BREAKING NEWS

कोरोना वायरस : आयुष मंत्रालय ने दी गर्म पानी पीने, योग करने, च्यवनप्राश खाने जैसी सलाह◾कोरोना वायरस से निपटने के लिए PM मोदी की माता जी ने दिए 25 हजार रुपये◾Covid-19 को लेकर प्रियंका का ट्वीट , कहा - कांग्रेस सरकारों का इंतजाम शानदार ◾गृह मंत्रालय का बयान - इस साल तबलीगी गतिविधियों के लिये 2100 विदेशी भारत आए◾कोविड-19 के देशभर मे फैलने की आशंका, निजामुद्दीन से जुड़े संदिग्ध मामलों की देशभर में तलाश शुरू◾ITBP के जवानों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए पीएम राहत कोष में दिया एक दिन का वेतन ◾सरकार ने विदेशी तब्लीगी कार्यकर्ताओं को पर्यटन वीजा देने पर लगाई रोक ◾Covid 19 का कहर जारी : देश में कोरोना के 227 नये मामले आये सामने, पिछले 24 घंटों में तीन और मौतें◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के 82 नए मामले आये सामने , मरीज़ों की तादाद 300 के पार◾निजामुद्दीन मुद्दे पर योगी सरकार एक्शन में ,तबलीगी जमात के 157 लोगों में से 95 प्रतिशत की हुई पहचान ◾तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में दी सहायता राशि, PM को पत्र लिख कर दिया समर्थन ◾कोरोना का कहर : यूपी में संक्रमितों की संख्या 100 के पार, नोएडा में सबसे अधिक पॉजिटिव मरीज◾कोरोना तबाही : दुनियाभर में सख्ती से लॉकडाउन लागू, मरने वालों का आंकड़ा 39 हजार के पार ◾निजामुद्दीन मरकज मामले में प्रबंधन के खिलाफ FIR दर्ज, जांच के लिए मामला अपराध शाखा को सौंपा गया ◾मरकज पर CM केजरीवाल ने दिखाई सख्ती, कहा- लापरवाही होने पर किसी को बख्शा नहीं जाएगा◾निजामुद्दीन मरकज मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- यह समय कमियां खोजने का नहीं बल्कि कार्रवाई करने का है◾कोरोना वायरस : मध्य प्रदेश में 17 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों की संख्या 64 हुई◾दिल्ली : मोहल्ला क्लिनिक के एक और डॉक्टर में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, प्रशासन ने चस्पा किए नोटिस◾प्रवासी मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को कमेटी बनाने का दिया निर्देश◾तबलीगी जमात के मरकज में शामिल होने वाले विदेशियों के वीजा में मंत्रालय ने पाई गड़बड़ियां◾

एएमयू के कुलपति तारिक मंसूर ने सरकार से सुरक्षा की मांग की

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है। एएमयू के सूत्रों ने रविवार को बताया कि 15 दिसम्बर को परिसर में हुए हंगामे के बाद घोषित छुट्टियों के बाद सोमवार को विश्वविद्यालय के दोबारा खुलने से पहले कुलपति ने गृह विभाग और पुलिस महानिदेशक को लिखे पत्र में कहा है कि उन्हें तथा उनके परिवार को कुछ निष्कासित छात्रों समेत बाहरी तत्वों से खतरा है, लिहाजा उन्हें सुरक्षा दी जाए। 

सूत्रों के मुताबिक हालांकि यह चिट्ठी गोपनीय थी लेकिन यह मीडिया में लीक हो गई है। इस बीच, कुलपति ने स्पष्ट किया है कि अगर विश्वविद्यालय के छात्र किसी कानून के खिलाफ शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। 

PM मोदी ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर केओपीटी का नामकरण किया, विपक्ष ने की आलोचना

उन्हें चिंता उन तत्वों को लेकर है जो छात्रों के बीच पहुंचकर गड़बड़ी करके शांतिपूर्ण आंदोलन को हिंसक बनाते हैं। एएमयू के प्रवक्ता शाफे किदवाई ने कहा कि कुलपति का इशारा बाहरी तत्वों की तरफ है, न कि छात्रों की तरफ, जिन्हें वह अपने बच्चे मानते हैं। 

इस बीच, एएमयू शिक्षक संघ के सचिव नजमुल हसन ने बताया कि संगठन ने एक प्रस्ताव पारित करके कुलपति से आग्रह किया है कि वह गत 15 दिसम्बर को परिसर में हुई हिंसा के सिलसिले में पुलिस द्वारा कथित तौर पर झूठे आरोपों में फंसाये गये छात्रों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लेने के लिये जरूरी कदम उठाएं। उन्होंने कहा कि शिक्षक संघ संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ छात्रों के प्रदर्शन को समर्थन देगा, बशर्ते वह शांतिपूर्ण तरीके से हो।