BREAKING NEWS

प्रधानमंत्री को पता था कि योगी कामचोरी वाले मुख्यमंत्री है इसलिए उन्हें पैदल चलने की सजा दी थी : अखिलेश यादव ◾PM मोदी ने 15 से 18 वर्ष आयु के 50 प्रतिशत से अधिक युवाओं को टीके की पहली खुराक लगाए जाने की सराहना की◾यूपी : जे पी नड्डा का बड़ा ऐलान, 'अपना दल' और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी भाजपा◾हरक सिंह की वापसी पर कांग्रेस में बढ़ी अंदरूनी कलह, बागी को ठहराया 'लोकतंत्र का हत्यारा', पूछे ये सवाल ◾समाजवादी पार्टी के नेताओं को भी पता है कि उनकी बेटियां एवं बहुएं भाजपा में सुरक्षित हैं : केन्द्रीय मंत्री ठाकुर ◾त्रिवेंद्र रावत ने चुनाव लड़ने से किया इंकार, नड्डा को लिखा पत्र, कहा- BJP की वापसी पर करना चाहता हूं फोकस ◾मुलायम परिवार में BJP की बड़ी सेंधमारी, अपर्णा यादव के बाद प्रमोद गुप्ता थामेंगे कमल, SP पर लगाए ये आरोप ◾PM मोदी, योगी और शाह समेत पार्टी के कई बड़े नेता BJP के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल, जानें पूरी लिस्ट ◾महाराष्ट्र: मुंबई में कोविड की स्थिति नियंत्रित, BMC ने हाईकोर्ट को कहा- घबराने की कोई बात नहीं◾राहुल गांधी ने साधा PM पर निशाना, बोले- LAC पर चीन द्वारा निर्मित पुल का उद्घाटन कहीं मोदी न कर दें ◾बाटला हाउस में मरे लोग आतंकी नहीं, तौकीर रजा ने किया कांग्रेस का समर्थन, राहुल-प्रियंका को बताया सेक्युलर ◾दिल्ली : त्रिलोकपुरी में संदिग्ध बैग से मिला लैपटॉप और चार्जर, कुछ देर के लिए मची अफरातफरी◾अखिलेश ने अपर्णा को BJP में शामिल होने पर दी बधाई, बोले- नेता जी ने की रोकने की बहुत कोशिश, लेकिन... ◾दिल्ली: संक्रमण दर में आई कमी, जैन बोले- पाबंदियां कम करने से पहले होगा कोरोना की स्थिति का आकलन ◾भारत में यूएई जैसे हमले की योजना बना रहा ISI, चीन से ड्रोन खरीद रहा पाकिस्तान◾मुलायम सिंह का आशीर्वाद लेकर BJP में शामिल हुई अपर्णा, बोलीं- परिवार से विमुख नहीं, मैं स्वतंत्र हूं... ◾अमित पालेकर होंगे आगामी गोवा विधानसभा चुनाव में AAP का CM फेस, अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान ◾भारत में 15 फरवरी तक चरम पर होगा ओमीक्रॉन, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने किया दावा- तीसरी लहर जल्द हो सकती है समाप्त◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस की CEC बैठक में 70 सीटों पर होगा फैसला, जल्द जारी होगी उम्मीदवारों की पहली लिस्ट ◾श्रीलंका के तमिल नेताओं ने PM मोदी को लिखा पत्र, 13वें संशोधन को लागू करने की मांग की, जानें पूरा मामला◾

एंजेला मर्केल की जगह जर्मनी के नए चांसलर बने ओलाफ शोल्ज, नई सरकार के समक्ष कई चुनौतियां

जर्मनी के इतिहास में आज का दिन काफी महत्वपूर्ण माना जाएगा, क्योंकि जर्मनी में सत्ता का परिवर्तन हो रहा है। जर्मनी की संसद ने द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद देश के नौवें चांसलर के तौर पर ओलाफ शोल्ज को निर्वाचित किया। इसके साथ ही एंजेला मर्केल के 16 साल के कार्यकाल के बाद यूरोपीय संघ के सबसे घनी आबादी वाले देश में एक नए युग की शुरुआत हो गयी है। 

