BREAKING NEWS

गोवा चुनाव : कांग्रेस के उम्मीदवारों की नयी सूची में भाजपा, आप के पूर्व नेताओं के नाम शामिल ◾PM मोदी के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा’ में भाग लेने की समय सीमा 27 जनवरी तक बढ़ाई गई ◾दिल्ली में घटे कोरोना टेस्ट के दाम, अब 500 की जगह इतने रुपये में करवा सकते हैं RT-PCR TEST ◾ इंडिया गेट पर बने अमर जवान ज्योति की मशाल अब हमेशा के लिए हो जाएगी बंद, जानिए क्या है पूरी खबर ◾IAS (कैडर) नियामवली में संशोधन पर केंद्र आगे नहीं बढ़े: ममता ने फिर प्रधानमंत्री से की अपील◾कल के मुकाबले कोरोना मामलों में आई कमी, 12306 केस के साथ 43 मौतों ने बढ़ाई चिंता◾बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾पंजाब: धुरी से चुनावी रण में हुंकार भरेंगे AAP के CM उम्मीदवार भगवंत मान, राघव चड्ढा ने किया ऐलान ◾पाकिस्तान में लाहौर के अनारकली इलाके में बम ब्लॉस्ट , 3 की मौत, 20 से ज्यादा घायल◾UP चुनाव: निर्भया मामले की वकील सीमा कुशवाहा हुईं BSP में शामिल, जानिए क्यों दे रही मायावती का साथ? ◾यूपी चुनावः जेवर से SP-RLD गठबंधन प्रत्याशी भड़ाना ने चुनाव लड़ने से इनकार किया◾SP से परिवारवाद के खात्मे के लिए अखिलेश ने व्यक्त किया BJP का आभार, साथ ही की बड़ी चुनावी घोषणाएं ◾Goa elections: उत्पल पर्रिकर को केजरीवाल ने AAP में शामिल होकर चुनाव लड़ने का दिया ऑफर ◾

दिवाली 2020 : अयोध्या में भव्य होगा इस साल का दीपोत्सव, तैयारी में जुटी योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बाद अब दीपावली पर दीपोत्सव का नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में है। पिछले साल अयोध्या में 5.51 लाख दीपक जलाकर एक नया रिकॉर्ड बनाया था। दिवाली की पूर्व संध्या पर आयोजित होने वाला वार्षिक 'दीपोत्सव' कार्यक्रम मौजूदा महामारी के कारण प्रभावित नहीं होगा। 

वहीं इस साल यह बड़े पैमाने पर आयोजित किया जाएगा। हालांकि इस बार आयोजन में जन भागीदारी कम होगी। चूंकि राम मंदिर निर्माण शुरू होने के बाद यह पहला दीपोत्सव है, ऐसे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि यह उत्सव पहले से कहीं अधिक भव्य हो। मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक में संस्कृति विभाग से 'दीपोत्सव' आयोजन पर एक विस्तृत प्रेजेंटेशन मांगी है। 

अधिकारी ने कहा, "मुख्यमंत्री चाहते हैं कि इस साल का दीपोत्सव यादगार बने। ऐसे में हम यह सुनिश्चित करेंगे कि दुनिया भर के लोग इस घटना को वर्चुअली देख सकें।" दीपोत्सव कार्यक्रम की शुरुआत साल 2017 में योगी आदित्यनाथ ने किया था। इस उत्सव में निवासियों और स्वयंसेवकों, भक्तों को एक साथ आकर रिकॉर्ड संख्या 1.76 लाख मिट्टी के दीप जलाते हुए देखा गया।

 पिछले साल अयोध्या ने 5.51 लाख दीप जलाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। इस आयोजन ने गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में जगह बनाई थी। इस साल, हालांकि, यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि जलाए जाने वाले दीपों की संख्या बढ़ाई जाएगी या नहीं। सूत्रों ने कहा कि राज्य का पर्यटन विभाग इस शहर को सुंदर तरीके से लाइटों से सजाना चाहता है। दीपोत्सव के दौरान शहर में एलईडी लाइटबॉक्स लगाई जाएंगी। 

ऐक्रिलिक शीट से बने बॉक्स एक नए तरीके से क्षेत्र को रोशन करेंगे। शहर की सड़कों पर रथ पर सवार 'राम दरबार' को दशार्ती एक आश्चर्यजनक लाइफ-साइज आकृति भी दिखाई देगी। वहीं सरयू नदी के तट पर राम की पैड़ी में राम दरबार की एक और आकृति स्थापित होगी। करीब 18 फीट ऊंची संरचना में नक्काशीदार खंभे और अन्य सजावटी तत्व शामिल किए जाएंगे। 

उत्तर प्रदेश सरकार पहले ही अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम को 'राज्य मेला' का दर्जा दे चुकी है। इसके स्टेटस में बदलाव के साथ अयोध्या के जिला मजिस्ट्रेट द्वारा अब मेले की योजना बनाई जाएगी। सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि यह महोत्सव पिछले साल 1.33 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर आयोजित किया गया था। 

चिदंबरम का केंद्र पर हमला: अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए लोगों के हाथ में पैसा पहुंचाना जरूरी