BREAKING NEWS

पाकिस्तान समेत एशिया-प्रशांत समूह के सभी देशों ने किया भारत का समर्थन◾World Cup 2019 PAK vs NZ : पाक ने न्यूजीलैंड का रोका विजय रथ , नाकआउट की उम्मीद बढ़ायी ◾काफिले का मार्ग बाधित करने को लेकर थर्मल पावर के कर्मचारियों पर भड़के कुमारस्वामी ◾जयशंकर ने S-400 समझौते पर पोम्पिओ से कहा : भारत अपने राष्ट्रीय हितों को रखेगा सर्वोपरि◾‘जय श्रीराम’ का नारा नहीं लगाने पर ट्रेन से धकेल दिये गये 3 लोगों को ममता देंगी मुआवजा◾RAW चीफ बने 1984 बैच के IPS सामंत गोयल, अरविंद कुमार बनाए गए IB डायरेक्टर◾कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव में वैष्णव को BJD के समर्थन पर CM से स्पष्टीकरण मांगा ◾बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय का MLA बेटा पहुंचा जेल, अधिकारी से की थी मारपीट◾पलायन रोकने के लिए गांवों का हो विकास : गडकरी◾दुष्कर्म मामले में केरल के CPI (M) नेता के बेटे के खिलाफ जारी किया लुकआउट नोटिस◾कैलाश मानसरोवर तीर्थयात्री नेपाल में फंसे, यात्रा संचालकों पर लगाया कुप्रबंधन का आरोप ◾विपक्ष त्यागे नकारात्मकता, विकास यात्रा में दे सहयोग : पीएम मोदी ◾Top 20 News - 26 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक देश एक चुनाव व्यवहारिक नहीं : कांग्रेस ◾नई ऊंचाइयों पर पहुंच रही है अमेरिका-भारत के बीच साझेदारी : माइक पोम्पियो◾दुखद और शर्मनाक है बिहार में चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत : PM मोदी ◾इंदौर: BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश ने नगर निगम अफसरों को बल्ले से पीटा◾कांग्रेस ने 2014 से देश की विकास यात्रा शुरू करने के दावे पर मोदी सरकार को लिया आड़े हाथ ◾SC ने राजीव सक्सेना को विदेश जाने की अनुमति देने वाले दिल्ली HC के फैसले पर लगाई रोक ◾अध्यक्ष पद छोड़ने के रुख पर कायम राहुल गांधी, कांग्रेस सांसदों ने नेतृत्व करते रहने का आग्रह किया◾

दिलचस्प खबरें

आज ही के दिन भारत का पहला परमाणु परीक्षण 45 साल पहले हुआ था

इतनी बड़ी दुनिया में आए दिन कुछ न कु अच्छा या फिर बुरा घटित होता रहता है। फिर चाहे धरती पर हो या फिर सुदूर अंतरिक्ष में। इनमें से कई सारी घटनाएं ऐसी होती है जो समय रहते भुला दी जाती हैं,लेकिन कुछ महत्वपूर्ण घटनाएं ऐसी भी होती है जिसे इतिहास में अपना नाम दर्ज कराती हैं।

इन्हीं मुख्य घटनाओं की लिस्ट में शामिल है 1974 में 18 मई का दिन जो कि एक ऐसी अहम घटना के साथ ही इतिहास में दर्ज है,जिसने भारत को दुनिया के परमाणु संपन्न देशों की कतार में खड़ा कर दिया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत ने आज के दिन ही राजस्थान के पोखरण में अपना पहला भूमिगत परमाणु परीक्षण किया था। इस परीक्षण को स्माइलिंग बुद्घा का नाम दिया गया था। ये पहली बार था जब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के पांच स्थायी सदस्य देशों के अलावा भी किसी अन्य देश के परमाणु परीक्षण करने का साहस किया था।

इस परीक्षण की प्रस्तावना साल 1972 में लिखी गई थी। जब तत्कालीन प्रधानमंत्री और भारत की महिला शान इंदिरा गांधी ने भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र बीएआरसी का दौरा किया था और वहां के वैज्ञानिकों से बातों ही बातों में उन्हें परमाणु परीक्षण के लिए संयंत्र बनाने की इजाजत दे दी।

 

45 साल पहले भी आज के दिन थी बुद्घ पूर्णिमा

बता दें कि 45 साल पहले भी बुद्घ पूर्णिमा 18 मई 1974 के दिन थी और ये दिन जहां भारत के लिए गौरवशाली का था तो वहीं जैसलमेर के लोगों के लिए ये दिन काफी भाग्यशाली रहा था। क्योंकि उस दिन भी बुद्घ पूर्णिमा थी और आज पूरे 45 साल बाद भी 18 मई के दिन बुद्घ पूर्णिमा है।

इस खास दिन के मौके पर राजस्थान के जैसलमेर से करीब 140 किमी दूर लोहारकी गांव के पास मलका गांव में 18 मई 1974 को भारत ने दुनिया में अपनी परमाणु शक्ति का कारिश्मा दिखाया था।

मलका गांव के जिस सूखे कुएं में सबसे पहली बार परमाणु परीक्षण किया गया था। उस जगह पर एक बहुत बड़ा गड्ढा और उभरी हुई जमीन आज भी उन अच्छे पलों की कहानियां को बयां करती है। जब लोहारकी गांव के प्रथम परमाणु स्थल पर वैज्ञानिकों ने बटन दबाकर जब न्यूक्लियर धमाका किया तो उसकी गूंज न सिर्फ पूरी दुनिया में गुंजी बल्कि इसके साथ ही पोखरण का नाम भी विश्व मानचित्र पर उभर गया ।

इस जगह को फिलहाल चारों ओर से फेंसिंग करके घेर दिया गया है। इस जगह सेना ने करीब 500 मीटर के घेरे में तारदंबदी कर रखी है,लेकिन गांव वालों को किसी बात का अफसोस है तो वो है कि कहीं भी न तो इसकी विजयी गाथा के बारे में बताया गया है और न ही यहां पर कोई स्मारक का निमार्ण किया गया है। ताकि जिससे आने वाली पीढिय़ों को इस बात के बारे में रुबरु कराया जाए कि ये वहीं धरा है जिसने भारत का ही नहीं बल्कि बाकी देशों का भी मान सम्मान बढ़ाया है।

इंदिरा गाँधी के साथ फोटो खिंचवाते नरेंद्र मोदी की वायरल तस्वीर की असली सच्चाई आयी सामने !