नए चांसलर शोल्ज के सामने कई चुनौतियां 

शोल्ज सरकार जर्मनी के आधुनिकीकरण और जलवायु परिवर्तन से लड़ने की भारी उम्मीदों के बीच कार्यभार संभालने जा रही है लेकिन अभी उसके सामने देश में कोरोना वायरस महामारी से निपटने की चुनौती है। शोल्ज को बुधवार को 395 सांसदों का समर्थन मिला। उनके तीन दलों वाले गठबंधन के पास 736 सीट वाले संसद के निचले सदन में 416 सीटें हैं। जर्मनी के राष्ट्रपति चांसलर के तौर पर शोल्ज के नाम की औपचारिक घोषणा करेंगे और संसद के अध्यक्ष आज ही उन्हें शपथ दिलाएंगे। 

मर्केल ने संसद के मतदान करने के दौरान दर्शक दीर्घा से पूरी प्रक्रिया देखी 

अब संसद की सदस्य न रही मर्केल ने संसद के मतदान करने के दौरान दर्शक दीर्घा से पूरी प्रक्रिया देखी। संसद सत्र शुरू होने पर सांसदों ने खड़े होकर उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया। साल 2018 से जर्मनी के वाइस चांसलर और वित्त मंत्री रहे शोल्ज (63) सोशल डेमोक्रेट्स, पर्यावरण समर्थक ग्रीन्स और व्यापार समर्थक फ्री डेमोक्रेट्स गठबंधन में अनुभव और अनुशासन लेकर आए। तीनों दल अपने गठबंधन को प्रगतिशील गठबंधन के तौर पर दिखा रहे हैं जो मर्केल के लगभग रिकॉर्ड वक्त तक उच्च पद पर बने रहने के बाद देश में नयी ऊर्जा लेकर आएगा। 

देश के पहले CDS बिपिन रावत का कैसा रहा 42 साल लंबा सैन्य सफर, जानें उनके बारे में बेहद खास बातें

हम एक नए प्रस्थान का जोखिम उठा रहे हैं  

शोल्ज ने मंगलवार को कहा था, ‘‘हम एक नए प्रस्थान का जोखिम उठा रहे हैं जो इस दशक की और उससे भी आगे की प्रमुख चुनौतियों का सामना करता है।’’ नयी सरकार का उद्देश्य नवीनीकरण ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाकर और 2038 तक जर्मनी में कोयले के इस्तेमाल को खत्म करके जलवायु परिवर्तन के खिलाफ प्रयासों को तेज करना है। वह अपने खराब सेलफोन और इंटरनेट नेटवर्क में सुधार लाने समेत देश को और अधिक आधुनिक भी बनाना चाहती है। 

सरकार मजबूत यूरोपीय संघ के लिए खड़ी रहेगी  

उसकी मनोरंजक उद्देश्यों के लिए भांग की बिक्री को वैध करने और जर्मनी की नागरिकता हासिल करने की राह आसान करने समेत और अधिक उदार सामाजिक नीतियां लाने की भी योजना है। साथ ही उसने उन शरणार्थियों को उनके देश भेजने के लिए अधिक प्रयास करने का भी संकल्प जताया, जिन्हें शरण नहीं दी गयी है। गठबंधन के सहयोगी दल देश में राष्ट्रीय चुनाव में मतदान करने की योग्य आयु को 18 से 16 भी करना चाहते हैं। 

शोल्ज ने विदेश नीति बरकरार रखते का संकेत देते हुए कहा कि सरकार मजबूत यूरोपीय संघ के लिए खड़ी रहेगी और ट्रांस-अटलांटिक गठबंधन को सुदृढ़ करेगी। ग्रीन्स पार्टी के सह-नेता रॉबर्ट हाबेक वाइस चांसलर होंगे। सरकार में तीसरे नंबर वित्त मंत्री का पद क्रिश्चियन लिंडनर को दिया जाएगा जो फ्री डेमोक्रेट्स नेता हैं।