BREAKING NEWS

पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾

कर्ज माफी को लेकर विपक्ष ने किया हंगामा, भाजपा के 12 सदस्य निलंबित

छत्तीसगढ़ विधानसभा में मंगलवार को राज्य के ​मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने किसानों के कर्ज माफी को लेकर जमकर हंगामा मचाया। वहीं दोनों पक्षों में हुई तीखी नोकझोंक और नारेबाजी के कारण भाजपा के 12 सदस्य निलंबित भी हुए।

विधानसभा में आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सदन में तृतीय अनुपूरक बजट पर हुई चर्चा का जवाब दिया। जवाब के दौरान बघेल ने कहा कि वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव के घोषणा पत्र में हमने वादा किया था कि 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा। जो वादा हमने किया था उसे 10 दिनों के भीतर पूरा भी किया गया।

भूपेश बघेल ने कहा कि जन घोषणा पत्र के सभी वादों को सरकार क्रमशः पूरा कर रही है। तृतीय अनुपूरक बजट इस दिशा में उनकी सरकार का पहला कदम है। किसानों के 6100 करोड़ रूपए की कर्ज माफी और उनसे 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदने के वादे को पूरा करने के लिए भी तृतीय अनुपूरक में आवश्यक राशि का प्रावधान किया गया है।

आरक्षण विधेयक पारित होना देश के लिए ‘ऐतिहासिक क्षण’: मोदी 

मुख्यमंत्री ने विपक्ष से कहा कि कांग्रेस की सरकार को बने अभी मुश्किल से 20 दिन हुए है और आप हमसे सवाल करने लगे हैं। पिछले 15 वर्षों के दौरान राज्य में लोकतंत्र का कैसे गला घोटा गया है हमने देखा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जो भी वादा किया है। उसे पूरा किया जाएगा। देश में यह पहली सरकार है जहां 25 सौ रूपए में धान की खरीद हो रही है।

जब मुख्यमंत्री सदन में चर्चा का जवाब दे रहे थे तब विपक्ष के सदस्यों ने कहा कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में किसानों का पूरा कर्ज माफ करने की बात कही थी। लेकिन केवल अल्पकालीन कृषि ऋण को माफ किया जा रहा है। सरकार को राज्य के सभी किसानों का संपूर्ण कर्ज माफ करना चाहिए।

इसके बाद विपक्ष के सदस्य सदन में नारेबाजी करने लगे और बाद में उन्होंने सदन से बहिर्गमन कर दिया। इधर विपक्ष की अनुपस्थिति में सदन ने 10 हजार 395 करोड़ रूपए का तृतीय अनुपूरक बजट ध्वनि मत से पारित कर दिया।

लोकसभा में 10% सवर्ण आरक्षण बिल के लिए संविधान संशोधन बिल हुआ पास

बाद में जब विपक्षी दल भाजपा के सदस्य सदन में आए तब सदन में शोर शराबा हुआ जिसके बाद पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि सदन में प्रवेश के दौरान सत्ता पक्ष के सदस्यों ने टिप्पणी की है। विपक्ष का अपमान किया गया है। सत्ता पक्ष को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।

इसके बाद विपक्ष के सदस्यों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और गर्भगृह में चले गए। तब अध्यक्ष चरणदास महंत ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक समेत 12 सदस्यों के स्वमेव निलंबित होने की सूचना दी। जब सदस्य नारेबाजी करते हुए वहीं धरने पर बैठ गए तब ​अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी।

सदन की कार्यवाही जब फिर से शुरू हुई तब संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे ने सत्ता पक्ष की ओर से तथा भाजपा सदस्य बृजमोहन अग्रवाल ने खेद व्यक्त किया। अग्रवाल खेद व्यक्त करने के दौरान भावुक भी हुए और कहा कि पिछले 29 वर्ष में विधायक रहने के दौरान ऐसी स्थिति का सामना उन्होंने पहली बार किया है।