BREAKING NEWS

PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾पीएम मोदी ने सभी को दी ईद उल फितर की बधाई, सभी के स्वस्थ और समृद्ध रहने की कामना की ◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- निजामुद्दीन मरकज की घटना से संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, देश को लगा बड़ा झटका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सावधान:आपको भी करना पड़ सकता है मुसीबतों का सामना,अब बंद हो रहे हैं ATM

अब जहां देश में ATM ट्रांजेक्शन दिन-प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर ATM की संख्या कम होती जा रही है। जी हां बता दें कि सख्त नियमों की वजह से देश में ATM चलाना काफी महंगा पड़ रहा है। यही वजह है कि अब सैकड़ों ATM के बंद होने का खतरा मंडरा रहा है। यदि ऐसा होता है तो इसका असर पूरे देश की जनता पर होगा। क्योंकि लोगों को कैश निकालने में काफी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। तो आइए समझते हैं इस पूरे मामले को।

रिपोर्ट के अनुसार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के कुछ सख्त नियमों के चलते बैंकों और ATM मशीनों को लेकर कुछ जरूरी बदलाव करने पड़ रहे हैं। इस कारण बैकों और ATM को काफी बड़ी राशि खर्च करनी पड़ रही है। इन्हीं सारी चीजों के चलते दिन-प्रतिदिन ATM मशीनों की संख्या कम होती जा रही है।

मुख्य बात ये है कि ATM मशीनों के कम होने के बावजूद भी लगातार ट्रांजेक्शन की संख्या बढ़ती ही जा रही है। यदि एटीमए मशीनों में कमी का सिलसिला ऐसे ही चलता रहा तो इसका असर पूरे देश के लोगों पर ही होगा। इसके साथ ही लोग कैश नहीं निकाल पाएंगे।

भारत में पहले से ही कम हैं ATM

RBI की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार देश में ATM  में ज्यादा ट्राजेक्शन होने के बाद भी पिछले दो सालों में ATM की संख्या में कमी हुई है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के मुताबिक, ब्रिक्स देशों में भारत ऐसा देश है जहां प्रति 100,000 लोगों पर कुछ ही ATM हैं।

कॉन्फिडेरेशनल ऑफ एटीएम इंडस्‍ट्रीज (CATMi) ने पिछले साल चेतावनी दी थी कि साल 2019 में भारत के आधे से ज्यादा ATM बंद कर दिए जाएंगे। उस समय सीएटीएम आई ने बताया था कि देश में करीब 2 लाख 38 हजार ATM  हैं। जिनमें से करीब 1 लाख 13 हजार ATM मार्च 2019 तक ही बंद हो जाने थे।

आरबीआई के डेप्युटी गवर्नर आर.गांधी ने ATM मशीनों के बंद होने की वजह के बारे में बताया कि ATM ऑपरेटर उन बैंकों से इंटरचेंज फीस वसूलते हैं। जिनका कार्ड इस्तेमाल किया जाता है। इस फीस का इजाफा होने की वजह से ATM की संख्या में कमी आ रही है।

3,500 करोड़ का आएगा खर्च

बता दें कि नई तकनीकों के मुताबिक ATM में बदलाव के लिए बैंकों को ज्यादा खर्च करना पड़ेगा। इन मशीनों के कैश लॉजिस्टिक और कैसेट स्वैम मेथड को बदलने में 3,500 करोड़ का खर्चा हो सकता है। अगर बैंक इस खर्च को नहीं उठाते हैं तो जल्द ही ATM सर्विस देने वाली कंपनियां इन्हें बंद करने का निर्णय ले सकती है।

एटीएम से पैसा निकालना होगा महंगा

अब बैंक के एटीएम से पैसा निकालना महंगा हो सकता है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने केंद्र सरकार को ऐसा करने का प्रस्ताव दिया है। यदि सरकार ने इस प्रस्ताव को मान लिया तो फिर प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर लोगों को ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ सकता है। एनपीसीआई का कहना है कि यदि सरकार ने इंटरचेंज फीज नहीं बढ़ाने की मंजूरी दी,तो फिर देश में एक लाख से ज्यादा एटीमए बंद होंगे। जिससे लोगों को काफी परेशानी हो सकती है।

 

इंदिरा गाँधी के साथ फोटो खिंचवाते नरेंद्र मोदी की वायरल तस्वीर की असली सच्चाई आयी सामने !