोगों से PM मोदी की अपील, बोले- कोई नहीं छीन सकता आपके अधिकार◾झारखंड विधानसभा चुनाव : PM मोदी ने मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान का किया आग्रह◾गोवा : CM प्रमोद सावंत ने संसद में CAB पारित होने पर प्रधानमंत्री को दी बधाई◾नागरिकता बिल पर असम में व्यापक विरोध प्रदर्शन, कई जिलों में इंटरनेट बंद◾राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾

देश

प्लास्टिक पर प्रतिबंध: जयराम रमेश बोले- यह केवल सुर्खियां बटोरने और पर्यावरण संबंधी वास्तविक रिकॉर्ड को छिपाने के लिए है

 jairam ramesh

एक बार इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक पर प्रतिबंध के मोदी सरकार के प्रस्ताव की आलोचना करते हुए कांग्रेसी नेता जयराम रमेश ने बुधवार को कहा कि यह केवल सुर्खियां बटोरने और शासन के पर्यावरण संबंधी वास्तविक रिकॉर्ड को छिपाने के लिए है। 

रमेश ने यह भी कहा कि पर्यावरण मंत्री रहते हुए उन्होंने प्लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध का विरोध किया था क्योंकि इस उद्योग से लाखों लोगों का रोजगार जुड़ा है। पूर्व पर्यावरण मंत्री ने कहा कि असल समस्या प्लास्टिक के कचरे के निस्तारण और पुनर्च्रकण की है। 

उन्होंने मीडिया की एक रिपोर्ट भी इसमें जोड़ी जिसमें दावा किया गया था कि चूंकि अर्थव्यवस्था पहले से मंदी के दौर से गुजर रही है इसलिए मोदी सरकार द्वारा प्लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाना एक अच्छा विचार नहीं है। 

प्लास्टिक बोतल नष्ट करने वाली मशीनों का प्रयोग करने पर यात्रियों का फोन रिचार्ज करेगा रेलवे

रमेश ने ट्विटर पर लिखा, "पर्यावरण मंत्री रहते हुए मैंने एक बार प्रयोग में आने वाले प्लास्टिक के इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध का विरोध किया था। प्लास्टिक उद्योग से लाखों लोग जुड़े हैं और असल समस्या यह है कि हम प्लास्टिक के कचरे का किस तरह निस्तारण और पुनर्च्रकण करते हैं।" 

उन्होंने कहा, "यह प्रतिबंध देश विदेश में सुर्खिया बटोरेगा और मोदी शासन के वास्तविक पर्यावरण रिकॉर्ड को छिपाने का काम करेगा।" बता दें कि कॉन्फ्रेंस ऑफ पार्टीज (सीओपी) को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्लास्टिक के इस्तेमाल को नियंत्रित करने की बात कही थी।