कांग्रेस की राजस्थान इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि चुनावों में पार्टी की जीत होगी और वह एक बार फिर साफा पहनेंगे। पायलट से जब पार्टी के लिये उनके संकल्प के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “2014 में पार्टी की हार के बाद मैंने सौगंध ली थी कि जब तक कांग्रेस सत्ता में वापसी नहीं करेगी मैं साफा नहीं पहनूंगा। मैंने साफे से खुद को दूर करने का फैसला किया जो कि हमारी संस्कृति का एक प्रतीक है।”

सचिन पायलट ने कहा, “मुझे पूरा भरोसा है कि जनता के आशीर्वाद से चुनावों में कांग्रेस की जीत सुनिश्चित होगी और मैं एक बार फिर साफा पहन पाऊंगा।” उल्लेखनीय है कि राजस्थानी साफा राजस्थान में संस्कृति और परंपराओं का एक अभिन्न हिस्सा है।

congress

खासकर चुनाव प्रचार में तो हर पार्टी का हर नेता साफा पहनता है लेकिन प्रचार अभियान के दौरान जब भी लोग और उनके समर्थक पायलट को स्वागत के रूप में साफा भेंट करते तो वह उसे माथे से लगाकर रख देते। पायलट प्रचार के आखिरी दिन टोंक विधानसभा क्षेत्र में प्रचार कर रहे थे जहां उनका मुकाबला भाजपा के यूनुस खान से है।

उन्होंने जनवरी 2014 में प्रदेशाध्यक्ष का पद्भार संभाला था जबकि 2013 के विधानसभा चुनाव और 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी राज्य में बुरी तरह हार गई थी। बता दें कि राज्य की 200 में से 199 सीटों के लिये मतदान आज शुरू हो चुका है और मतगणना 11 दिसम्बर को होगी।

राजस्थान विधानसभा चुनाव : कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू