BREAKING NEWS

बंगाल ने पोषण अभियान अपनाने से इंकार कर दिया : स्मृति ईरानी◾UP : सोनभद्र में जमीनी विवाद को लेकर हुई हिंसक झड़प में 9 की मौत, CM योगी ने जांच के दिए निर्देश ◾उत्तराखंड से बीजेपी विधायक प्रणव सिंह चैम्पियन 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित ◾व्हिप को निष्प्रभावी करने वाले SC के फैसले ने खराब न्यायिक मिसाल पेश की : कांग्रेस◾इंच-इंच जमीन से अवैध प्रवासियों को करेंगे बाहर : अमित शाह◾चीन-भारत सीमा पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों द्वारा बरता जा रहा है संयम : राजनाथ◾पीछे हटने का सवाल नहीं, विधानसभा की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्सा : कर्नाटक के बागी विधायक◾मुंबई आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद लाहौर से गिरफ्तार◾सुप्रीम कोर्ट का फैसला असंतुष्ट विधायकों के लिए नैतिक जीत : येदियुरप्पा◾कर्नाटक संकट : विधानसभा अध्यक्ष बोले- संवैधानिक सिद्धांतों का करुंगा पालन◾कर्नाटक संकट : SC ने कहा-बागी विधायकों के इस्तीफों पर स्पीकर ही करेंगे फैसला◾जम्मू एवं कश्मीर : सोपोर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़◾पूर्व सपा सांसद अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर CBI की छापेमारी◾समाजवादी पार्टी को सता रही है मुस्लिम वोट बैंक संजोने की चिंता◾मुंबई में इमारत गिरने से अभी तक 14 लोगों की मौत, सर्च ऑपरेशन जारी ◾असम, बिहार में बाढ़ से 55 लोगों की मौत, उत्तर प्रदेश में वर्षा जनित हादसों में 14 की मौत ◾अनुसुइया उइके छत्तीसगढ़ की, हरिचंदन आंध्र के राज्यपाल नियुक्त◾देश के कई हिस्सों में दिखेगा चंद्र ग्रहण, करीब एक बजकर 31 मिनट शुरू और चार बजकर 20 मिनट पर होगा खत्म◾बनगांव में भाजपा, TMC के बीच संघर्ष, निषेधाज्ञा लागू ◾चंद्रग्रहण : सूतक काल के दौरान बंद रहेंगे मंदिर के कपाट ◾

देश

बजट में रोजगार, अर्थव्यवस्था, कृषि क्षेत्र से जुड़े वादों को पूरा करने को कोई खाका नहीं : द्रमुक

द्रमुक ने निर्मला सीतारमण द्वारा पेश केंद्रीय बजट को आश्वासनों का पिटारा बताया और कहा कि इसमें रोजगार, अर्थव्यवस्था, कृषि क्षेत्र से जुड़े वादों को पूरा करने को कोई खाका नहीं है । वित्त वर्ष 2019..20 के आम बजट पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए द्रमुक सदस्य एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ए राजा ने कहा, ‘‘ आश्वासनों को पूरा करने के लिये बजट में कोई खाका नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि यह देश कृषि आधारित व्यवस्था वाला देश है लेकिन सरकार को लगता है कि कॉरपोरेट के माध्यम से ही धन सृजित हो सकता है ।

 ऐसा इसलिये है क्योंकि पूरा जोर प्रत्यक्ष विदेश निवेश (एफडीआई) पर ही है । राजा ने कहा कि सरकार ने अगले पांच वर्षो में अर्थव्यवस्था को 3000 अरब डालर से बढ़ाकर 5000 अरब डालर का करने का लक्ष्य रखा है । इसके लिये एफडीआई पर ही निर्भर नजर आते हैं । उन्होंने जोर दिया कि बजट भाषण में कुल राजस्व और कुल खर्च का उल्लेख नहीं किया गया । बजट में सूखे के विषय का जिक्र नहीं है । किसानों को 6000 रूपये देने की बात कही जा रही है लेकिन कृषि की मजबूती के लिए खाका नहीं है । 

द्रमुक सदस्य ने कहा कि सरकार ने प्रति वर्ष दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, कालाधन लाने का वादा किया था लेकिन यह पूरा नहीं हो सका । अर्थव्यवस्था के विकास की गति काफी धीमी है और बैंकों की गैर निष्पादित आस्तियां (एनपीए) बढ़ रही हैं। तृणमूल कांग्रेस के शिशिर अधिकारी ने कहा कि सरकार ने साल 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था को 5000 अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनाने की बात कही है । इसके लिये सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) को 8 प्रतिशत की दर से आगे बढ़ाना होगा । लेकिन इसके लिये कोई खाका पेश नहीं किया गया है । 

बीजेपी ने बजट को बताया भरोसे के संकट को खत्म करने वाला, कांग्रेस ने आशाओं के विपरीत करार दिया

उन्होंने कहा कि भारत युवाओं का देश है, युवाओं को रोजगार चाहिए लेकिन बेरोजगारी की दर 45 वर्षो में सर्वोच्च स्तर पर है । तृणमूल सदस्य ने कहा कि राजकोषीय घाटा चिंता का विषय है । इसके अलावा अनेक सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) के विनिवेश की बात कही जा रही है और हमारी पार्टी इसका विरोध करती है । 

वाईएसआर कांग्रेस के एम भरत ने कहा कि हमें उम्मीद है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत 5000 अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को हासिल कर लेगा । उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद थी कि आंध्रप्रदेश के लिये बजट में काफी कुछ होगा, लेकिन हमें निराशा हुई है। आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की बात को उत्तरोत्तर सरकारों ने नजरंदाज किया है ।