BREAKING NEWS

अर्थव्यवस्था की बिगड़ी हालत पर निर्मला सीतारमण बोली- भारत की आर्थिक स्थिति बेहतर◾सरकार के आर्थिक सलाहकारों ने भी माना कि संकट में है अर्थव्यवस्था : राहुल गांधी◾पेरिस में PM मोदी का संबोधन, बोले-हिंदुस्तान में अब टेंपरेरी के लिए व्यवस्था नहीं◾ईडी मामले में चिदंबरम को मिली राहत, 26 अगस्त तक नहीं होगी गिरफ्तारी◾एफएटीएफ के एशिया प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को काली सूची में डाला◾पश्चिम बंगाल : मंदिर में दीवार गिरने से मची भगदड़ में 4 की मौत, ममता बनर्जी ने किया मुआवजा का ऐलान◾मनमोहन सिंह ने राज्यसभा सदस्य के रूप में ली शपथ◾दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ चिदंबरम की याचिका पर सोमवार को सुनवाई करेगा SC◾SC ने ट्रिपल तलाक को चुनौती देने वाली याचिका पर केंद्र सरकार को जारी किया नोटिस ◾कपिल सिब्बल बोले- अर्थव्यवस्था और नागरिकों की आजादी के मकसद को प्रोत्साहन पैकेज की जरूरत◾जयराम रमेश के बाद बोले सिंघवी- मोदी को खलनायक की तरह पेश करना गलत◾जानिए कैसे हुआ आईएनएक्स मीडिया मामले का खुलासा !◾प्रह्लाद जोशी बोले- यदि चिदंबरम बेकसूर हैं तो कांग्रेस को नहीं करनी चाहिए चिंता◾भारत, पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे का द्विपक्षीय ढंग से समाधान निकालना चाहिए : मैक्रों ◾PM मोदी ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों के साथ बातचीत की ◾योगी आदित्यनाथ ने किया मंत्रियों के विभागों का बंटवारा ◾बहरीन में 200 साल पुराने मंदिर की पुनर्निर्माण परियोजना का शुभारंभ करेंगे PM मोदी◾आईएनएक्स मीडिया मामला बना चिदंबरम की परेशानी का सबब ◾शरद पवार, अन्य के खिलाफ बैंक घोटाला मामले में FIR दर्ज करने का आदेश◾आजम खान की याचिका सुनवाई 29 अगस्त को ◾

पंजाब

आस्ट्रेलिया में पंजाबी नौजवान के कातिलों को मिली सजा से खुश नही है पंजाब के लोग

लुधियाना-संगरूर : सात समुद्र पार बसे आस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन शहर में दो साल पहले मारे गए पंजाबी नौजवान मनमीत अलीशेरा के कातिलों को अदालती मुकदमे के लिए अयोगय करार दिए जाने की घोषणा के उपरांत पंजाब से जुड़े उसके वारिसों और चाहनेवालों के लिए आज का दिन काफी दुखदाई था।

पंजाब के जिला संगरूर स्थित गांव अलीशेरा में जन्मे मनमीत के पिता श्री रामस्वरूप जी शिक्षा विभाग में अध्यापक के तौर पर कार्य करते रहे है और उनकी माता श्रीमती किशनदीप कौर भी उच्च विचारों की महिला है, जिन्होंने मनमीत को मन के मीत और जग के मीत बनाने की तरफ प्रेरित किया और मनमीत भी हमेशा समाज को बदलने की सोच रखता था और इसी सोच के चलते उसने 12वी की परीक्षा के बाद कलामंच के माध्यम से समाज को नई सोच देने का जरिया बनाया।

आधुनिक बेरोजगार गुरूजनों ने गुरू की नगरी में किया प्रदर्शन, भीख मांगने के साथ-साथ किए बूट पालिश

नाटक और रंगमंच में अपनी कला को निखारते हुए खालसा कालेज पटियाला से साइंस और ग्रेजुएशन करने के बाद 2006 में इंटर यूनिवर्सिटी मुकाबलों में मनमीत के द्वारा खेला गया नाटक देश भर में दूसरे स्थान पर रहा। और इसके अलावा साहित्य की दुनिया में अपना रास्ता कायम रखते हुए उसने स्वयं के द्वारा लिखे गए सैकड़ों गीत भी मंच की हाजिरी में गाएं। इसी होनहार नौजवान और उभरते गायक मनमीत अलीशेरा को एक गोरे सिरफिरे ने 28 अक्तूबर 2016 को उस वक्त आग लगाकर कत्ल कर दिया था, जब वह प्रतिदिन की तरह सिटी बस में सवार सवारियों को मारूका से लेकर वापिस ब्रिसबेन शहर आ रहा था।

ब्रिसबेन के अदालती जार्ज स्टरीट कोम्पलैक्स की पांचवी मंजिल के कमरा न. 10 में जज साहिबान मैडम डालटन की अध्यक्षता में इस मुकदमे की कानूनी कारवाई शुरू हुई तो उनके साथ मनोविज्ञानिक सहायक जज डॉ एफटी वर्गिस और डॉ ईएन मेक्वी ने अपने विचार बताएं। जज ने 4 डॉक्टरों और 2 सहायक मनोविज्ञानिक डॉक्टरों के साथ सहमति देते हुए अपने फैसले में आरोपी को मानसिक रोगी माना और मेनटल हैल्थ अस्पताल में कम से कम 10 साल से अधिक दिमागी बीमारी से संबंधित रोगियों को रखने वाले सुरक्षात्मक स्थान पर रखने का हुकम दिया। अदालत ने आज मनमीत के पिता रामस्वरूप सिंह, अमित शर्मा और दोस्त विनरजीत गोलडी, जिनका संबंध पंजाब के संगरूर से है, अपने अन्य दोस्तों के साथ उपस्थित थे।

पंजाब : पत्नी के अवैध संबधों का पता चलते ही NRI ने पति, पत्नी और बच्चों समेत खुद को जिंदा जलाया

मनमीत अलीशेरा की मौत के बाद उसके कातिल को दी गई सजा से असहमति जताते हुए पंजाब भर में आक्रोश की लहर है। संगरूर के गांव अलीशेरा के गांववासियों का स्पष्ट कहना है कि यह समस्त मामला नस्ली हिंसा का है।

मनमीत के चाचा के लडक़े वरिंद्र और हरप्रीत ने कहा कि उनके भाई का किसी से वैरभाव नही था, उन्होंने घअना के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि 29 वर्षीय मनमीत पर अचानक बस में सवार 48 वर्षीय गोरे ने बस पर चढ़ते ही ज्वलनशील पदार्थ फेंककर आग लगाई थी, जिससे मनमीत की मौके पर ही मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि मनमीत ब्रिसबेन में पंजाबी साहित्य और उभरते गायक के तौर पर जाना-पहचाना नाम था और उसके मिलनसार स्वभाव के चलते पंजाबी लोग उसे बेहद प्यार करते थे।

मनमीत 8 साल पहले पढ़ाई की खातिर आस्ट्रेलिया चला गया था और मौत से 6 माह पहले ही उसे बस सर्विस कंपनी में बतौरे ड्राइवर का काम करने का लाइसेंस प्राप्त हुआ था। फिलहाल मनमीत के चाहने वाले न्याय प्राप्त करने के लिए ऊपरी अदालत में जाने का मन बना रहे है।

- सुनीलराय कामरेड